Neha Sharma, Haryana
Neha Sharma, Haryana Feb 15, 2020

जय श्री राम जय वीर हनुमान जी जय श्री शनिदेव की... शुभ प्रभात् नमन

+160 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 64 शेयर

कामेंट्स

madanpal singh Feb 15, 2020
jai shree RAM jiii shub parbhat jii Pawan putar Hanuman v Surya potar sani Dev Ki karpa AAP v aapka pariwar par bani rahe jiii 🌷 🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🌹 🕉️🌹

Naresh Rawat Feb 15, 2020
🙏🔔🕉ऊँ श्री हनुमंते नमः ऊँ श्री शनैश्चरापिय नमःजय श्री कृष्ण जय श्री राधे राधे जी 🙏🌷सुप्रभात वंदना सिस्टर जी 🙏🌞आप हमेशा प्रसन्न और स्वास्थ रहो आपका हर पल शुभ हो मंगलमय हो🙏 संकट मोचन हनुमान जी एवं सूर्य देव पुत्र श्री शनिदेव महाराज की असीम अनुकम्पा कृपा दृष्टि आप सपरिवार पर सदैव बनी रहे सिस्टर जी 🙏🌷 जय श्री शनिदेव महाराज🙏🚩जय श्री वीर बंजरगबली महाराज🙏🚩

Sk Porwal1 Feb 15, 2020
🙏🙏🌹shri shanichray nmh.🙏🙏🔥♥️

रमेश भाई ठक्कर Feb 15, 2020
जय श्री कृष्णा राधे राधे जय शनि देव जय बजरंगबली जय श्री राम राम जी की कृपा आप पर आपका परिवार पर सदा ही बनी रहे बहना जिंदगी की आधी शिकायत ऐसे ही ठीक हो जाए अगर लोग एक दूसरे के बारे में बोलने की जगह एक दूसरे से बोलना सीख जाए 🌹🙏सुप्रभात स्नेह वंदन बहना🙏🌹

D.mir Feb 15, 2020
Jay Shri Ram Jay Hanuman Jay Siya Ram ki Jay ho ane vala Har pal khusiya se bhara Rahe Neha ji apka din Shub Rahe Neha ji nice post GooD Morning 👌🏾👌🏾👌🏾👌🏾👌🏾👌🏾🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼

Kamlesh Feb 15, 2020
जय श्री राम

🌼कृष्णा🌼 Feb 15, 2020
🌷🏵️🌷जय श्री कृष्णा जय श्री राम जय श्री माता की जय श्री हनुमानजी की जय श्री शनिदेव जी महाराज की बहन, सादर चरण स्पर्श करता हूँ मेरी प्यारी बहना रानी, श्रीमाता की कृपा आप पर सदा बनी रहे बहना जी,आप को सदा स्वस्थ रखें प्रसन्न रखें सुखी रखें बहना जी,श्री राम भक्त हनुमानजी और महा न्यायाधीश आपकी रक्षा करें बहना जी,आप हमेशा हँसती मुस्कराती रहें बहना रानी🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹

Madanpal Singh Feb 15, 2020
jai shree Ram jii jai bajrag bali subh Ratari jii very nice post jii aapka har pal magalmay ho jiiiii 🌹🙍🕉

दिनकर महाराज लटपटे Feb 15, 2020
राम राम जी🙏🌹आप और आपके परिवारपर पवनपुत्र हनुमान, श्री शनिदेव जी की कृपा सदैव बनी रहे🌹 शुभ रात्री जी🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹

Neha Sharma, Haryana Jan 25, 2020

+57 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 67 शेयर
Neha Sharma, Haryana Jan 25, 2020

जय श्री शनिदेव की शुभ प्रभात् वंदन : जोतिष की दृष्टि से कुछ कार्य जो परेसान करते है बाथरूम नहाने या अन्य क्रियाओं के बाद बाथरूम को गंदा छोड़ देने की आदत या फिर बाथरूम में गंदे कपड़े फैलाने की आदत जन्मकुंडली में चंद्रमा की स्थिति को कमजोर बनाती है। इस आदत की वजह से कॅरियर में नुकसान उठाना पड़ सकता है पैर जमीन पर घसीटकर चलना चलते वक्त पैर जमीन पर घसीटना बुरी आदत मानी जाती है। जिन लोगों में ये आदत होती है उनके भाग्य पर इसका असर पड़ता है। माना जाता है कि जिस तरह पैर घसीटकर चलने में धूल साथ आती है उसी तरह भाग्य पर भी धूल जम जाती है। ये आदत जिंदगी पर राहु के बुरे प्रभाव को दर्शाती है। टेबल पर गंदे बर्तन छोड़ना कई लोगों में खाना खाने के बाद अपने बर्तन गंदे ही टेबल पर छोड़ने की आदत होती है। ऐसे लोग दूसरों का इंतजार करते हैं कि वो उनके बर्तन उठाकर साफ करें। ये आदत बताती है कि व्यक्ति मेहनत करने से भागता है और भविष्य में सफलता पाने के लिए कोशिश भी नहीं करता। खाना खाने के बाद जगह को साफ करना और अपने बर्तन वहां से हटाना शनि और चंद्र दोष को दूर करता है। चेहरा और हाथ गंदे रखना पूरा दिन बाहर बिताने के बाद जब आप वापस घर पहुंचते हैं तो सबसे पहले अपने हाथ-पैर और चेहरा साफ करना चाहिए। यह सिर्फ साफ-सफाई के लिए नहीं होता बल्कि इससे आपके आसपास की नकारात्मक ऊर्जा भी खत्म हो जाती है... पूजाघर की सफाई घर की वो जगह जहां भगवान स्थापित हों या फिर जहां भी आप पूजा करते हों उसे हर दिन साफ करना बहुत जरूरी है। ये वो स्थान होता है जहां से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। भगवान की मूर्ति को गंदी जगह पर रखने से जन्मकुंडली में ग्रहों पर प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से आर्थिक, शैक्षणिक और पारिवारिक जीवन पर बुरा असर पड़ता है। रात में देरी से सोना प्राचीन भारतीय सभ्यता में कहा जाता था कि रात को जब चंद्रमा अपनी पूरी चमक पर हो तब नींद लेनी चाहिए। चंद्रमा की रोशनी हमारे शरीर और मस्तिष्क को शांति प्रदान करती है। इस दौरान सोने से जिंदगी की कई परेशानियों का हल मिलता है अतिथियों को ठंडा पानी देना जब कोई आपके घर में आता है तो वो अपने साथ अपनी ऊर्जा भी साथ लाता है जो घर में आने के बाद आपकी ऊर्जा से टकराती है। घर में आए मेहमान को अगर आप ठंडा पानी देते हैं तो पानी की ठंडक उसकी ऊर्जा को शांत करता जूते-चप्पलों को फैलाना घर में जूते-चप्पलों को इधर उधर फैलाने की आदत दुश्मनों की संख्या में इजाफा करती है। शास्त्रों के मुताबिक अपने जूते-चप्पलों को फैलाना सामाजिक रूप से खुद को कमजोर करना माना जाता है। अस्त-व्यस्त रसोईघर अगर किसी का रसोईघर गंदा और अस्त-व्यस्त है तो इससे कुंडली में मंगल का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जिनकी कुंडली में मंगलदोष है वो अपना रसोईघर हमेशा साफ रखें और माता अन्नपूर्णा की पूजा के लिए अलग स्थान जरूर बनाएं। रोज पेड़ों को पानी देना प्रतिदिन पेड़ों को पानी देना एक अच्छी आदत मानी गई है। जो लोग रोजाना पेड़ों को पानी देते हैं उनके परिवार और प्यार संबंधी रिश्तों में कभी भी कोई दिक्कत नहीं आती। पेड़ों को पानी देने की आदत की वजह से कुंडली में चंद्र, सूर्य, शुक्र और बुध का असुंतलित व्यवहार समाप्त होता है। बिस्तर गंदा रखना बिस्तर पर बिछी चादर को वक्त-वक्त पर बदलना और उसकी जगह नई साफ चादर बिछाना एक अच्छी आदत मानी गई है लेकिन अगर कोई कई दिनों तक एक ही चादर पर सोता हो और कभी भी नींद से जागने के बाद अपना बिस्तर ठीक ना करता हो तो उसे अपनी जिंदगी में अचानक आने वाली मुश्किलों का सामना करना पड़ता तेज आवाज में बोलना जो लोग अपनी असली आवाज में बोलने की जगह तेज आवाज में बात करते हैं, यह उनकी कुंडली में शनि के गलत प्रभाव की ओर इशारा करता है। ऐसे लोगों से शनि नाराज हो जाते हैं। जिंदगी भर आप जो रिश्ते निभाते आए हैं उनपर भी इसका असर पड़ता है। गंदे पैर कुछ लोग साफ-सफाई पर कम ही ध्यान देते हैं खासकर पैरों की सफाई को, लेकिन यह आदत बहुत खराब मानी जाती है। पैर शरीर का वो खास अंग होता है जो शरीर का सारा भार उठाता है... बड़ों का अनादर करना बड़े बुजुर्ग घर के सबसे मजबूत स्तंभ माने जाते हैं, इनकी मौजूदगी ही सकारात्मक ऊर्जा का संचार करती है। बुजुर्गों का अनादर करने से घर में वैभव की कमी होती है। ऐसा करना व्यक्ति के कॅरियर, उसकी सामाजिक छवि और यहां तक कि पूरे परिवार को कई प्रकार से नुकसान पहुंचाती है। थूकते जो लोग घर, दफ्तर या प्राकृतिक जगहों पर थूकते हैं वो वास्तव में अपनी सफलता, सामाजिक आदर और वैभव को थूक देते हैं। ये आदत देवी लक्ष्मी का अपमान मानी जाती है। ड्रग्स और शराब की आदत मदिरापान और ड्रग्स के सेवन की आदत राहु के नकारात्मक प्रभाव का कारण बनती है जो कि तनाव और माइग्रेन की वजह बनती है। ऐसे लोग भले ही कितनी भी कड़ी मेहनत कर लें लेकिन उस मेहनत से मिलने वाली खुशी इन्हें कभी-कभी ही मिल पाती है। l: जानिए गणेश जी का असली मस्तक कटने के बाद कहां गया 〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️ भगवान गणेश गजमुख, गजानन के नाम से जाने जाते हैं, क्योंकि उनका मुख गज यानी हाथी का है। भगवान गणेश का यह स्वरूप विलक्षण और बड़ा ही मंगलकारी है। आपने भी श्रीगणेश के गजानन बनने से जुड़े पौराणिक प्रसंग सुने-पढ़े होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं या विचार किया है कि गणेश का मस्तक कटने के बाद उसके स्थान पर गजमुख तो लगा, लेकिन उनका असली मस्तक कहां गया? जानिए, उन प्रसंगों में ही उजागर यह रोचक बात – श्री गणेश के जन्म के सम्बन्ध में दो पौराणिक मान्यता है। प्रथम मान्यता के अनुसार जब माता पार्वती ने श्रीगणेश को जन्म दिया, तब इन्द्र, चन्द्र सहित सारे देवी-देवता उनके दर्शन की इच्छा से उपस्थित हुए। इसी दौरान शनिदेव भी वहां आए, जो श्रापित थे कि उनकी क्रूर दृष्टि जहां भी पड़ेगी, वहां हानि होगी। इसलिए जैसे ही शनि देव की दृष्टि गणेश पर पड़ी और दृष्टिपात होते ही श्रीगणेश का मस्तक अलग होकर चन्द्रमण्डल में चला गया। इसी तरह दूसरे प्रसंग के मुताबिक माता पार्वती ने अपने तन के मैल से श्रीगणेश का स्वरूप तैयार किया और स्नान होने तक गणेश को द्वार पर पहरा देकर किसी को भी अंदर प्रवेश से रोकने का आदेश दिया। इसी दौरान वहां आए भगवान शंकर को जब श्रीगणेश ने अंदर जाने से रोका, तो अनजाने में भगवान शंकर ने श्रीगणेश का मस्तक काट दिया, जो चन्द्र लोक में चला गया। बाद में भगवान शंकर ने रुष्ट पार्वती को मनाने के लिए कटे मस्तक के स्थान पर गजमुख या हाथी का मस्तक जोड़ा। ऐसी मान्यता है कि श्रीगणेश का असल मस्तक चन्द्रमण्डल में है, इसी आस्था से भी धर्म परंपराओं में संकट चतुर्थी तिथि पर चन्द्रदर्शन व अर्घ्य देकर श्रीगणेश की उपासना व भक्ति द्वारा संकटनाश व मंगल कामना की जाती है। 〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️

+164 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 140 शेयर
white beauty Jan 26, 2020

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 26 शेयर
S.G PANDA Jan 26, 2020

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Sonali Kumar Jan 26, 2020

+85 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Payal Jan 26, 2020

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 9 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB