(: तीन नदियों के संगम पर बना यह मंदिर इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना है। कितनी भी बाढ़ आए इसे कभी नुकसान नहीं होता। ) भगवान राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ के कई स्थानों पर रहे। शबरी के झूठे बेर यहीं खाए तो दंडकारण्य में कई राक्षसों का वध भी किया। इसी छत्तीसगढ़ में एक ऐसा स्थान भी है जहां कि माता सीता ने भगवान शंकर की आराधना की थी। इसके लिए उन्होंने नदी के बीचों—बीच एक रेत का शिवलिंग बनाया था। यह स्थान आज भी मौजूद है। राजिम में महानदी के किनारे कुलेश्वर महादेव का मंदिर तीन नदियों के संगम में होने के बावजूद आज भी उसी रूप में खड़ा है।यहां पर कितनी ही बार बाढ़ आ चुकी है, लेकिन मंदिर जस का तस खड़ा है।  छत्तीसगढ़ के राजिम के त्रिवेणी संगम के बीच में वर्षों से टिका कुलेश्वर महादेव मंदिर स्थापत्य का बेजोड़ नमूना होने के साथ-साथ प्राचीन भवन निर्माण तकनीक का जीवंत उदाहरण है। तीन नदियों के संगम के कारण राजिम को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाता है। यहां पर कुंभ की तरह हर साल एक मेला भी आयोजित किया जाता है।  राजिम में पैरी, सोंढूर और महानदी नदियों का संगम है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से मात्र 45 किलोमीटर दूर स्थित राजिम में नदी पर बना पुल 40 साल भी नहीं टिक पाया, जबकि वहां आठवीं सदी का कुलेश्वर महादेव मंदिर आज भी खड़ा है। खुद विश्वकर्मा ने बनाया राजीव लोचन मंदिर  मंदिर में स्थित शिवलिंग के दर्शन करने देशभर के लोग यहां पहुंचते हैं। राजिम में नदी के एक किनारे पर भगवान राजीवलोचन का मंदिर है और बीच में कुलेश्वर महादेव का। यहां स्थित राजीव लोचन मंदिर के बारे में भी यह माना जाता है कि इसे भगवान विश्वकर्मा ने खुद बनाया था

(: तीन नदियों के संगम पर बना यह मंदिर इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना है। कितनी भी बाढ़ आए इसे कभी नुकसान नहीं होता। ) भगवान राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ के कई स्थानों पर रहे। शबरी के झूठे बेर यहीं खाए तो दंडकारण्य में कई राक्षसों का वध भी किया। इसी छत्तीसगढ़ में एक ऐसा स्थान भी है जहां कि माता सीता ने भगवान शंकर की आराधना की थी। इसके लिए उन्होंने नदी के बीचों—बीच एक रेत का शिवलिंग बनाया था। यह स्थान आज भी मौजूद है। राजिम में महानदी के किनारे कुलेश्वर महादेव का मंदिर तीन नदियों के संगम में होने के बावजूद आज भी उसी रूप में खड़ा है।यहां पर कितनी ही बार बाढ़ आ चुकी है, लेकिन मंदिर जस का तस खड़ा है। 
छत्तीसगढ़ के राजिम के त्रिवेणी संगम के बीच में वर्षों से टिका कुलेश्वर महादेव मंदिर स्थापत्य का बेजोड़ नमूना होने के साथ-साथ प्राचीन भवन निर्माण तकनीक का जीवंत उदाहरण है। तीन नदियों के संगम के कारण राजिम को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाता है। यहां पर कुंभ की तरह हर साल एक मेला भी आयोजित किया जाता है। 
राजिम में पैरी, सोंढूर और महानदी नदियों का संगम है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से मात्र 45 किलोमीटर दूर स्थित राजिम में नदी पर बना पुल 40 साल भी नहीं टिक पाया, जबकि वहां आठवीं सदी का कुलेश्वर महादेव मंदिर आज भी खड़ा है। खुद विश्वकर्मा ने बनाया राजीव लोचन मंदिर 
मंदिर में स्थित शिवलिंग के दर्शन करने देशभर के लोग यहां पहुंचते हैं। राजिम में नदी के एक किनारे पर भगवान राजीवलोचन का मंदिर है और बीच में कुलेश्वर महादेव का। यहां स्थित राजीव लोचन मंदिर के बारे में भी यह माना जाता है कि इसे भगवान विश्वकर्मा ने खुद बनाया था
(: तीन नदियों के संगम पर बना यह मंदिर इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना है। कितनी भी बाढ़ आए इसे कभी नुकसान नहीं होता। ) भगवान राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ के कई स्थानों पर रहे। शबरी के झूठे बेर यहीं खाए तो दंडकारण्य में कई राक्षसों का वध भी किया। इसी छत्तीसगढ़ में एक ऐसा स्थान भी है जहां कि माता सीता ने भगवान शंकर की आराधना की थी। इसके लिए उन्होंने नदी के बीचों—बीच एक रेत का शिवलिंग बनाया था। यह स्थान आज भी मौजूद है। राजिम में महानदी के किनारे कुलेश्वर महादेव का मंदिर तीन नदियों के संगम में होने के बावजूद आज भी उसी रूप में खड़ा है।यहां पर कितनी ही बार बाढ़ आ चुकी है, लेकिन मंदिर जस का तस खड़ा है। 
छत्तीसगढ़ के राजिम के त्रिवेणी संगम के बीच में वर्षों से टिका कुलेश्वर महादेव मंदिर स्थापत्य का बेजोड़ नमूना होने के साथ-साथ प्राचीन भवन निर्माण तकनीक का जीवंत उदाहरण है। तीन नदियों के संगम के कारण राजिम को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाता है। यहां पर कुंभ की तरह हर साल एक मेला भी आयोजित किया जाता है। 
राजिम में पैरी, सोंढूर और महानदी नदियों का संगम है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से मात्र 45 किलोमीटर दूर स्थित राजिम में नदी पर बना पुल 40 साल भी नहीं टिक पाया, जबकि वहां आठवीं सदी का कुलेश्वर महादेव मंदिर आज भी खड़ा है। खुद विश्वकर्मा ने बनाया राजीव लोचन मंदिर 
मंदिर में स्थित शिवलिंग के दर्शन करने देशभर के लोग यहां पहुंचते हैं। राजिम में नदी के एक किनारे पर भगवान राजीवलोचन का मंदिर है और बीच में कुलेश्वर महादेव का। यहां स्थित राजीव लोचन मंदिर के बारे में भी यह माना जाता है कि इसे भगवान विश्वकर्मा ने खुद बनाया था

+252 प्रतिक्रिया 68 कॉमेंट्स • 65 शेयर

कामेंट्स

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@anjanagupta4 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@preetijain1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@anitamittal1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@भक्तिवंदना जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@rakesh123 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@anitamittal1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@supriyashet जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@kanwar जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@seeta जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@sangeetalal जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@ashabudhiraja जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@shreeradhe जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@sunilkumarsharma48 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@preetijain1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@brajeshsharma1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@sujatha जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@drseemasoni जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@srimeghrajchetry जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@kalpanabist1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

Rajesh🌹R🌹 Agrawal Aug 10, 2019
@brajeshsharma1 जय माता दी,माँ की मेहर आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे,मेरी माता रानी आपकी हर मनोकामना पुरी करे,🕉 नमः शिवाय हर हर महादेव जी,🙏🌹

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB