मायमंदिर फ़्री कुंडली
डाउनलोड करें
Vijay Yadav
Vijay Yadav Jul 11, 2019

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Ajanta electric bike Jul 18, 2019

+41 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 31 शेयर
Vikash Srivastava Jul 18, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 19 शेयर
devilakshmi Jul 18, 2019

+15 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Omprakash Upadhyay Jul 18, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
A. T. Thakrar Jul 18, 2019

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Omprakash Upadhyay Jul 18, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Jay Shree Krishna Jul 17, 2019

+54 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 18 शेयर
shatrudhan kumar Jul 18, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
d.sharma Jul 18, 2019

प्रेम_दूरी_बर्दाश्त_नही_करता प्रेम करोगे तो विरह झेलोगे ही , क्योंकि जिसे चाहोगे जब चाहोगे तभी न मिल जाएगा। और जितना चाहोगे उतना निष्ठुर मालूम होगा क्योंकि जितना माँगोगे , उतना ही पाओगे तो लगेगा दूरी अभी और शेष है .. प्रेम दूरी बर्दाश्त नहीं करता इंच भर दूरी बर्दाश्त नहीं करता। प्रेम द्वैत बर्दाश्त नहीं करता। और जब तक द्वैत रहता है तब तक विरह रहता है। प्रेम तो अद्वैत चाहता है। प्रेम तो चाहता है एक हो जाऊँ बिल्कुल एक हो जाऊँ .. इस संसार में प्रेम की अगर कोई भूल है तो बस इतनी ही है कि इस संसार का कोई भी प्रेम अद्वैत का अनुभव नहीं देता। और देता भी है तो क्षणभंगुर को जरा सी देर को एक झलक झलक आई और गई। और झलक जाने के बाद और भी अंधेरा रह जाता है और भी गड्ढे में गिर जाते हो, और भी विषाद घना हो जाता है ,, मैं तो तुमसे कहता हूँ इस जगत के प्रेम को जानो ताकि द्वैत छाती में चुभ जाए कटार की भाँति , तभी तो तुम अद्वैत की तरफ चलोगे। तभी तो तुम उस परम प्यारे को खोजोगे जिसके साथ मिलन एक बार हुआ तो हुआ। जिसके साथ मिलन होने के बाद फिर कोई बिछुड़न नहीं होती ..........d.sharma प्रेम_पंथ_ऐसो_कठिन

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
puja verma Jul 18, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB