*▂▃▅▓▒░۩۞۩ॐ۩۞۩░▒▓▅▃▂* _*"सादगी" "सर्वोत्तम' "सुंदरता"* हैं,_ _*"क्षमा" "अतुलनीय" "बल"* हैं ,..._ _*"नम्रता" "सर्वश्रेष्ठ" "गुण"* हैं,_ _एवं *"मैत्री" "सर्वोत्कृष्ट" "संबंध" हैं....✍*_ 🐚🌻🐚सुप्रभात🐚🌻🐚 _🐚आप सबका दिन मंगलमय हो🐚!_ 🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏 ~ एक पंडितजी को नदी में तर्पण करते देख एक फकीर अपनी बाल्टी से पानी गिराकर जप करने लगे , " मेरी प्यासी गाय को पानी मिले।" पंडितजी के पुछने पर बोले जब आपके चढाये जल भोग आपके पुरखों को मिल जाते हैं तो मेरी गाय को भी मिल जाएगा। पंडितजी बहुत लज्जित हुए।" कहानी सुनाकर एक इंजीनियर मित्र जोर से ठठाकर हँसने लगे। बोले - " सब पाखण्ड है पंडित जी। " शायद मैं कुछ ज्यादा ही सहिष्णु हूँ इसलिए लोग मुझसे ऐसे कुतर्क करने से पहले ज्यादा सोचते नहीं , लगभग हिंदुओं का यही हाल है । खैर मैने कुछ कहा नहीं बस सामने मेज पर से 'कैलकुलेटर' उठाकर एक नंबर डायल किया और कान से लगा लिया। बात न हो सकी तो इंजीनियर साहब से शिकायत की। वो भड़क गए । बोले- " ये क्या मज़ाक है? 'कैलकुलेटर ' में मोबाइल का फंक्शन कैसे काम करेगा। " तब मैंने कहा , ठीक वैसे हिं स्थूल शरीर छोड़ चुके लोगों के लिए बनी व्यवस्था जीवित प्राणियों पर कैसे काम करेगी। साहब झेंप मिटाते हुए कहने लगे- " ये सब पाखण्ड है , अगर सच है तो सिद्ध करके दिखाइए।" मैने कहा ये सब छोड़िए, ये बताइए न्युक्लीअर पर न्युट्रान के बम्बारमेण्ट करने से क्या ऊर्जा निकलती है ? वो बोले - " बिल्कुल! इट्स कॉल्ड एटॉमिक एनर्जी।" फिर मैने उन्हें एक चॉक और पेपरवेट देकर कहा , अब आपके हाथ में बहुत सारे न्युक्लीयर्स भी हैं और न्युट्रांस भी। एनर्जी निकाल के दिखाइए। साहब समझ गए और तनिक लजा भी गए और बोले- " पंडित जी , एक काम याद आ गया; बाद में बात करते हैं। " दोस्तों यदि हम किसी विषय/तथ्य को प्रत्यक्षतः सिद्ध नहीं कर सकते तो इसका अर्थ है कि हमारे पास समुचित ज्ञान,संसाधन वा अनुकूल परिस्थितियाँ नहीं है , यह नहीं कि वह तथ्य ही गलत है। हमारे द्वारा श्रद्धा से किए गए सभी कर्म दान आदि आध्यात्मिक ऊर्जा के रूप में हमारे पितरों तक अवश्य पहुँचते हैं। कुतर्को मे फँसकर अपने धर्म व संस्कार के प्रति कुण्ठा न पालें। ~ पर अफसोस ! हजारों वर्षों पहले प्रतिपादित अपने वैदिक नियमों को तब मानते हैं जब विदेशी वैज्ञानिक उस पर रिसर्च करके हमें उसका महत्व बताते है। मैकाले शिष्य समूह व समर्थक अभी 200 वर्ष पहले जान पाए हैं की पीपल व गाय 24 घंटे ऑक्सीजन देने वालों में है ! हमने युगो से उनको पूज्य व संरक्षित कर रखा है ! रुद्राक्ष कई लाख साल से हमारी परंपरा मे है आधुनिक विज्ञान अब जाकर जाना है कि वह शरीर में रसायनिक प्रक्रियाओं को संतुलित करता है, हारमोंस का डिसऑर्डर रोकता है लेकिन यह मैकाले मिश्रित डीएनए के प्रभाव वाले दोगले हिंदू जब तक कुछ इनको आधुनिक विज्ञान नहीं बताएगा नहीं मानेंगे ! यदि धर्म को जानने के लिए आधुनिक विज्ञान तुच्छ है तो इसमें धर्म क्या करें । 🌿🌿🌹🌹🌹🌿🌿🍅✴☀❣जय मां अंबे भवानी ❣☀✴🍅❣ 🍂🐚 गंगा गीता गायत्री 🍂🐚 (¯`•.•´¯) *`•.¸(¯`•.•´¯)¸.•´ `•.¸.•´ ჱܓ*“ 🍅✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴🍅 ☆*´¨`☽  ¸.★* ´¸.★*´¸.★*´☽ (  ☆** Ψ त्रिवेणी घाट हरिद्वार .Ψ `★.¸¸¸. ★• ° 🙏सेवक भरत व्यास बांगा हिसार हरिद्वार 👏👏🗯️🗯️

+27 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 69 शेयर

कामेंट्स

sanjay choudhary Jan 22, 2021
🙏🙏 जय माता दी 🙏🙏 ।।। शुभ प्र्भात् जी ।।।। 🌹🌹 *“दिखावा”और “झूठ”बोलकर* *व्यवाहर बनाने से अच्छा हैं*, *“सच” बोलकर “दुश्मन” बना लो।* *आपके साथ कभी “विश्वाशघात*” *नही होगा*.! *इंसान अपना वो चेहरा तो* *खूब सजाता है जिस पर* *लोगों की नज़र होती है* *मगर आत्मा को सजाने की* *कोशिश कोई नही करता* *जिस पर परमात्मा की नजर होती है।* 🌹🙏 आपका दिन मंगलमय हो🙏*�🌿🍇🌿🍇🌿🍇!!*

PDJOSHI Feb 26, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
ramkumarverma Feb 26, 2021

+19 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 39 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
✍️VEERUDA✍️ Feb 26, 2021

+20 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 27 फरवरी 2021* ⛅ *दिन - शनिवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - पूर्णिमा दोपहर 01:46 तक तत्पश्चात प्रतिपदा* ⛅ *नक्षत्र - मघा सुबह 11:18 तक तत्पश्चात पूर्वाफाल्गुनी* ⛅ *योग - सुकर्मा रात्रि 07:38 तक तत्पश्चात धृति* ⛅ *राहुकाल - सुबह 09:56 से सुबह 11:24 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:01* ⛅ *सूर्यास्त - 18:41* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - माघी पूर्णिमा, माघ स्नान समाप्त, हरिद्वार कुंभ स्नान* 💥 *विशेष - पूर्णिमा के दिन तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* 💥 *ब्रह्म पुराण' के 118 वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- 'मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।' (ब्रह्म पुराण')* 💥 *शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए 'ॐ नमः शिवाय।' का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण')* 💥 *हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है ।(पद्म पुराण)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *शराब की आदत छुडाने के लिए* 🌷 🍺 *जिन्हें शराब पीने की आदत हो वो रोज शराब की जगह गौझरण अर्क पियें । इससे उनकी शराब की लत छूट जाएगी, साथ ही उनकी कई बीमारियाँ भी दूर होंगी ।* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *गले व छाती के रोगों में क्या करें* 🌷 ➡ *१) गले में दर्द, खाँसी, कफ, संक्रमण (इन्फेक्शन ) आदि में आधा चम्मच पिसी हल्दी मुँह में रखकर मुँह बंद कर लें | लार के साथ हल्दी अंदर जाने से उपरोक्त सभी बीमारियों में आराम मिलता है | बच्चों की टॉन्सिल्स की समस्या में ऑपरेशन न कराके इस प्रयोग से लाभ लें | (बच्चों के लिए हल्दी की मात्रा – पौन चम्मच)* ➡ *२) छाती की गम्भीर बीमारियाँ जैसी – डीएमए, पुरानी खाँसी, न्युमोनिया आदि में सुबह आधा कप ताजा गोमूत्र कपड़े से ७ बार छानकर पीना लाभदायक है | गोमूत्र नहीं मिले तो आश्रम की गौशाला में बना हुआ १०-१५ ग्राम गोझरण अर्क और उतना ही पानी मिलाकर लेना भी लाभदायी है | ५ – ६ महिने तक लगातार गोमूत्र पीने से क्षयरोग (टी.बी.) में भी आराम मिलता है |* ➡ *३) दमे में प्रतिदिन खाली पेट १ – २ ग्राम दालचीनी का चूर्ण गुड़ या शहद मिलाकर गरम पानी के साथ लेना हितकारी है |* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *सुख-शांति व बरकत के उपाय* 🌷 🌿 *· तुलसी को रोज जल चढायें तथा गाय के घी का दीपक जलायें |* 🍃 *· सुबह बिल्वपत्र पर सफेद चंदन का तिलक लगाकर संकल्प करके शिवलिंग पर जल अर्पित करें तथा पूरी श्रद्धा से प्रार्थना करें |* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 जय श्री राधे राधे🙏🙏🚩🚩🚩

+22 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 36 शेयर

+22 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 54 शेयर
Vandana Singh Feb 26, 2021

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Geeta sahu. Feb 26, 2021

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 24 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB