Smt Neelam Sharma
Smt Neelam Sharma Jan 20, 2021

*⚛️ सुख - दुःख का रहस्य ⚛️* ------------------------------- एक बार माता पार्वती ने भगवान शिव से कहा की प्रभु मैंने पृथ्वी पर देखा है कि जो व्यक्ति पहले से ही दुःखी है आप उसे और ज्यादा दुःख प्रदान करते हैं और जो सुख में है आप उसे दुःख नहीं देते है। भगवान ने इस बात को समझाने के लिए माता पार्वती को धरती पर चलने के लिए कहा और दोनों ने इंसानी रूप में पति-पत्नी का रूप लिया और एक गांव के पास डेरा जमाया। शाम के समय भगवान ने माता पार्वती से कहा की हम मनुष्य रूप में यहां आए है इसलिए यहां के नियमों का पालन करते हुए हमें यहां भोजन करना होगा। इसलिए मैं भोजन कि सामग्री की व्यवस्था करता हूं, तब तक तुम भोजन बनाओ। भगवान के जाते ही माता पार्वती रसोई में चूल्हे को बनाने के लिए बाहर से ईंटें लेने गईं और गांव में कुछ जर्जर हो चुके मकानों से ईंटें लाकर, चूल्हा तैयार कर दिया। चूल्हा तैयार होते ही भगवान वहां पर बिना कुछ लाए ही प्रकट हो गए। माता पार्वती ने उनसे कहा आप तो कुछ लेकर नहीं आए, भोजन कैसे बनेगा। भगवान बोले - पार्वती अब तुम्हें इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। भगवान ने माता पार्वती से पूछा की तुम चूल्हा बनाने के लिए इन ईटों को कहां से लेकर आई तो माता पार्वती ने कहा - प्रभु इस गावं में बहुत से ऐसे घर भी हैं जिनका रख रखाव सही ढंग से नहीं हो रहा है। उनकी जर्जर हो चुकी दीवारों से मैं ईंटें निकाल कर ले आई। भगवान ने फिर कहा - जो घर पहले से ख़राब थे तुमने उन्हें और खराब कर दिया। तुम ईंटें उन सही घरों की दीवार से भी तो ला सकती थीं। माता पार्वती बोली - प्रभु उन घरों में रहने वाले लोगों ने उनका रख रखाव बहुत सही तरीके से किया है और वो घर सुंदर भी लग रहे हैं ऐसे में उनकी सुंदरता को बिगाड़ना उचित नहीं होता। भगवान बोले - पार्वती यही तुम्हारे द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर है। जिन राधे जी #लोगो ने अपने घर का रख रखाव अच्छी तरह से किया है यानि सही कर्मों से अपने जीवन को सुंदर बना रखा है उन लोगों को दुःख कैसे हो सकता है। मनुष्य के जीवन में जो भी सुखी है वो अपने कर्मों के द्वारा सुखी है, और जो दुखी है वो अपने कर्मों के द्वारा दुखी है। इसलिए हर एक मनुष्य को अपने जीवन में ऐसे ही कर्म करने चाहिए की, जिससे इतनी मजबूत व खूबसूरत इमारत खड़ी हो कि कभी भी कोई भी उसकी एक ईंट भी निकालने न पड़े ./. *🌹🌺हर हर महादेव जी 🌺🌹जय भोले नाथ की* 🌻🌺🌹

*⚛️ सुख - दुःख का रहस्य ⚛️*
-------------------------------
एक बार माता पार्वती ने भगवान शिव से कहा की प्रभु मैंने पृथ्वी पर देखा है कि जो व्यक्ति पहले से ही दुःखी है आप उसे और ज्यादा दुःख प्रदान करते हैं और जो सुख में है आप उसे दुःख नहीं देते है। भगवान ने इस बात को समझाने के लिए माता पार्वती को धरती पर चलने के लिए कहा और दोनों ने इंसानी रूप में पति-पत्नी का रूप लिया और एक गांव के पास डेरा जमाया। शाम के समय भगवान ने माता पार्वती से कहा की हम मनुष्य रूप में यहां आए है इसलिए यहां के नियमों का पालन करते हुए हमें यहां भोजन करना होगा। इसलिए मैं भोजन कि सामग्री की व्यवस्था करता हूं, तब तक तुम भोजन बनाओ। भगवान के जाते ही माता पार्वती रसोई में चूल्हे को बनाने के लिए बाहर से ईंटें लेने गईं और गांव में कुछ जर्जर हो चुके मकानों से ईंटें लाकर, चूल्हा तैयार कर दिया। चूल्हा तैयार होते ही भगवान वहां पर बिना कुछ लाए ही प्रकट हो गए। माता पार्वती ने उनसे कहा आप तो कुछ लेकर नहीं आए, भोजन कैसे बनेगा। भगवान बोले - पार्वती अब तुम्हें इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी। भगवान ने माता पार्वती से पूछा की तुम चूल्हा बनाने के लिए इन ईटों को कहां से लेकर आई तो माता पार्वती ने कहा - प्रभु इस गावं में बहुत से ऐसे घर भी हैं जिनका रख रखाव सही ढंग से नहीं हो रहा है। उनकी जर्जर हो चुकी दीवारों से मैं ईंटें निकाल कर ले आई। भगवान ने फिर कहा - जो घर पहले से ख़राब थे तुमने उन्हें और खराब कर दिया। तुम ईंटें उन सही घरों की दीवार से भी तो ला सकती थीं। माता पार्वती बोली - प्रभु उन घरों में रहने वाले लोगों ने उनका रख रखाव बहुत सही तरीके से किया है और वो घर सुंदर भी लग रहे हैं 
ऐसे में उनकी सुंदरता को बिगाड़ना उचित नहीं होता। भगवान बोले - पार्वती यही तुम्हारे द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर है। जिन राधे जी #लोगो ने अपने घर का रख रखाव अच्छी तरह से किया है यानि सही कर्मों से अपने जीवन को सुंदर बना रखा है उन लोगों को दुःख कैसे हो सकता है। मनुष्य के जीवन में जो भी सुखी है वो अपने कर्मों के द्वारा सुखी है, और जो दुखी है वो अपने कर्मों के द्वारा दुखी है। इसलिए हर एक मनुष्य को अपने जीवन में ऐसे ही कर्म करने चाहिए की, जिससे इतनी मजबूत व खूबसूरत इमारत खड़ी हो कि कभी भी कोई भी उसकी एक ईंट भी निकालने न पड़े ./.      
             *🌹🌺हर हर महादेव जी 🌺🌹जय भोले नाथ की* 🌻🌺🌹

+111 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 78 शेयर

कामेंट्स

Jai Mata Di Jan 20, 2021
Om Namah Shivaya. Good Night Dear Sister. God Bless You And Your Family

🙏OP JAIN🙏(RAJ) Jan 20, 2021
शुभ रात्रि दीदी आपका हर एक पल शुभ और मंगलमय हो ॐ गणेशाय नमः

Renu Singh Jan 20, 2021
Om Namah Shivaya 🙏 Shubh Ratri Pyari Bahena ji 🙏 Aàpka Har pal Shubh V Mangalmay ho 🌸🙏

Anilkumar Marathe Jan 20, 2021
जय श्री कृष्णा नमस्कार सुखों का सागर आदरणीय प्यारी नीलम जी !! 🌹भगवान हर बुरी नज़र से बचाये आपको, दुनिया की तमाम खुशियों से सजाये आपको, दुःख क्या होता है यह कभी पता न चले, कदम कदम पर मिले ख़ुशी और कामयाबी की बहार आपको, गम और परेशानी आपको छू भी ना सके और हर तरफ आपका आदर सन्मान हो !! 🙏शुभरात्री स्नेह वदंन जी !!

madan pal 🌷🙏🏼 Jan 20, 2021
ओम् नमः शिवाय जी शुभ रात्रि वंदन जी भोले नाथ जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷

Surender Verma Jan 20, 2021
🙏राधे राधे राधे राधे 🙏जय श्री श्याम🙏

GOVIND CHOUHAN Jan 20, 2021
OM NAMAH SHIVAY 🌺 HAR HAR MAHADEV 🌺 JAI SHIV SHAMBHU BHOLENATH 🌺 SUBH RATRI JII 🌷🌷🙏🙏

Ramkumar Ojhaiya Jan 20, 2021
जय भोलेनाथ हर हर महादेव 🙏🙏

Brajesh Sharma Jan 20, 2021
हर हर महादेव जय शिव शंकर जय भोलेनाथ

ललन कुमार-8696612797 Jan 20, 2021
ईमानदारी से काम करने वाले का शौक भले ही पूरी ना हो पर नींद जरूर पूरी होती हैं।जय श्री राधे राधे जी।शुभ रात्रि वंदन जी।

Manoj Chawda Jan 21, 2021
नमः शिवाय, धन्यवाद शिव शिवा

Manoj Gupta AGRA Jan 21, 2021
jai shree radhe krishna ji 🙏🙏🌷🌸💐🌀 shubh prabhat vandan ji 🙏🙏🌷🌸

Mahadev Ji Feb 24, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 23 शेयर

"जानिए शिव को महादेव बोलने के पीछे क्या कारण है" 🌾🍁🏯👏👏🛕👏👏🏯🍁🌾 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 देवादि देव भगवान भोलेनाथ को कई नामों से जाना जाता है जैसे शिव, शंकर, भोलेनाथ, नीलकंठ, कैलाशपति, दीनानाथ आदि। उनको कई उपाधियाँ और नामों से संबोधित किया जाता है और हर नाम के पीछे कोई ना कोई कहानी और चमत्कार है। इन्ही नामों में से एक है महादेव। हिन्दू धर्म में शास्त्रों के अनुसार केवल शिवजी को ही महादेव नाम से पुकारा जाता है। अन्य किसी देवता को इस नाम की संज्ञा नहीं दी गई है। शिवजी को महादेव क्यों कहा जाता है? इसका जवाब शिव पुराण में मिलता है। कहा जाता है कि शिव ही आदि और अनंत है। इस सृष्टि के निर्माण से पहले भी शिव जी है और इस सृष्टि के ख़त्म हो जाने के बाद भी वे ही रहेंगे। इसका मतलब यही है कि इस सृष्टि पर जो भी है वो शिव ही है। हिन्दू धर्म के अनुसार त्रिदेव ब्रह्मा, विष्णु और महेश यह तीन मुख्य देवता है। और यह त्रिदेव एक ही माने जाते है। वेद-पुराण के अनुसार शिवजी से ही भगवान विष्णु की उत्पत्ति हुई है और भगवान विष्णु की नाभि से ब्रह्मा जी उत्पन्न हुए है। तत्पश्चात भगवान शिव की आज्ञानुसार ही ब्रह्मा जी ने इस सम्पूर्ण सृष्टि का निर्माण किया है और भगवान विष्णु इस ब्रह्मांड का पालन पोषण करते आए है। कहा जाता है कि इन त्रिदेव मे से महेश अर्थात शिव ही कलयुग के बाद इस सृष्टि का संहार करेंगे, ऐसा वेद और पुराणों में उल्लेखित है। अतः शिव जी ही महाशक्तिशाली है और संपूर्ण ब्रह्मांड उन्ही के इशारे मात्र से चल रहा है। इसलिए भोलेनाथ को महादेव कहा जाता है। 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 ☀!! श्री हरि: शरणम् !! ☀ 🍃🎋🍃🎋🕉️🎋🍃🎋🍃 🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾🙏🏾

+218 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 74 शेयर

🌹 जय श्री महाकाल🌹 श्री महाकाल जी के आज के भस्म आरती श्रृंगार दर्शन मध्य प्रदेश उज्जैन से 25 फरवरी 2021 दिन बृहस्पतिवार *प्रतिदिन जानिए शेयर मार्किट और बाजार का हाल* Astro_Sunil_Garg (Nail & Teeth) ( First Time in The World ) 7982311549, 9911020152 9811332901, 9811332914 *प्रतिदिन जानिए शेयर मार्किट और बाजार का हाल* *जानिए बाजार का भविष्य* १ सोना, चाँदी, सर्राफा बाजार भविष्य २ तिल, तेल , तिलहन, सरसों, सोयाबीन, मूंगफली बाजार भविष्य ३ गुड़, खाण्ड, शक्कर बाजार भविष्य ४ रुई, कपास बाजार भविष्य ५ अरहर, मसूर , मटर, चना , मूँग बाजार भविष्य ६ गेहूँ, जौ , चना, चावल , मक्का, ज्वार , बाजरा बाजार भविष्य *यदि किसी को सॉस लेने में दिक्कत है या आक्सीजन लेवल कम है या इम्युनिटी कम है तो सिर्फ डाइट के द्वारा ठीक कराये।* *विवाह में देरी के कारण व निवारण उपाय समाधान भी* ,

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
keshu Singh Chauhan Feb 25, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB