lndu  Malhotra
lndu Malhotra May 9, 2020

Jai Ram SiaRamji Hanuman JAi JAIJAI RAM RAM Hre Hre Rama Hre Hre

+17 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर

कामेंट्स

lndu Malhotra May 9, 2020
Hanumanji Anjaniputar Vauputar Mahabali Ramest Pingakash Amitvikram Udatikaraman Sitasokvinashnam Lakshamanpradata Dasgripdarpaha Fagunsakha BajrangBali Jaijai Jai Jaijai Jai Jaijai Jai Jaijai Jai Jaijai Jai Jaijai

Aryan Naresh May 9, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Subhash Singh May 9, 2020

+269 प्रतिक्रिया 68 कॉमेंट्स • 85 शेयर
Satish Bhargava May 9, 2020

+32 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Ajay Awasthi May 10, 2020

*🕉️||जय श्री राम||🕉️* *🕉️।।अथ पंचांगम्।।🕉️* *🕉️।।दिनाँक -: 11/05/2020,सोमवार।।🕉️* चतुर्थी, कृष्ण पक्ष ज्येष्ठ (समाप्ति काल) तिथि ----------चतुर्थी 06:34:42 तक पक्ष ---------------------------कृष्ण नक्षत्र -------पूर्वाषाढा 28:08:59 योग -------------साघ्य 26:39:37 करण ----------बालव 06:34:42 करण ---------कौलव 18:07:42 वार -------------------------सोमवार माह --------------------------वैशाख माह ----------------------------ज्येष्ठ चन्द्र राशि ----------------------धनु सूर्य राशि ----------------------- मेष रितु --------------------ग्रीष्म सायन --------------------------ग्रीष्म आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर (उत्तर) ------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 शाका संवत ----------------1942 सूर्योदय -----------------05:33:53 सूर्यास्त -----------------18:57:35 दिन काल ---------------13:23:42 रात्री काल -------------10:35:40 चंद्रास्त -----------------08:52:10 चंद्रोदय -----------------23:12:02 लग्न ---- मेष 26°38' , 26°38' सूर्य नक्षत्र -------------------भरणी चन्द्र नक्षत्र ----------------पूर्वाषाढा नक्षत्र पाया ------------------- ताम्र *।।पद, चरण।।* भू ----पूर्वाषाढा 10:06:59 धा ----पूर्वाषाढा 16:04:41 फा ----पूर्वाषाढा 22:05:20 ढा ----पूर्वाषाढा 28:08:59 *।।ग्रह गोचर।।* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद सूर्य=मेष 26°22 ' भरणी, 4 लो चन्द्र =धनु 14°23 ' पू oषा o ' 1 भू बुध = वृषभ 03°10 ' कृतिका ' 3 उ शुक्र= वृषभ 27°55, मृगशिरा ' 2 वो मंगल=कुम्भ 04°30' धनिष्ठा ' 4 गे गुरु=मकर 03°00 ' उ oषाo , 2 भो शनि=मकर 07°43' उ oषा o ' 4 जी राहू=मिथुन 07°20 ' आर्द्रा , 1 कु केतु=धनु 07 ° 20 ' मूल , 3 भा *।।शुभाशुभ मुहूर्त।।* राहू काल 07:14 - 08:55 अशुभ यम घंटा 10:35 - 12:16 अशुभ गुली काल 13:56 - 15:37 अशुभ अभिजित 11:49 -12:43 शुभ दूर मुहूर्त 12:43 - 13:36 अशुभ दूर मुहूर्त 15:23 - 16:17 अशुभ 💮चोघडिया, दिन अमृत 05:34 - 07:14 शुभ काल 07:14 - 08:55 अशुभ शुभ 08:55 - 10:35 शुभ रोग 10:35 - 12:16 अशुभ उद्वेग 12:16 - 13:56 अशुभ चर 13:56 - 15:37 शुभ लाभ 15:37 - 17:17 शुभ अमृत 17:17 - 18:58 शुभ 🚩चोघडिया, रात चर 18:58 - 20:17 शुभ रोग 20:17 - 21:37 अशुभ काल 21:37 - 22:56 अशुभ लाभ 22:56 - 24:15* शुभ उद्वेग 24:15* - 25:35* अशुभ शुभ 25:35* - 26:54* शुभ अमृत 26:54* - 28:14* शुभ चर 28:14* - 29:33* शुभ 💮होरा, दिन चन्द्र 05:34 - 06:41 शनि 06:41 - 07:48 बृहस्पति 07:48 - 08:55 मंगल 08:55 - 10:02 सूर्य 10:02 - 11:09 शुक्र 11:09 - 12:16 बुध 12:16 - 13:23 चन्द्र 13:23 - 14:30 शनि 14:30 - 15:37 बृहस्पति 15:37 - 16:44 मंगल 16:44 - 17:51 सूर्य 17:51 - 18:58 🚩होरा, रात शुक्र 18:58 - 19:51 बुध 19:51 - 20:44 चन्द्र 20:44 - 21:37 शनि 21:37 - 22:29 बृहस्पति 22:29 - 23:22 मंगल 23:22 - 24:15 सूर्य 24:15* - 25:08 शुक्र 25:08* - 26:01 बुध 26:01* - 26:54 चन्द्र 26:54* - 27:47 शनि 27:47* - 28:40 बृहस्पति 28:40* - 29:33 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *।।अग्नि वास ज्ञान।।* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 15 + 4 + 2 + 1 = 22 ÷ 4 = 2 शेष आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *।।शिव वास एवं फल।।* 19 + 19 + 5 = 43 ÷ 7 = 1 शेष कैलाश वास = शुभ कारक *।।भद्रा वास एवं फल।।* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *।।विशेष जानकारी।।* * राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस *।।शुभ विचार।।* दुतो न सञ्चरति खे न चलेच्च वार्ता । पुर्व न जल्पितमिदं न च सड्गमोऽस्ति । व्योम्नि स्थितं रविशाशग्रहणं प्रशस्तं जानाति यो द्विजवरः सकथं न विद्वान् ।। ।।चा o नी o।। कोई संदेशवाहक आकाश में जा नहीं सकता और आकाश से कोई खबर आ नहीं सकती. वहा रहने वाले लोगो की आवाज सुनाई नहीं देती. और उनके साथ कोई संपर्क नहीं हो सकता. इसीलिए वह ब्राह्मण जो सूर्य और चन्द्र ग्रहण की भविष्य वाणी करता है, उसे विद्वान मानना चाहिए. *।।सुभाषितानि।।* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 अनेकवक्त्रनयनमनेकाद्भुतदर्शनम्‌ ।, अनेकदिव्याभरणं दिव्यानेकोद्यतायुधम्‌ ॥, दिव्यमाल्याम्बरधरं दिव्यगन्धानुलेपनम्‌ ।, सर्वाश्चर्यमयं देवमनन्तं विश्वतोमुखम्‌ ॥, अनेक मुख और नेत्रों से युक्त, अनेक अद्भुत दर्शनों वाले, बहुत से दिव्य भूषणों से युक्त और बहुत से दिव्य शस्त्रों को धारण किए हुए और दिव्य गंध का सारे शरीर में लेप किए हुए, सब प्रकार के आश्चर्यों से युक्त, सीमारहित और सब ओर मुख किए हुए विराट्स्वरूप परमदेव परमेश्वर को अर्जुन ने देखा॥ *।।दैनिक राशिफल।।* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष किसी बड़ी समस्या का हल मिलेगा। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। लॉटरी व सट्टे आदि से दूर रहें। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जोखिम न लें। 🐂वृष भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। बोलचाल में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। बात बिगड़ सकती है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। थकान महसूस होगी। लेन-देन में सावधानी रखें। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। लाभ होगा। 👫मिथुन पुराना रोग उभर सकता है। बेचैनी रहेगी। कोई बड़ी मुसीबत आ सकती है। मेहनत का फल मिलेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। घर-बाहर उत्साह तथा प्रसन्नता रहेंगे। बुरी खबर मिल सकती है। 🦀कर्क वस्तुएं संभालकर रखें। शारीरिक पीड़ा हो सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है, धैर्य रखें। विवाद से स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। कार्य में मन नहीं लगेगा। विरोधी सक्रिय रहेंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। 🐅सिंह शारीरिक कष्ट संभव है। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर मिलेगा। मनपसंद भोजन का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🙎कन्या व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। कानूनी अड़चन सामने आएगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। दांपत्य जीवन ठीक चलेगा। भागदौड़ रहेगी। भूमि व भवन संबंधी खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। आंखों में कष्ट संभव है। बेरोजगारी दूर होगी। प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें। ⚖तुला दांपत्य जीवन सुखमय रहेगा। राजकीय बाधा दूर होगी। किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति का सहयोग प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। परिवार में मांगलिक कार्य हो सकता है। दूसरों के कार्य में दखल न दें। नए काम प्राप्त हो सकते हैं। जल्दबाजी न करें। 🦂वृश्चिक शत्रु शांत रहेंगे। कुसंगति से बचें। लोगों की बातों में न आएं। वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में सावधानी रखें। बाहरी लोगों का व्यवहार रूखा रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। अपेक्षित कार्यों की पूर्णता में विलंब होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। 🏹धनु धार्मिक कृत्यों में मन लगेगा। साधु-संतों का आशीर्वाद मिल सकता है। कानूनी अड़चन दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। घर में तनाव रह सकता है। चोट व रोग से बाधा संभव है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे, सावधान रहें। शुभ समय देख कर काम करें। 🐊मकर आय वृद्धि के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। बाहर जाने का मन बन सकता है। बिगड़े कार्य बनेंगे। कोई बड़ी इच्छा की पूर्ति के लिए उपयुक्त समय है। विरोध होगा। चिंता रहेगी। 🍯कुंभ बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। आय में वृद्धि होगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। शत्रुभय रहेगा। परिवार की चिंता रहेगी। चोट व रोग से बचें। नए उपक्रम प्रारंभ करने की योजना बनेगी। समय पर कर्ज चुका पाएंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🐟मीन फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। किसी अपने द्वारा अपमान हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। शत्रुभय रहेगा। जीवनसाथी की चिंता रहेगी। बेचैनी रहेगी। संपत्ति की खरीदी की योजना बनेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभार्जन होगा। जोखिम न उठाएं। *🕉️।।जय माता दी।।🕉️* *🕉️।।आपका दिन मंगलमय हो।।🕉️*

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
sintu kasana May 9, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Rakesh May 9, 2020

+5 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Balaji Mandir May 9, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB