Narayan Giri
Narayan Giri Oct 19, 2017

शुभ दीपावली

शुभ दीपावली
शुभ दीपावली

जय दूधेश्वर महादेव

सब पर मां लक्ष्मी की पूर्ण कृपा बनी रहे आपको मां लक्ष्मी का आशीर्वाद बना रहे ऐसी दिवाली के अवसर पर शुभ कामना करता हूं मंगल कामना करता हूं कि आप हमेशा सुखी और आनंद रहे ऐसी प्रभु प्रभु भगवान दूधेश्वरनाथ से कामना करता हूं दिवाली के शुभ अवसर पर आपको आपके परिवार को सबको बहुत बहुत भगवान ईश्वर का आशीर्वाद आप का आनंद खुशी और धूमधाम से दिवाली मनाएं मां लक्ष्मी जी का पूजा करें मां लक्ष्मी जी की आप को आप के ऊपर कृपा हो ऐसी मैं कामना करता हूं

महंत नारायण गिरि
दूधेश्वर नाथ मंदिर
गाजियाबाद उत्तर प्रदेश

+128 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 50 शेयर

कामेंट्स

rahul Oct 19, 2017
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏

GopalSajwan"कुँजाजी" Oct 19, 2017
🕉 नमः शिवाय् *संबंधों की चौखट पर शुभकामना का एक दीपक मेरा भी स्वीकार कीजिए* *शुभ दीपोत्सव*

Vandana Singh Sep 20, 2020

+44 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 157 शेयर
JAGDISH BIJARNIA Sep 20, 2020

+236 प्रतिक्रिया 62 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+22 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 15 शेयर
RAJKUMAR RATHOD Sep 20, 2020

🌅🙏ॐ भास्कराय नमः 🙏🌅 🌻🌹सुप्रभात वंदन 🌹🌻 🌹🌹#भोजन के #प्रकार ..... #भीष्म_पितामह ने #अर्जुन को ४ प्रकार से भोजन न करने के लिए बताया था ...! १ ;- #पहला भोजन .... जिस भोजन की थाली को कोई लांघ कर गया हो वह भोजन की थाली नाले में पड़े कीचड़ के समान होती है ...! २ :-#दूसरा भोजन .... जिस भोजन की थाली में ठोकर लग गई,पाव लग गया वह भोजन की थाली भिष्टा के समान होता है ....! ३ :- #तीसरे प्रकार का भोजन .... जिस भोजन की थाली में बाल पड़ा हो, केश पड़ा हो वह दरिद्रता के समान होता है ....! ४ :-#चौथे नंबर का भोजन .... अगर पति और पत्नी एक ही थाली में भोजन कर रहे हो तो वह मदिरा के तुल्य होता है ..... और सुनो अर्जुन अगर पत्नी,पति के भोजन करने के बाद थाली में भोजन करती है उसी थाली में भोजन करती है या पति का बचा हुआ खाती है तो उसे चारों धाम के पुण्य का फल प्राप्त होता है ...! चारों धाम के प्रसाद के तुल्य वह भोजन हो जाता है ....! और सुनो अर्जुन ..... बेटी अगर कुमारी हो और अपने पिता के साथ भोजन करती है एक ही थाली में तो उस पिता की कभी अकाल मृत्यु नहीं होती .... क्योंकि बेटी पिता की अकाल मृत्यु को हर लेती है ! इसीलिए बेटी जब तक कुमारी रहे तो अपने पिता के साथ बैठकर भोजन करें ! क्योंकि वह अपने पिता की अकाल मृत्यु को हर लेती हैं ...! ☝🏼 स्मरण रखियेगा !👇🏽 "संस्कार दिये बिना सुविधायें देना, पतन का कारण है ...!" "सुविधाएं अगर आप ने बच्चों को नहीं दिए तो हो सकता है वह थोड़ी देर के लिए रोए ... पर संस्कार नहीं दिए तो वे जीवन भर रोएंगे 🌹🌹🌹

+644 प्रतिक्रिया 158 कॉमेंट्स • 434 शेयर

🌷🙏हर हाल में परमात्मा को धन्यवाद दिजीये, और कहिए राजी उसीमें है जिसमें तेरी रज़ा है, जैसे तू रखें उसमें मजा हैं 🙏🌷 1. गलती उसी से होती है, जो मेहनत करता है निकम्मों की ज़िंदगी तो दूसरों की गलती खोजने में ही खत्म हो जाती है। 2. मेरी गलतियां मुझसे कहो दूसरों से नहीं, क्योंकि सुधरना मुझे है उनको नहीं.. 3. करोड़ों की भीड़ में इतिहास मुट्ठी भर लोग ही बनाते हैं, वही रचते हैं इतिहास, जो आलोचना से नहीं घबराते हैं... 4. मुलाकात जरूरी है अगर रिश्ते निभाने हों, वरना लगाकर भूल जाने से पौधे भी सूख जाते हैं। 5. ज़िंदगी के इस रण में खुद ही कृष्ण और खुद ही अर्जुन बनना पड़ता है, रोज़ अपना ही सारथी बनकर जीवन की महाभारत को लड़ना पड़ता है। 6. दुनिया के दो असंभव काम, मां की “ममता” और पिता की “क्षमता” का अंदाजा लगा पाना। 7. ज़माना भी अजीब है, नाकामयाब लोगों का मजाक उड़ाता है .. और कामयाब लोगों से जलता है। 8. ईश्वर ने हमें धरती पर एक खाली चेक की तरह भेजा है, गुणों और योग्यताओं के आधार पर हमें स्वयं अपनी कीमत उसमें भरनी होती है। 9. हर पतंग जानती है, अंत में कचरे में ही जाना है, लेकिन उसके पहले उसे आसमान छू के दिखाना है। 💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦💦

+607 प्रतिक्रिया 119 कॉमेंट्स • 287 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB