🎪🌿ॐ नमः शिवाय🌿🎪 🚩⛳आज का हिन्दू पंचांग*⛳🚩 ⛅

🎪🌿ॐ नमः शिवाय🌿🎪 🚩⛳आज का हिन्दू पंचांग*⛳🚩 ⛅

🎪🌿ॐ नमः शिवाय🌿🎪
🚩⛳आज का हिन्दू पंचांग*⛳🚩
⛅ *आज का दिनांक 18 सितम्बर 2017*
⛅ *दिन - सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन - दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु - शरद*
⛅ *गुजरात अनुसार मास - भाद्रपद*
⛅ *मास - अश्विन*
⛅ *पक्ष - कृष्ण*
⛅ *तिथि - दोपहर 01:07 तक त्रयोदशी - दोपहर 01:08 से चतुर्दशी*
⛅ *नक्षत्र - मघा*
⛅ *योग - सिद्ध*
⛅ *राहुकाल - सुबह 08:00 से सुबह 09:31 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:27*
⛅ *सूर्यास्त - 18:37*
⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - आग-दुर्घटना-अस्त्र-शस्त्र-अपमृत्यु से मृतक का श्राद्ध, मधा श्राद्ध, चतुर्दशी का श्राद्ध, मासिक शिवरात्रि*
💥 *विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *चतुर्दशी, श्राद्ध और व्रत के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
🚩⛳हिन्दू पंचांग⛳🚩

🌷 *चिकनगुनिया* 🌷
🌿 *तुलसी व गेंदे का पौधा घर में रखो । नीम का धुआं और गोबर के कंडे में घी की कुछ बुँदे डालकर धुआं करो । इसमें प्राणायाम करो । गौ चन्दन धूप जलाओ । नीम और अशोक के पत्तों का तोरण घर के दरवाजे कर बांधो ।*
🙏🏻 *- Pujya Bapuji Delhi Sarita Vihar-21st Nov. 2010*
🚩⛳हिन्दू पंचांग⛳🚩

🌷 *चतुर्दशी तिथि पर न करें श्राद्ध* 🌷
🙏🏻 *हिंदू धर्म के अनुसार, श्राद्ध पक्ष में परिजनों की मृत्यु तिथि के अनुसार ही श्राद्ध करने का विधान है, लेकिन श्राद्ध पक्ष की चतुर्दशी तिथि (इस बार 18 सितंबर, सोमवार) को श्राद्ध करने की मनाही है। महाभारत के अनुशासन पर्व में भीष्म पितामह ने युधिष्ठिर को बताया है कि इस तिथि पर केवल उन परिजनों का ही श्राद्ध करना चाहिए, जिनकी अकाल मृत्यु हुई हो।*
💥 *इस तिथि पर अकाल मृत्यु (हत्या, दुर्घटना, आत्महत्या आदि) से मरे पितरों का श्राद्ध करने का ही महत्व है। इस तिथि पर स्वाभाविक रूप से मृत परिजनों का श्राद्ध करने से श्राद्ध करने वाले को अनेक प्रकार की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में उन परिजनों का श्राद्ध सर्वपितृमोक्ष अमावस्या के दिन करना श्रेष्ठ रहता है।*
🙏🏻 *महाभारत के अनुसार जिन पितरों की मृत्यु स्वाभाविक रुप से हुई हो, उनका श्राद्ध चतुर्दशी तिथि पर करने से श्राद्धकर्ता विवादों में घिर जाता हैं। उन्हें शीघ्र ही लड़ाई में जाना पड़ता है। जवानी में उनके घर के सदस्यों की मृत्यु हो सकती है।*
🙏🏻 *चतुर्दशी श्राद्ध के संबंध में ऐसा वर्णन कूर्मपुराण में भी मिलता है कि चतुर्दशी को श्राद्ध करने से अयोग्य संतान होती है।*
🙏🏻 *याज्ञवल्क्यस्मृति के अनुसार, भी चतुर्दशी तिथि को श्राद्ध नहीं करना चाहिए। इस दिन श्राद्ध करने वाला विवादों में फंस सकता है।*
🙏🏻 *चतुर्दशी तिथि पर अकाल (हत्या), आत्महत्या (दुर्घटना), रुप से मृत परिजनों का श्राद्ध करने का विधान है।*
🙏🏻 *जिन पितरों की अकाल मृत्यु हुई हो व उनकी मृत्यु तिथि ज्ञात नहीं हो, उनका श्राद्ध चतुर्दशी तिथि को करने से वे प्रसन्न होते हैं।*
🚩⛳ हिन्दू पंचांग⛳🚩

🍁🍁वो कागज की दौलत ही क्या*
*जो पानी से गल जाये और*
*आग से जल जाये*

*दौलत तो दुआओ की होती हैं*
*न पानी से गलती हैं*
*न आग से जलती हैं...*

*आनंद लूट ले बन्दे,*
*प्रभु की बन्दगी का।*
*ना जाने कब छूट जाये,*
*साथ जिन्दगी का।।🍁🍁

🙏🌹हरि ॐ🌹🙏

🌹सुप्रभात🌹

+230 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 199 शेयर

कामेंट्स

ramnarayanbehl Sep 18, 2017
sir panchangn aur tips achelaga .panchangn shub me early dalo🙏

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB