sn.vyas
sn.vyas Apr 12, 2021

...........!! *श्रीराम: शरणं मम* !!......... ।।श्रीरामकिंकर वचनामृत।। °°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°° *श्रद्धा और विश्वास* °" "" "" "" "" "" "" "" "° कहा गया कि भगवान् शंकर विश्वास और पार्वती श्रद्धा हैं , परन्तु पूर्वजन्म में वे सती थीं। सती अर्थात् बुद्धि। बुद्धि और विश्वास - सती हैं बुद्धि और भगवान् शंकर हैं विश्वास। यदि बुद्धि है, तो उसके सामने प्रश्न उठेंगे, तर्क आयेंगे। भले ही लम्बे मार्ग से हो, परन्तु उस बुद्धि को श्रद्धा में परिणत होना पड़ेगा। कभी-कभी पूछा जाता है कि *श्रद्धा और विश्वास में क्या अन्तर है ? मान करके जान लेना - विश्वास है और जान करके मान लेना - श्रद्धा।* जिस व्यक्ति को सहज भाव से ह्रदय में अनुभव हो रहा है, उसे किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है, उसने जो स्वीकार कर लिया, वह विश्वास है। परन्तु जिसने बुद्धि के द्वारा निर्णय किया कि बिना-समझे हम स्वीकार नहीं करेंगे, तो यह बुद्धि का मार्ग है। यह मार्ग है तो लम्बा, पर चिन्ता की कोई बात नहीं। यदि आप बुद्धिमान है, तो छोटे मार्ग के फेर में पड़िये ही मत, चलिये, कठिनाई के मार्ग पर चलिये, जो समस्या आये, उसे सहिये। सतीजी के जीवन में यही हुआ। सती ही पार्वती के रुप में पुनः जन्म लेती हैं और यही है - बुद्धि का श्रद्धा के रुप में परिवर्तित होना। *जब बुद्धि श्रद्धा के रुप में परिवर्तित हो जाती है, तब वे स्वयं रामकथा सुनती हैं और तब भगवान् राम के विषय में उनके अन्तःकरण में कोई संशय नहीं रह जाता।* 👏🏻 🔱 जय गुरुदेव जय सियाराम 🙇🏻‍♂️

...........!! *श्रीराम: शरणं मम* !!.........
         ।।श्रीरामकिंकर वचनामृत।।
°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°
            *श्रद्धा और विश्वास*
           °" "" "" "" "" "" "" "" "°
      कहा गया कि भगवान् शंकर विश्वास और पार्वती श्रद्धा हैं , परन्तु पूर्वजन्म में वे सती थीं। सती अर्थात् बुद्धि। बुद्धि और विश्वास - सती हैं बुद्धि और भगवान् शंकर हैं विश्वास। यदि बुद्धि है, तो उसके सामने प्रश्न उठेंगे, तर्क आयेंगे। भले ही लम्बे मार्ग से हो, परन्तु उस बुद्धि को श्रद्धा में परिणत होना पड़ेगा। कभी-कभी पूछा जाता है कि *श्रद्धा और विश्वास में क्या अन्तर है ? मान करके जान लेना - विश्वास है और जान करके मान लेना - श्रद्धा।*
      जिस व्यक्ति को सहज भाव से ह्रदय में अनुभव हो रहा है, उसे किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है, उसने जो स्वीकार कर लिया, वह विश्वास है। परन्तु जिसने बुद्धि के द्वारा निर्णय किया कि बिना-समझे हम स्वीकार नहीं करेंगे, तो यह बुद्धि का मार्ग है। यह मार्ग है तो लम्बा, पर चिन्ता की कोई बात नहीं। यदि आप बुद्धिमान है, तो छोटे मार्ग के फेर में पड़िये ही मत, चलिये, कठिनाई के मार्ग पर चलिये, जो समस्या आये, उसे सहिये। सतीजी के जीवन में यही हुआ। सती ही पार्वती के रुप में पुनः जन्म लेती हैं और यही है - बुद्धि का श्रद्धा के रुप में परिवर्तित होना। *जब बुद्धि श्रद्धा के रुप में परिवर्तित हो जाती है, तब वे स्वयं रामकथा सुनती हैं और तब भगवान् राम के विषय में उनके अन्तःकरण में कोई संशय नहीं रह जाता।* 👏🏻
         🔱 जय गुरुदेव जय सियाराम 🙇🏻‍♂️

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
HEMANT JOSHI May 7, 2021

*_ 🚩🙏🏼🔱जय श्री महाकालेश्वर महादेव 🙏🏻 🔱*🌺🌿🌿🌿🌿 _*🔱~❗अंत ही आरंभ है❗~🔱*_ 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 *_ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् ।_* *_उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात् ||_*🌿🌿 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 *_🚩जय श्री🕉 महाकालेश्वर ज्योतिर्लिन्गं नमो नम:||_*🚩🌿🌿 🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺 *_संपूर्ण ब्रह्मांड के राजा भस्माङ्गधारी स्वयम्भू 🕉 श्री ॐ महाकालेश्वर महाकाल महादेव जी के आज के दिव्य भस्मा आरती श्रृंगार दर्शन_*🚩🌿 🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺 *_🕉श्री महाकालेश्वर ॐ ज्योतिर्लिंग मन्दिर उज्जैन मध्यप्रदेश से_*🚩🌿 🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺 *07/ मई /(शुक्रवार)* 🌿 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 _🌿🕉🕉🕉🕉🌿 🌹🌹🌹🌹🌹 _*❗🚩❗🚩❗🚩❗🚩❗~श्री महाकाल प्रभु* ❗🚩❗🚩❗🚩🌹🌹🌹🌹 *🙏🏻शुभ शिवमय प्रभात वंदन 🙏*

+40 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 13 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB