गढवाली संस्कृति (उत्तराखंड) की इस चलचित्रण में पाँड़व नृत्य परंपरिक संस्कृत नृत्य किया जा रहा है .जो

गढवाली संस्कृति (उत्तराखंड) की इस चलचित्रण में पाँड़व नृत्य परंपरिक संस्कृत नृत्य किया जा रहा है .जो गढवाल के हर गाँव का रिवाज है .जब पान्डव स्वर्ग रोहण पर गए तो अपने अस्त्र-शस्त्र यहाँ के आदिवासी को विरासत धरोवर रुप में सरक्षण के लिए दिए गए थे.मेरे यहाँ भी पूर्वजन्म आधारित सिद्धांत को मानता है .उन प्राचीन आत्माओं की आज भी पूजा प्रचलन में है .

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+14 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+34 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+32 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Annu pandey Mar 31, 2020

+12 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Babli Singh Mar 31, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB