Kumarpal Shah
Kumarpal Shah Mar 26, 2020

🕉namah shivay ✔🚩🚩 @ *सामूहिक जिनेन्द्र आराधना संस्था और जेएसजी गोल्ड की अनोखी पहल*👍👍👌👌 ***************************** सामाजिक सेवार्थ कार्यक्रम के तहत सामूहिक जिनेन्द्र आराधना संस्था के तत्वावधान में और *जैन सोश्यल ग्रुप जयपुर गोल्ड के सहयोग से* परिवारों को मासिक भोजन सामग्री दी जाएगी।। *एक परिवार का एक माह का राशन सामग्री किट, इस तरह से होगा।* 20 kg आटा 2 ltr तेल 2 kg दाल 2 kg चावल 1 kg बेसन 1 kg सूजी 2 kg चीनी 250 ग्राम मंगोड़ी 500 ग्राम चाय 250 ग्राम लाल मिर्च 250 ग्राम धनिया 250 ग्राम हल्दी 100 ग्राम जीरा 100 ग्राम सोंफ 1 kg नमक 1 kg पोहे 4 पीस नहाने का साबुन 500 ग्राम सर्फ 1 टूथपेस्ट 100 ग्राम खोपरे का तेल 🙏 *आपकी जानकारी में कोई भी जैन परिवार ऐसा हो, जिनकी आर्थिक स्तिथि बहुत कमजोर हो, जिन्हें घर की खाद्य सामग्री खरीदने में भी दिक्कत हो रही है। तो कृपया इसकी जानकारी निम्नांकित मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करें। ताकि जरूरत मंद परिवार की मदद की जा सकें।* संपर्क सूत्र: धीरज पाटनी : महामंत्री SJA 9828064835 सुरेन्द्र पाटनी : सचिव jsg gold 9829018506 *रोहित जैन : कार्यक्रम संयोजक* 9828024849 🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏 आपको यह सामाजिक सेवा अच्छी लगी हो तो इसका समाज मे व्यापक प्रचार करें। ताकि अधिक से अधिक जरूरतमंद समाज बंधु तक ये सूचना पहुँच सकें। भवदीय: 🌹राकेश गोधा *अध्यक्ष: सामूहिक जिनेन्द्र आराधना संस्था* *अध्यक्ष: जैन सोश्यल ग्रुप गोल्ड*

+19 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌷🙏कोरोनारक्षाकवचम् 🙏🌷 त्वं करुणावतारोऽसि कोरोनाख्यविषाणुधृक् । रुद्ररूपश्च संहर्ता भक्तानामभयङ्करः ।। मृत्यञ्जय महादेव कोरोनाख्याद्विषाणुतः । मृत्योरपि महामृत्यो पाहि मां शरणागतम् ।। मांसाहारात्समुत्पन्नाज्जगत्संहारकारकात् । करुणाख्याद्विषाणोर्मां रक्ष रक्ष महेश्वर ।। चीनदेशे जनिं लब्ध्वा भूमौ विष्वक्प्रसर्पतः । जनातङ्काद्विषोणोर्मां सर्वतः पाहि शङ्कर ।। बालकृष्णः स्मरंस्त्वां वै कालकूटं न्यपादहो । न ममारार्भकः शम्भो ततस्त्वां शरणं गतः ।। समुद्रमथनोद्भूतात् कालकूटाच्च बिभ्यतः । त्वयैव रक्षिता देवा देवदेव जगत्पते ।। परक्षेत्रे चिकित्स्योऽयं महामारो भयङ्करः । भीषयति जनान्सर्वान् भव त्राता महेश्वर ।। वैद्या वैज्ञानिका विश्वे परास्ताश्च चिकित्सकाः । आतङ्किता निरीक्षन्ते त्रातारं त्वामुमेश्वर ।। रक्ष रक्ष महादेव त्रायस्व जगदीश्वर । पाहि पाहि प्रपन्नं मां कोरोनाख्याद् विषाणुतः ।। नान्यं त्वदभयं जाने भीतानां भीतिनाशकृत् । अतस्त्वां शरणं यातं भीतं पाहि महेश्वर ।। महायोगिन् महादेव कोरोनाख्यं विषाणुकम् । संविनाश्य जनान् रक्ष तव भक्तान् विशेषतः ।।११।। मांसाहारान् सुरापानान् कामं संहरतादयम् । कोरोनाख्यो विषाणुस्तु मा हिंस्याच्छिवसेवकान् ।।१२।। भिक्षुयोगेश्वरानन्दकृतं द्वादशपद्यकम् । जनः पठन् रक्षणीयस्त्वयैव परमेश्वर ।।१३।। _________________________

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
sudhir Mar 27, 2020

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
SANEHA DASI Mar 27, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Amit Kumar sahu Mar 27, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 27 मार्च 2020* ⛅ *दिन - शुक्रवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - चैत्र* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - तृतीया रात्रि 10:12 तक तत्पश्चात चतुर्थी* ⛅ *नक्षत्र - अश्विनी सुबह 10:09 तक तत्पश्चात भरणी* ⛅ *योग - वैधृति शाम 05:16 तक तत्पश्चात विष्कम्भ* ⛅ *राहुकाल - सुबह 11:01 से दोपहर 12:32 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:37* ⛅ *सूर्यास्त - 18:50* *⛅वाराणसी काशी अनुसार* *⛅सूर्योदय-05:57* *⛅सूर्यास्त-18:11* ⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - 💥 *विशेष - तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *चैत्र नवरात्रि* 🌷 🙏🏻 *कष्टों से मुक्ति दिलाती हैं मां चंद्रघंटा* *नवरात्रि की तृतीया तिथि यानी तीसरा दिन माता चंद्रघंटा को समर्पित है। यह शक्ति माता का शिवदूती स्वरूप हैं । इनके मस्तक पर घंटे के आकार का अर्धचंद्र है, इसी कारण इन्हें चंद्रघंटा देवी कहा जाता है। असुरों के साथ युद्ध में देवी चंद्रघंटा ने घंटे की टंकार से असुरों का नाश किया था। नवरात्रि के तृतीय दिन इनका पूजन किया जाता है। इनके पूजन से साधक को मणिपुर चक्र के जाग्रत होने वाली सिद्धियां स्वत: प्राप्त हो जाती हैं तथा सांसारिक कष्टों से मुक्ति मिलती है।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *चैत्र नवरात्रि* 🌷 *तृतीया तिथि यानी की तीसरे दिन को माता दुर्गा को दूध का भोग लगाएं ।इससे दुखों से मुक्ति मिलती है ।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *गणगौर तीज* 🌷 🙏🏻 *चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को गणगौर तीज का उत्सव मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 27 मार्च, शुक्रवार को है। गणगौर उत्सव में मुख्य रूप से माता पार्वती व भगवान शिव का पूजन किया जाता है।भगवान शंकर-माता पार्वती को प्रसन्न करने के लिए इस दिन कुछ उपाय भी कर सकते हैं। ये उपाय इस प्रकार है-* 👉🏻 *1. देवी भागवत के अनुसार, माता पार्वती का अभिषेक आम अथवा गन्ने के रस से किया जाए तो लक्ष्मी और सरस्वती ऐसे भक्त का घर छोड़कर कभी नहीं जातीं। वहां संपत्ति और विद्या का वास रहता है।* 👉🏻 *2. शिवपुराण के अनुसार, लाल व सफेद आंकड़े के फूल से भगवान शिव का पूजन करने से भोग व मोक्ष की प्राप्ति होती है।* 👉🏻 *3. माता पार्वती को घी का भोग लगाएं तथा उसका दान करें। इससे रोगी को कष्टों से मुक्ति मिलती है तथा वह निरोगी होता है।* 👉🏻 *4. माता पार्वती को शक्कर का भोग लगाकर उसका दान करने से भक्त को दीर्घायु प्राप्त होती है। दूध चढ़ाकर दान करने से सभी प्रकार के दु:खों से मुक्ति मिलती है। मालपुआ चढ़ाकर दान करने से सभी प्रकार की समस्याएं अपने आप ही समाप्त हो जाती है।* 👉🏻 *5. भगवान शिव को चमेली के फूल चढ़ाने से वाहन सुख मिलता है। अलसी के फूलों से शिव का पूजन करने से मनुष्य भगवान विष्णु को प्रिय होता है।* 👉🏻 *6. भगवान शिव की शमी पत्रों से पूजन करने पर मोक्ष प्राप्त होता है। बेला के फूल से पूजन करने पर शुभ लक्षणों से युक्त पत्नी मिलती है। धतूरे के फूल के पूजन करने पर भगवान शंकर सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं, जो परिवार का नाम रोशन करता है। लाल डंठल वाला धतूरा पूजन में शुभ माना गया है।* 👉🏻 *7. भगवान शिव पर ईख (गन्ना) के रस की धारा चढ़ाई जाए तो सभी आनंदों की प्राप्ति होती है। शिव को गंगाजल चढ़ाने से भोग व मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है।* 👉🏻 *8. देवी भागवत के अनुसार वेद पाठ के साथ यदि कर्पूर, अगरु (सुगंधित वनस्पति), केसर, कस्तूरी व कमल के जल से माता पार्वती का अभिषेक करने से सभी प्रकार के पापों का नाश हो जाता है तथा साधक को थोड़े प्रयासों से ही सफलता मिलती है।* 👉🏻 *9. जूही के फूल से भगवान शिव का पूजन करने से घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती। दूर्वा से पूजन करने पर आयु बढ़ती है। हरसिंगार के फूलों से पूजन करने पर सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है।* 👉🏻 *10. देवी भागवत के अनुसार, माता पार्वती को केले का भोग लगाकर दान करने से परिवार में सुख-शांति रहती है। शहद का भोग लगाकर दान करने से धन प्राप्ति के योग बनते हैं। गुड़ की वस्तुओं का भोग लगाकर दान करने से दरिद्रता का नाश होता है।* 👉🏻 *11. भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति हो सकती है। तिल चढ़ाने से पापों का नाश हो जाता है।* 👉🏻 *12. द्राक्षा (दाख) के रस से यदि माता पार्वती का अभिषेक किया जाए तो भक्तों पर देवी की कृपा बनी रहती है।* 👉🏻 *13. शिवजी को जौ अर्पित करने से सुख में वृद्धि होती है व गेहूं चढ़ाने से संतान वृद्धि होती है।* 👉🏻 *14. देवी भागवत के अनुसार, माता पार्वती को नारियल का भोग लगाकर उसका दान करने से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। माता को विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाकर गरीबों को दान करने से लोक-परलोक में आनंद व वैभव मिलता है।* 👉🏻 *15. माता पार्वती का अभिषेक दूध से किया जाए तो व्यक्ति सभी प्रकार की सुख-समृद्धि का स्वामी बनता है।* ppss..... 📖 *हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर* 📒 *हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🙏🏻🌷💐🌸🌼🌹🍀🌺💐🙏🏻

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
SHYAMLAL MOTWANI Mar 27, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Mamta Sharma Mar 27, 2020

+61 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 80 शेयर
Lakhi Jhunjhunwala Mar 27, 2020

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 8 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB