Babita Sharma
Babita Sharma Jan 11, 2018

षट्तिला एकादशी व्रत रखने से होता है पापों का नाश।जय श्री कृष्ण

षट्तिला एकादशी व्रत रखने से होता है पापों का नाश।जय श्री कृष्ण

षटतिला एकादशी: व्रत रखने से होता है पापों का नाश


हिंदू धर्म में माघ का महीना पवित्र माना जाता है। इस माह में कृष्ण पक्ष में आने वाली एकादशी को षट्तिला कहते हैं। षट्तिला एकादशी के दिन मनुष्य को भगवान विष्णु के निमित्त व्रत रखना चाहिए। पद्म पुराण के अनुसार, इस दिन उपवास करके तिलों से ही स्नान, दान, तर्पण और पूजा की जाती है। इस दिन तिल का इस्तेमाल स्नान, प्रसाद, भोजन, दान, तर्पण आदि सभी चीजों में किया जाता है। तिल के कई प्रकार के उपयोग के कारण ही इस दिन को षटतिला एकादशी कहते हैं।

भक्त शट तिल एकादशी पर धार्मिक उपवास रखते हैं और पूरे दिन खाते-पीते नहीं है। यदि आप पूरी तरह से व्रत रखने में सक्षम नहीं है तो आप आंशिक उपवास भी रख सकते है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सख्त उपवास नियमों की तुलना में भगवान से प्यार अधिक महत्वपूर्ण है। हालांकि कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो सभी को एकादशी के दिन नहीं खाना चाहिए जैसे की अनाज, चावल और दालें।

भगवान विष्णु शट तिला एकादशी के मुख्य देवता हैं। भगवान की मूर्ति को पंचमृत से स्नान कराया जाता है। जिसमें तिल के बीज निश्चित रूप से मिश्रित करने चाहिए। बाद में भगवान विष्णु को खुश करने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रसाद तैयार किये जाते हैं।

शट तिला एकादशी पर भक्त पूरी रात जागते रहते हैं और भगवान विष्णु की भक्ति करते हैं। कुछ स्थानों पर, भक्त इस सम्मानित दिन यज्ञ भी आयोजित करते हैं। इस व्रत के करने से अनेक प्रकार के पाप नष्ट हो जाते हैं।

+354 प्रतिक्रिया 47 कॉमेंट्स • 405 शेयर

कामेंट्स

Prakash Sharma Jan 12, 2018
बहुत बढ़िया जानकरी दी है आपने आपका धन्यवाद जय माता दी

Mani Rana Jan 12, 2018
radhe radhe g good morning g nice g

suman batham Jan 12, 2018
हैप्पी षट्तिला एकादशी, दीदी सुप्रभात

Brijmohan pachapandey Jan 12, 2018
Jayshree Mahakal ji good post thanks Didi.aapko.A.D.Vans.shubh.kamna.MAKAR.sakranty.ki. Jayshree Krishna ji Radhey Radhey ji

Prakash Sharma Jan 12, 2018
धन्यवाद जी जय श्री क्रुष्णा जय माता दी

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB