Manish Purohit
Manish Purohit Sep 1, 2017

शिव कथा. . .

शिव कथा. . .

(((((( साक्षात शिव ))))))
.
बात बहुत पुरानी है, एक आलोकिक घटना हुयी ..
.
एक बार एक शिव-भक्त अपने गावँ से केदारनाथ धाम की यात्रा पर निकला। पहले यातायात की सुविधाएँ तो थी नहीं, वह पैदल ही निकल पड़ा।
.
रास्ते में जो भी मिलता केदारनाथ का मार्ग पूछ लेता। मन में भगवान शिव का ध्यान करता रहता। चलते चलते उसको महीनो बीत गए। आखिरकार एक दिन वह केदार धाम पहुच ही गया।
.
केदारनाथ में मंदिर के द्वार 6 महीने खुलते है और 6 महीने बंद रहते है। वह उस समय पर पहुचा जब मन्दिर के द्वार बंद हो रहे थे।
.
पंडित जी को उसने बताया वह बहुत दूर से महीनो की यात्रा करके आया है। पंडित जी से प्रार्थना की - कृपा कर के दरवाजे खोलकर प्रभु के दर्शन करवा दीजिये ।
.
लेकिन वहा का तो नियम है एक बार बंद तो बंद। नियम तो नियम होता है। वह बहुत रोया। बार-बार भगवन शिव को याद किया कि प्रभु बस एक बार दर्शन करा दो। वह प्रार्धना कर रहा था सभी से, लेकिन किसी ने भी नही सुनी।
.
पंडित जी बोले अब यहाँ 6 महीने बाद आना, 6 महीने बाद यहा के दरवाजे खुलेंगे। यहाँ 6 महीने बर्फ और ढंड पड़ती है। और सभी जन वहा से चले गये।
.
वह वही पर रोता रहा। रोते-रोते रात होने लगी चारो तरफ अँधेरा हो गया। लेकिन उसे विस्वास था अपने शिव पर कि वो जरुर कृपा करेगे। उसे बहुत भुख और प्यास भी लग रही थी।
.
उसने किसी की आने की आहट सुनी। देखा एक सन्यासी बाबा उसकी ओर आ रहा है। वह सन्यासी बाबा उस के पास आया और पास में बैठ गया। पूछा - बेटा कहाँ से आये हो ?
.
उस ने सारा हाल सुना दिया और बोला मेरा आना यहाँ पर व्यर्थ हो गया बाबा जी। बाबा जी ने उसे समझाया और खाना भी दिया। और फिर बहुत देर तक बाबा उससे बाते करते रहे।
.
बाबा जी को उस पर दया आ गयी। वह बोले, बेटा मुझे लगता है, सुबह मन्दिर जरुर खुलेगा। तुम दर्शन जरुर करोगे।
.
बातो-बातो में इस भक्त को ना जाने कब नींद आ गयी। सूर्य के मद्धिम प्रकाश के साथ भक्त की आँख खुली। उसने इधर उधर बाबा को देखा, किन्तु वह कहीं नहीं थे ।
.
इससे पहले कि वह कुछ समझ पाता उसने देखा पंडित जी आ रहे है अपनी पूरी मंडली के साथ। उस ने पंडित को प्रणाम किया और बोला - कल आप ने तो कहा था मन्दिर 6 महीने बाद खुलेगा ? और इस बीच कोई नहीं आएगा यहाँ, लेकिन आप तो सुबह ही आ गये।
.
पंडित जी ने उसे गौर से देखा, पहचानने की कोशिश की और पुछा - तुम वही हो जो मंदिर का द्वार बंद होने पर आये थे ? जो मुझे मिले थे। 6 महीने होते ही वापस आ गए !
.
उस आदमी ने आश्चर्य से कहा - नही, मैं कहीं नहीं गया। कल ही तो आप मिले थे, रात में मैं यहीं सो गया था। मैं कहीं नहीं गया।
.
पंडित जी के आश्चर्य का ठिकाना नहीं था। उन्होंने कहा - लेकिन मैं तो 6 महीने पहले मंदिर बन्द करके गया था और आज 6 महीने बाद आया हूँ। तुम छः महीने तक यहाँ पर जिन्दा कैसे रह सकते हो ?
.
पंडित जी और सारी मंडली हैरान थी। इतनी सर्दी में एक अकेला व्यक्ति कैसे छः महीने तक जिन्दा रह सकता है।
.
तब उस भक्त ने उनको सन्यासी बाबा के मिलने और उसके साथ की गयी सारी बाते बता दी। कि एक सन्यासी आया था - लम्बा था, बढ़ी-बढ़ी जटाये, एक हाथ में त्रिशुल और एक हाथ में डमरू लिए, मृग-शाला पहने हुये था..
.
पंडित जी और सब लोग उसके चरणों में गिर गये। बोले, हमने तो जिंदगी लगा दी किन्तु प्रभु के दर्शन ना पा सके, सच्चे भक्त तो तुम हो। तुमने तो साक्षात भगवान शिव के दर्शन किये है।
.
उन्होंने ही अपनी योग-माया से तुम्हारे 6 महीने को एक रात में परिवर्तित कर दिया। काल-खंड को छोटा कर दिया। यह सब तुम्हारे पवित्र मन, तुम्हारी श्रद्वा और विश्वास के कारण ही हुआ है। हम आपकी भक्ति को प्रणाम करते है l
~~~~~~~~~~~~~~~~~
((((((( जय जय श्री राधे )))))))
~~~~~~~~~~~~~~~~~

Like Belpatra Milk +190 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 77 शेयर

कामेंट्स

श्री महाकालेश्वर #ज्योतिर्लिंग का आज का #भस्मआरती श्रृंगार दर्शन 21 अगस्त 2018 ( मंगलवार)

Pranam Sindoor Dhoop +103 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 58 शेयर

श्री महाकालेश्वर #ज्योतिर्लिंग जी का #भस्मश्रंगार आरती दर्शन!
20 अगस्त 2018 ! ( सोमवार )
#श्रावण_शुक्ल_दशमी

Belpatra Milk Pranam +76 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 51 शेयर

सृष्टि के प्रारंभ में जब ब्रह्माजी द्वारा रची गई मानसिक सृष्टि विस्तार न पा सकी, तब ब्रह्माजी को बहुत दुःख हुआ। उसी समय आकाशवाणी हुई ब्रह्मन्! अब मैथुनी सृष्टि करो। आकाशवाणी सुनकर ब्रह्माजी ने मैथुनी सृष्टि रचने का निश्चय तो कर लिया, किंतु उस समय ...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Fruits Flower +25 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 29 शेयर

श्री महाकालेश्वर #ज्योतिर्लिंग का आज का #भस्मारती शृंगार दर्शन
19 अगस्त 2018 ( रविवार )

Flower Belpatra Pranam +74 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 26 शेयर

१२ ज्योतिर्लिंगों का महत्व व महिमा-:
👉🏻https://goo.gl/EYNVVS

*🙏 १] सोमनाथ* : सोमनाथ ज्योतिर्लिंग भारत का ही नहीं अपितु इस पृथ्वी का पहला ज्योतिर्लिंग माना जाता है। यह मंदिर गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित है। इस मंदिर के बारे में म...

(पूरा पढ़ें)
Water Pranam Belpatra +28 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 37 शेयर
Harikrishnh Shukla Aug 20, 2018

Gouri maiya ke sut lalan Khele shive ji ke aangan ..Mat pita ki kari parikrma bane prtham pujy shri gazanan .Jay shri gazanan ji maharaj ji jay shri shive goura parwati maiya ji jay shri ram ji jay veer hanuman Ji jay shri radhey krishnha ji jay ...

(पूरा पढ़ें)
Fruits Jyot Dhoop +20 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 47 शेयर

🙏🌹 जय श्री महाकाल 🌹🙏
श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग जी का भस्म श्रंगार आरती दर्शन!
22 अगस्त 2018 ! ( बुधवार )
#श्रावण_शुक्ल_एकादशी 7:40AM तक

Pranam Fruits Dhoop +152 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 203 शेयर
Ruhi Jis Aug 21, 2018

Like Flower Pranam +204 प्रतिक्रिया 54 कॉमेंट्स • 481 शेयर

Pranam Flower Jyot +24 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 304 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB