㊙️㊙️㊙️ Happy happy mothers day ㊙️㊙️㊙️🧁💘🧁 मातृ👩‍👧‍👦दिवस की👩‍👧‍👦शुभकामनाएं 🧁💘🧁🖌️🍁🖌️🍁🖌️🍁🍁🖌️🍁🖌️🍁🖌️🍁🖌️🖌️🖌️💐आज का दिन शुभ👩‍👧‍👦👩‍👧‍👦मंगलमय हो राधे राधे जी जय श्री कृष्णा की 👬💑👬दोस्ती यारी सदा बनी रहे जी💘💘💘💘💘💘💘💘:::'💘💘💘💘💘💘💘

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 8 शेयर

कामेंट्स

Shefali Sharma May 10, 2020
maa bahut mahaan hoti hai uske Bina hamara jeevan bakaar hai use badh ker dunia mein kuch nahi hota

Shefali Sharma May 10, 2020
good morning happy Sunday Jai Shri Krishna Raadhe Raadhe ji aaj ka din shubh ho have a nice day God bless you be safe forever

+1127 प्रतिक्रिया 161 कॉमेंट्स • 558 शेयर
Mamta Chauhan May 10, 2020

+179 प्रतिक्रिया 38 कॉमेंट्स • 83 शेयर

+22 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 78 शेयर
sanjay Awasthi May 10, 2020

+335 प्रतिक्रिया 36 कॉमेंट्स • 88 शेयर
RaM DeeWaNa May 10, 2020

+389 प्रतिक्रिया 54 कॉमेंट्स • 251 शेयर
Ragni Dhiwar May 10, 2020

*17 मई का इंतज़ार ना करें* सरकार एक निश्चित समय तक ही lockdown रख सकती है धीरे धीरे lockdown खत्म हो जाएगा सरकार भी इतनी सख्ती नहीं दिखाएगी क्योंकि *सरकार ने आपको कोरोना बीमारी के बारे में अवगत करा दिया है, सोशल डिस्टैंसिंग, हैण्ड सेनिटाइजेशन इत्यादि सब समझा दिया है* *बीमार होने के बाद की स्थिति भी आप लोग देश में देख ही रहे हैं* अब जो समझदार हैं वह आगे लंबे समय तक अपनी दिनचर्या, काम करने का तरीका समझ ले। *सरकार 24 घंटे 365 दिन आपकी चौकीदारी नहीं करेगी* *आपके एवं आपके परिवार का भविष्य आपके हाथ में है* Lockdown खुलने के बाद सोच समझ कर घर से निकलें एवं काम पर जायें... व नीयत नियमानुसार ही अपना कार्य करें l😊क्या लगता है आपको, 17 मई के बाद एकाएक कोरोना चला जायेगा, हम पहले की तरह जीवन जीने लगेंगे ? *नहीं, कदापि नहीं।* ये वायरस अब हमारे देश में जड़ें जमा चुका है, हमे इसके साथ रहना सीखना पड़ेगा। कैसे ? सरकार कब तक lockdown रखेगी ? कब तक बाहर निकलने में पाबंदी रहेगी ? हमे स्वयं इस वायरस से लड़ना पड़ेगा, अपनी जीवन शैली में बदलाव करके, अपनी इम्युनिटी स्ट्रांग करके। हमे सैकड़ों साल पुरानी जीवन शैली अपनानी पड़ेगी। शुद्ध आहार लें, शुद्ध मसाले खाएं। आंवला, एलोवेरा, गिलोय, काली मिर्च, लौंग आदि पर निर्भर हों, एन्टी बाइटिक्स के चंगुल से खुद को आज़ाद करें। अपने भोजन में पौष्टिक आहार की मात्रा बढ़ानी होगी, फ़ास्ट फ़ूड, पिज़्ज़ा, बर्गर, कोल्ड्रिंक भूल जाएं। अपने बर्तनों को बदलना होगा, एल्युमिनियम, स्टील आदि से हमें भारी बर्तन जैसे पीतल, कांसा, तांबा को अपनाना होगा जो प्राकृतिक रूप से वायरस की खत्म करते हैं। अपने आहार में दूध, दही, घी की मात्रा बढ़ानी होगी। भूल जाइए जीभ का स्वाद, तला-भुना मसालेदार, होटल वाला कचरा। कम से कम अगले 2 -3 साल तक तो ये करना ही पड़ेगा। तभी हम सरवाइव कर पाएंगे। जो नहीं बदले वो खत्म हो जाएंगे। इस बात को मान कर इन पर अमल करना शुरू कर दें। *बाकी*🤷🏻‍♂🤷🏻‍♂🤷🏻‍♂ *जिंदगी आपकी फैसला आपका

+138 प्रतिक्रिया 31 कॉमेंट्स • 74 शेयर
Sunita Pawar May 10, 2020

♻️♻️♻️♻️♻️♻️♻️♻️ *बनावटी मदर डे* ➖➖➖➖➖ 🔷 मदर्स डे का मतलब यह नहीं होता कि एक दिन माँ की सेवा कर ली, सेल्फी लेकर अपलोड कर दी और लाईक, कॉमेंट इकट्ठे करके लोगों में धाक जमा दी । 🔷 असली मातृ दिवस तो कभी होता ही नहीं है, वह तो सदैव रहता है । क्योंकि माँ का कर्ज तो हम कभी चुका ही नहीं सकते । इसके लिए कोई एक दिन तय करना माँ की ममता के लिए खिलवाड़ होगा । आज, सिर्फ आज जो लोग 'मदर्स डे' मना रहे हैं, शायद वे लोग बनावटी विदेशी परम्पराओं में अपनी संस्कृति को भूल गए हैं । 🔷 माँ की आँखों में खुशी है तो हर रोज मदर्स डे है और यदि आपकी वजह से माँ दुःखी है तो यह दिन सिर्फ एक 'दिखावा दिवस' है, इससे ज्यादा और कुछ नहीं । क्योंकि माँ को प्रेम करने वाले किसी 'मदर्स डे' के इंतज़ार के मोहताज नहीं होते । . . . .* ------------------------ ♻️♻️♻️♻️♻️♻️♻️♻️

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 15 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB