murlidhargoyal39
murlidhargoyal39 Aug 14, 2017

जन्माष्टमी विशेष:-४

जन्माष्टमी विशेष:-४

#कृष्णजन्माष्टमी
प्रथम दर्शन से ही प्रभु ने सभी का मन अपनी ओर खींच लिया। एक
गोपी ने यशोदाजी से कहा–मां ! आज जो मैं माँगूं वह आप दें। यशोदाजी ने कहा–मांग लो, तुम जो मांगोगी, वह मैं दूंगी। गोपी ने कहा–मां, दो मिनट के लिए लाला को मेरी गोद में दीजिए। यशोदाजी ने गोपी की गोद में लाला को दे दिया। हजारों वर्षों से जीव ईश्वर से बिछड़ गया था, वह आज मिला है। जीव और परमात्मा का मिलन हुआ है। गोपी ने अति आनंद में अपनी देह का होश गंवा दिया है। वह कहती है–आज तक नंद-यशोदा हमें आनंद देते थे, आज परमानंद उनके घर आया है। आज गोपी के हाथ में लक्ष्मीपति आए हैं। अति आनंद में गोपी नाचती-गाती है–
नंद घर आनंद भयौ, जय कन्हैयालाल की।
हाथी, घोड़ा पालकी, जय कन्हैयालाल की।।
जहाँ मधुर रागात्मिका प्रीति है, वहीं असीमित आनन्द-समूह उमड़ता है। नन्दालय में वही समुद्र उमड़ा।

इसलिए समस्त व्रजवासी हर्षित होकर उद्घोष कर रहे हैं–‘नंद घर आनन्द भयौ जय कन्हैयालाल की’

+559 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 381 शेयर

कामेंट्स

Naresh Tiwari Aug 15, 2017
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB