🌹🌹कथा श्री सतिदाक्षायणी की🌹🌹

🌹🌹कथा श्री सतिदाक्षायणी की🌹🌹

हमारे गांव श्री सिद्धेश्वर मे श्री सतिदाक्षायणी (शिव सती) की दो हजार साल पुरानी मूर्ति विधमान है। शिव पुराण के अनुसार ब्रह्मा जी के पुत्र प्रजापति दक्ष हुए है।सती दक्ष प्रजापति की पुत्री थी उसका विवाह भगवान शिव के साथ हुआ था एक समय की बात है एक जगह एक देवताओं कि सभा चल रही थी तभी वहां पर दक्ष प्रजापति पहुंचे।भगवान शिव को छोड़कर सभी अपने अपने स्थान पर खड़े हो गए दक्ष प्रजापति ने अपने दामाद को खड़ा न होने पर अपना अपमान समझा ।अपने घर जा कर उन्होंने एक बड़े यज्ञ का आयोजन किया उसमे भगवान शिव को छोड़कर सभी देवताओं आमन्त्रित किया जब सती को पता चला तो वह अपने पिता घर जाने कि जिद्द करने लगीं शिव के मना करने पर न मानी तब भगवान शिव ने अपने गणों के साथ भेज दिया पिता के घर पहुंच कर देखा तो सब देवताओं के आसन है। लेकिन भगवान शिव का आसन नहीं देख सती क्रोधीत हो गई जब पिता दक्षने शिव को अपशब्द कहे तब सती ने अपने शरीर को यज्ञकुण्ड प्रवाहित कर दिया।

+481 प्रतिक्रिया 53 कॉमेंट्स • 296 शेयर

कामेंट्स

Ajnabi Dec 3, 2017
very nice jay shree Radhe krishna veeruda

Vatan Kumar Dec 4, 2017
aapke is mandir ka pura pta likhe ....taaki hum bhi darshan ke liye aa sake

vagaram malviya patel Dec 4, 2017
@vatan.kumar श्री सतिदाक्षायणी माता जी मंदिर सिद्धेश्वर तहसील सांचोर जिला जालौर राजस्थान 343041🙏धन्यवाद🙏जय माता दी।

Hansha Joshi Dec 4, 2017
Hamri kuldevi hai ma stidakshayani Shanchora Brahman ki 🙏 Jai Mata ki

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
ram moorat ji Apr 19, 2019

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sunil Sharma Apr 19, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
PRAMIL KUMAR SHARMA Apr 18, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
ASHOKKUMARAGARWAL Apr 18, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
PRAMIL KUMAR SHARMA Apr 18, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB