🌹🌹 *बिखरने के तो लाख बहाने मिल जायेगे, आओ हम जुड़ने के अवसर ढूंढे.. यह जरूरी नही की हर शख्स मुझसे मिलकर खुश हो मगर मेरा प्रयास यह रहता है कि, मुझसे मिलकर कोई दुखी न हो* ! 🌹🌹

🌹🌹 

*बिखरने के तो लाख बहाने मिल जायेगे, आओ हम जुड़ने के अवसर ढूंढे.. यह जरूरी नही की हर शख्स मुझसे मिलकर खुश हो मगर मेरा प्रयास यह रहता है कि, मुझसे मिलकर कोई  दुखी न हो* !
🌹🌹

+308 प्रतिक्रिया 71 कॉमेंट्स • 234 शेयर

कामेंट्स

🌻🌹 Preeti Jain 🌹🌻 Feb 26, 2021
@jiwanjindal *अच्छे लोगों की🌹🙏✍️ परीक्षा कभी न लीजिए, क्योंकि वे पारे की तरह होते हैं,* *जब आप उन पर चोट करते हैं तो वे टूटते नहीं हैं, लेकिन फिसल कर चुपचाप आपकी जिंदगी से निकल जाते हैं।* 🙏💐🌹 Jai mata di mata rani ka Kirpa sada aap aur aap ke family pe bani rahe aap ka har pal Shubh aur mangalmay Ho shubh Prabhat ji Jai jinendra 🙏✍️✍️✍️✍️👌👌👌🌹🍵👈

🌻🌹 Preeti Jain 🌹🌻 Feb 26, 2021
*अच्छे लोगों की🌹🙏✍️ परीक्षा कभी न लीजिए, क्योंकि वे पारे की तरह होते हैं,* *जब आप उन पर चोट करते हैं तो वे टूटते नहीं हैं, लेकिन फिसल कर चुपचाप आपकी जिंदगी से निकल जाते हैं।* 🙏💐🌹 Jai mata di mata rani ka Kirpa sada aap aur aap ke family pe bani rahe aap ka har pal Shubh aur mangalmay Ho shubh Prabhat ji Jai jinendra 🙏✍️✍️✍️✍️👌👌👌🌹🍵👈

GOVIND CHOUHAN Feb 26, 2021
JAI SHREE RADHEY RADHEY JIII 🌺 JAI SHREE RADHEY KRISHNA JII 🌺 SUBH DOPHAR VANDAN JAI JINENDR JII DIDI 🙏🙏

Govind Singh Chauhan Feb 26, 2021
राधे राधे जय श्री कृष्णा जी 🙏🙏🙏🙏

r h Bhatt Feb 26, 2021
Jai Shri Radhe Krishna Shubh dophar ji Vandana ji Jai matage

Sunil Kumar Saini Feb 26, 2021
जय माता दी 👏 🌷 Good afternoon ji 🌺 🌺 Aapka har pal mangal ho 🌸 🌸 Radhe radhe ji... 🌹 🌹

Krishna Rai Feb 26, 2021
जय श्री राधे राधे जी शुभ संध्या जी आपका दिन मंगलमय हो 🙏🙏🙏

🔥SOM DUTT SHARMA🔥 Feb 26, 2021
🍧🍧🍧🍧🍧🍧🍧🍧 very very sweet good evening g 🍧🍧🍧🍧🍧🍧🍧🍧🍧

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Feb 26, 2021
Good Evening My Sweet Sister ji 🙏🙏 Jay Mata di 🙏🙏🌹💐🌹🌹Mata Rani 🙏🙏🌹🌷💐🌹🌹Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji Aap Hamesha Khush Rahe ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷.

Bhaskar Datta Tiwari Feb 26, 2021
जय श्री राधे कृष्ण जी शुभ संध्या वंदन जी 🌹

@nareshkumar Feb 26, 2021
श्री कृष्णाय नमः श्री कृष्णाय नमः

@nareshkumar Feb 26, 2021
प्रीति जी मेरे मन में ऐसा कुछ नहीं है

@nareshkumar Feb 26, 2021
जय श्री राधे राधे राधे जी प्रीति जी खुश रहे हमेशा

laltesh kumar sharma Feb 26, 2021
🍒⭐🌟🍒 jai shree radhe krishan ji 🍒⭐🌟🍒 jai mata di 🍒🌟⭐🍒🙏🙏

**( भगवान् क्यो आते हैं )** .ram ram ji ✍️✍️🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏 . एक बार अकबर ने बीरबल से पूछाः तुम्हारे भगवान और हमारे खुदा में बहुत फर्क है। . हमारा खुदा तो अपना पैगम्बर भेजता है जबकि तुम्हारा भगवान बार- बार आता है। यह क्या बात है ? . बीरबलः जहाँपनाह ! इस बात का कभी व्यवहारिक तौर पर अनुभव करवा दूँगा। आप जरा थोड़े दिनों की मोहलत दीजिए। . चार-पाँच दिन बीत गये। बीरबल ने एक आयोजन किया। . अकबर को यमुनाजी में नौका विहार कराने ले गये। कुछ नावों की व्यवस्था पहले से ही करवा दी थी। . उस समय यमुनाजी छिछली न थीं। उनमें अथाह जल था। . बीरबल ने एक युक्ति की कि जिस नाव में अकबर बैठा था, उसी नाव में एक दासी को अकबर के नवजात शिशु के साथ बैठा दिया गया। . सचमुच में वह नवजात शिशु नहीं था। मोम का बालक पुतला बनाकर उसे राजसी वस्त्र पहनाये गये थे ताकि वह अकबर का बेटा लगे। . दासी को सब कुछ सिखा दिया गया था। नाव जब बीच मझधार में पहुँची और हिलने लगी तब 'अरे.... रे... रे.... ओ.... ओ.....' कहकर दासी ने स्त्री चरित्र करके बच्चे को पानी में गिरा दिया और रोने बिलखने लगी। . अपने बालक को बचाने-खोजने के लिए अकबर धड़ाम से यमुना में कूद पड़ा। . खूब इधर-उधर गोते मारकर, बड़ी मुश्किल से उसने बच्चे को पानी में से निकाला। . वह बच्चा तो क्या था मोम का पुतला था। . अकबर कहने लगाः बीरबल ! यह सारी शरारत तुम्हारी है। तुमने मेरी बेइज्जती करवाने के लिए ही ऐसा किया। . बीरबलः जहाँपनाह ! आपकी बेइज्जती के लिए नहीं, बल्कि आपके प्रश्न का उत्तर देने के लिए ऐसा ही किया गया था। . आप इसे अपना शिशु समझकर नदी में कूद पड़े। उस समय आपको पता तो था ही इन सब नावों में कई तैराक बैठे थे, नाविक भी बैठे थे और हम भी तो थे ! . आपने हमको आदेश क्यों नहीं दिया ? हम कूदकर आपके बेटे की रक्षा करते ! . अकबरः बीरबल ! यदि अपना बेटा डूबता हो तो अपने मंत्रियों को या तैराकों को कहने की फुरसत कहाँ रहती है ? . खुद ही कूदा जाता है। . बीरबलः जैसे अपने बेटे की रक्षा के लिए आप खुद कूद पड़े, ऐसे ही हमारे भगवान जब अपने बालकों को संसार एवं संसार की मुसीबतों में डूबता हुआ देखते हैं तो वे पैगम्बर-वैगम्बर को नहीं भेजते, वरन् खुद ही प्रगट होते हैं। . वे अपने बेटों की रक्षा के लिए आप ही अवतार ग्रहण करते है और संसार को आनंद तथा प्रेम के प्रसाद से धन्य करते हैं।

+522 प्रतिक्रिया 155 कॉमेंट्स • 809 शेयर

‼️ *आवश्यक जानjकारी*‼️ आज मैं आपके साथ साझा करना चाहूंगा कि जैन समुदाय के नेता प्रमोदभाई मलकान के साथ क्या हुआ था। उनके बेटे को कोरोना पॉजिटिव था। ऑक्सीजन का स्तर (लेवल) 80-85 हो गया था। चिकित्सकीय सलाह के अनुसार अस्पताल में भर्ती करना जरुरी था। लेकिन घरेलू उपाय के जानकार प्रमोदभाई ने कपूर का एक क्यूब और एक चम्मच अजवायन को रूमाल में बांधकर 10 से 12 बार लंबी गहरी सूंघवाने की कोशिश करवाई। हर दो घँटे इसे शुरू करने से 24 घंटे के भीतर, ऑक्सीजन का स्तर 98-99 तक चला गया और हॉस्पिटल जाने की जंझट से बच गए। उनके एक दोस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने यह प्रयोग उन पर भी किया इससे भी अच्छा परिणाम मिला और उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई। यह जानकारी समाज के लिये बनाई गई है ताकि यह दूसरों के लिए उपयोगी हो। *कोरोना वायरस, आयुर्वेद को अपनाने वालों को डरने की जरूरत नहीं है। "* डॉ प्रयाग डाभी संजीवनी हेल्थकेयर, गुजरात सभी लोगों से अनुरोध है कि पिछले एक वर्ष से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप है, और कब तक रहेगा , यह पता नहीं। इसलिए आयुर्वेद इस बीमारी से बचने का एकमात्र तरीका है। ‼️कपूर 2 टिक्की अजवाइन 1 चम्मच लवंग 5 नग‼️ *👉इन सभी चीजों को मिलाएं, उन्हें एक सूती कपड़े की पोटली में बाँधें और अपनी जेब में रखें और दिन भर उसे सूँघते रहें।* 👏🏻 कृपया इस जानकारी को पूरे भारत में फैलाएं ताकि हर भारतीय कोरोनवायरस से संक्रमित न हो। 👏🏻 डॉ प्रयाग डाभी Mo.9909991653 संकलन विनय कुमार छिपानी 79996 25125 🙏🙏

+429 प्रतिक्रिया 120 कॉमेंट्स • 476 शेयर

*ये प्रेरणादायक कहानी जरुर पढ़े...* 👌 *एक बच्चा अपने पापा के साथ पिकनिक मनाने गया।* *गर्मियों की छुट्टियां थीं तो सोचा क्यों ना कुछ समय प्रकृति के नजदीक शांति में गुजारा जाये।* यही सोचकर उन्होंने कहीं पहाड़ों पे घूमने का प्लान बनाया। सामान पैक करके पिता और पुत्र दोनों पिकनिक के लिए निकल पड़े। पर्वतों का नजारा बहुत ही शानदार था चारों ओर खुला आसमान और हरियाली थी। बच्चा एक छोटी पहाड़ी पर चढ़ने का प्रयास करने लगा, जैसे ही वो थोड़ा आगे चढ़ा उसका पाँव थोड़ा फिसला और एक पथ्थर से उसके पैर में हल्की सी चोट लग गयी और मुँह से तेज आवाज निकली.... “आआह” अब उसकी ये आवाज गूंज की वजह से वापस उसे सुनाई पड़ी.... “आआह” बच्चे को बड़ा आश्चर्य हुआ कि ये कौन बोला? वो फिर से जोर से बोला... “कौन है?” फिर से आवाज गूंज कर वापस आई... “कौन है?” बच्चे ने उत्सुकतावश फिर चिल्लाया... “कौन हो तुम?” फिर आवाज वापस सुनाई दी... “कौन हो तुम?” बच्चे ने अपने पिता से इसके बारे में पूछा तो पिता ने बच्चे से सर पर प्यार से हाथ फेरा और जोर से चिल्लाये... “तुम कायर हो ?” फिर से आवाज सुनाई दी... “तुम कायर हो ?” पिता ने मुस्कुरा कर फिर जोर से बोला... “तुम साहसी हो तुम विजेता हो” आवाज वापस सुनाई दी... “तुम साहसी हो तुम विजेता हो” पिता ने बच्चे को समझाया कि ये आवाज तुम्हारी ही है जो पहाड़ो टकराकर तुमको वापस सुनाई दे रही है, यही जीवन है हम जो बोलते हैं, हम जो सोचते हैं वही हमें वापस मिलता है। इस आवाज की तरह ही हमारा भविष्य है, हमने जो आज किया वही हमको कल वापस मिलेगा। तुम दूसरों के प्रति मन में इज्जत रखोगे तो वही तुमको वापस मिलेगी। *तुम अगर मन में सोच लो कि तुम कायर हो, तुम कुछ नहीं कर सकते तो तुम वैसे ही बन जाओगे। तुम सोचोगे कि तुम विजेता हो तो तुम वैसे ही बन जाओगे।* *बच्चे की समझ में अब पूरी बात आ चुकी थी, उम्मीद है आप लोगों ने भी इस कहानी से शिक्षा ली होगी..!!* *🙏🏼🙏🏻🙏🏽जय जय श्री राधे*🙏🏾🙏🏿🙏

+551 प्रतिक्रिया 138 कॉमेंट्स • 542 शेयर
ramkumarverma Apr 10, 2021

+89 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 410 शेयर

+27 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 90 शेयर
Mamta Chauhan Apr 11, 2021

+337 प्रतिक्रिया 89 कॉमेंट्स • 726 शेयर

+153 प्रतिक्रिया 45 कॉमेंट्स • 77 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB