Om Namah Shivaya Dakhyshwar Maha Dev

Om Namah Shivaya  Dakhyshwar Maha Dev

+61 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर

कामेंट्स

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 141 शेयर
Archana Singh Aug 2, 2020

+329 प्रतिक्रिया 120 कॉमेंट्स • 380 शेयर
R N Agroya Aug 2, 2020

+15 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 89 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 50 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 33 शेयर
RAJKUMAR RATHOD Aug 3, 2020

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 🌺🌺💙💜💙💜🙏शुभ सोमवार जय भोलेनाथ 🙏 आपको तथा आपके परिवार को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ💙💜💙💜🌺🌺 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 रक्षा बंधन का त्यौहार हैं, हर तरफ खुशियों की बौछार है, बंधा एक धागे में, भाई बहिन का प्यार हैं…..!!!!!!!!!!! 🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻 अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिये हर बहन रक्षा बंधन के दिन का इंतजार करती है। श्रावण मास की पूर्णिमा को यह पर्व मनाया जाता है। इस पर्व को मनाने के पिछे कहानियां हैं। यदि इसकी शुरुआत के बारे में देखें तो यह भाई-बहन का त्यौहार नहीं बल्कि विजय प्राप्ति के किया गया रक्षा बंधन है। भविष्य पुराण के अनुसार जो कथा मिलती है वह इस प्रकार है। बहुत समय पहले की बाद है देवताओं और असुरों में युद्ध छिड़ा हुआ था लगातार 12 साल तक युद्ध चलता रहा और अंतत: असुरों ने देवताओं पर विजय प्राप्त कर देवराज इंद्र के सिंहासन सहित तीनों लोकों को जीत लिया। इसके बाद इंद्र देवताओं के गुरु, ग्रह बृहस्पति के पास के गये और सलाह मांगी। बृहस्पति ने इन्हें मंत्रोच्चारण के साथ रक्षा विधान करने को कहा। श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन गुरू बृहस्पति ने रक्षा विधान संस्कार आरंभ किया। इस रक्षा विधान के दौरान मंत्रोच्चारण से रक्षा पोटली को मजबूत किया गया। पूजा के बाद इस पोटली को देवराज इंद्र की पत्नी शचि जिन्हें इंद्राणी भी कहा जाता है ने इस रक्षा पोटली के देवराज इंद्र के दाहिने हाथ पर बांधा। इसकी ताकत से ही देवराज इंद्र असुरों को हराने और अपना खोया राज्य वापस पाने में कामयाब हुए।

+271 प्रतिक्रिया 53 कॉमेंट्स • 171 शेयर
monu master Aug 3, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB