+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 18 शेयर
सैंडी Apr 19, 2021

*मेडिकल साइंस से कहीं बहुत आगे है स्वदेशी भारतीय आयुर्वेद विज्ञान* .... *विदिशा*: *प्रयोग किया हुआ नुस्खे की सामग्री घर पर अब अवश्य रखें और हमारे बाबाजी आत्मानंद स्वामीजी का कोरोना जैसा महसूस होने वाला अनुभव को सबके साथ साझा किया है चीनी राष्ट्राध्यक्ष शी- जिनपिंग की विस्तार वादी मंशा को स्वयं प्रयासरत रहकर विफल अवश्य करे एवं अब भी सावधानी नहीं बरतने वाले करोड़ों की संख्या में समय से पहले ही मरने के लिए "है तैयार” प्रत्येक वर्ग जगा दें अचूक नुस्खा भेज कर समय रहते मौत के आगोश में जाने से अवश्य बचा ले जनहित में जारी* 🚩 *स्वदेशी अपनाओ अपने को मरने से बचाओ*🚩 कोरोना वायरस का घरेलू उपचार, covid 19

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Ravita Devi Apr 19, 2021

+25 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 37 शेयर
prakash patel Apr 19, 2021

💎 लोबिया के स्वास्थवर्धक गुण रंग : लोबिया का रंग हल्का हरा और पीला होता है। स्वाद : इसका स्वाद फीका होता है। स्वरूप : लोबिया एक प्रकार का दाना होता है, जिसकी फली लंबी और वाकला के समान होती है, इसके फूल नीले और पत्ते हरे होते हैं। 💎 खूबसूरत त्वचा, वजन कम करने के & हर गंभीर बिमारी के एक्यूप्रेशर पॉइंट की जानकारी के लिए 📞👉 +91 9974592157 🌀 MSG 👉 +91 7016609049 हमारा संपर्क करें। ✅और हर गंभीर बिमारी मिटाये। https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/ स्वभाव : यह गर्म होती है। हानिकारक : लोबिया देर से हजम होता है। दोषों को दूर करने वाला : सोंठ, जीरा और नमक, लोबिया में व्याप्त दोषों को दूर करते हैं। तुलना : बाकला से लोबिया की तुलना की जा सकती है। गुण : लोबिया शरीर को उज्जवल करती है व सूजन को पचाती है तथा इससे पेशाब खुलकर आता है। यह सीने और फेफड़े को नरम करती है, वीर्य और दूध को बढ़ाता है। इसका प्रयोग धातु को गाढ़ा करता है। लोबिया खाने से शरीर मोटा शक्तिशाली होता है। गर्भवती महिला के लिए लोबिया का सेवन करना बच्चे के जन्म के समय लाभकारी होता है और यह पेट के खून को साफ करता है। 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट अपनाये और हर गंभीर बिमारी मिटाये। https://www.facebook.com/groups/367351564605027/ विभिन्न रोगों में उपयोग : तुण्डिका शोथ (टांसिल): 100 ग्राम लोबिया को पानी में उबालकर हल्का गर्म करके पीने से तुण्डिका शोथ (टांसिलों) में बहुत आराम आता है। इससे टांसिलों के दर्द और सूजन दोनों नष्ट हो जाते हैं। ☘️सभी जानकारी, घरेलू और आयुर्वेदिक चिकित्सा के इस इलाज केवल शैक्षिक हेतु के लिए है.. उपचार के लिए हमेशा चिकित्सक की सलाह ले। 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट की जानकारी के लिए 📞👉 +91 9974592157 🌀 MSG 👉 +91 7016609049 हमारा संपर्क करें। और हर गंभीर बिमारी मिटाये।

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Madan Kaushik Apr 19, 2021

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻*  गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। श्रीमते रघुवीराय सेतूल्लङ्घितसिन्धवे। जितराक्षसराजाय रणधीराय मङ्गलम्।। भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।।  क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ मित्रों...! सबसे पहले तो नित्यप्रति आपकी प्रिय पोस्ट "नक्षत्रवाणी" की पोस्टिंग में होने वाले विलंब के लिए आप सभी से हृदयपूर्वक क्षमा प्रार्थना सहित...🙏🙏 आप सभी परम प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य/पं.मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸 जय गणेश 🌸 जय अंबे 🌸 *जय श्री कृष्ण*🌷मंगल प्रभात🌷इसी के साथ आप सभी सनातनी, धर्म-उत्सवप्रेमी, राम-कृष्ण-हरि-शिवभक्त, शक्ति उपासक व राष्ट्रप्रेमियों को आज **चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सुदी सप्तमी/सातम की, पवित्र नवरात्रि के सप्तम दिवस (मां कालरात्रि पूजन दिवस) की, मां कालरात्रि व्रत - पूजा, श्री दुर्गापूजा (बंगाल), वासन्ती दुर्गा पूजारम्भ होने की, महानिशा पूजा, श्री भानु सप्तमी की, चैत्र नवपद आयंबील (ओली) प्रारम्भ होने की (जैन समाज), भारत द्वारा उपग्रह क्षेत्र में प्रवेश दिवस (1975) की एवं विश्व लीवर दिवस व विश्व साईकिल दिवस/World BICYCLE DAY** की भी बहुत-बहुत हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं...!!!** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर...🙏 ```༺⊰🕉⊱༻ ``` *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻* ☘️🌸!! ॐ श्री गणेशाय नमः!! 🌸☘️ ****************************** 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक *१९ अप्रैल सन २०२१ ईस्वी* चन्द्रवासर/सोमवार/Monday* *🇮🇳 राष्ट्रीय सौर दि. ३०* *चैत्र (मधुमास)* प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग:««« 👉 ध्यान दें **यहाँ दिये गए तिथि, नक्षत्र, योग व करण आदि के समय इनके समाप्ति काल हैं और सूर्योदयास्त व चंद्रोदय का गणना स्थल मुंबई हैं।** कलियुगाब्द......5122 (५१२२) विक्रम संवत्.....२०७७/2077 (आंनद नाम) शक संवत्......१९४३/1943 मास....चैत्र (सं./हिंदी)/चैत (मारवाड़ी/पंजाबी) पक्ष........शुक्ल/चानन पक्ष/सूदी/उतरतो चैत **तिथी...(०७/07) सप्तमी/सातम** रात्रि 12.01 पर्यंत पश्चात अष्टमी **वार/दिन...चन्द्रवासर/सोमवार/Monday** **नक्षत्र........पुनर्वसु🌠** दुसरे दिन प्रातः 06.53 पर्यंत पश्चात पुष्य* योग...........सुकर्मा संध्या 08.07 पर्यंत पश्चात धृति करण.........गर प्रातः 11.23 पर्यंत पश्चात वणिज 24.01 सूर्योदय.......प्रातः 06.18.00 पर सूर्यास्त........सांय 06.57.00 पर चंद्रोदय........प्रातः 11.28.00 पर। रवि(अयन-दृक)......उत्तरायण रवि(अयन-वैदिक)...उत्तरायण **ऋतु (दृक).....वसंत** **ऋतु वैदिक)...वसंत** **सूर्य राशि.......मीन** **चन्द्र राशि......मिथुन (रात्रि 12.29 पर्यंत पश्चात कर्क)** **गुरु राशी.......कुंभ (पूर्व में उदय, मार्गी)** 🚦 *दिशाशूल :-* पूर्व दिशा- यदि बहुत ही आवश्यक हो तो की खोए की मिठाई का सेवन करके या दर्पण देखकर यात्रा प्रारंभ करें। ☸ शुभ अंक.....१/ 1 🔯 शुभ रंग........श्वेत/सफेद ⚜️ *अभिजीत मुहूर्त :-* मध्याह्न 12.12 से 01.03 तक। 👁‍🗨 *राहुकाल :-* प्रात: 07.53 से 09.28 तक । 👁‍🗨 *गुलिक काल :-* दिन 02.13 से 03.47 तक। ********************* 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-* *मेष* 05:48:34 07:30:41 *वृषभ* 07:30:41 09:29:18 *मिथुन* 09:29:18 11:43:00 *कर्क* 11:43:00 13:59:10 *सिंह* 13:59:10 16:10:59 *कन्या* 16:10:59 18:21:38 *तुला* 18:21:38 20:36:16 *वृश्चिक* 20:36:16 22:52:26 *धनु* 22:52:26 24:58:04 *मकर* 24:58:04 26:45:13 *कुम्भ* 26:45:13 28:18:48 *मीन* 28:18:48 29:48:34 ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 06.06 से 07.40 तक अमृत प्रात: 09.15 से 10.50 तक शुभ दोप. 01.59 से 03.34 तक चंचल अप. 03.34 से 05.09 तक लाभ सायं 05.09 से 06.44 तक अमृत सायं 06.44 से 08.09 तक चंचल । *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। *****""""""******"""*******"""******** आज के विशेष योगायोग/युति संयोग, वेध, ग्रहचार (ग्रहचाल), व्रत/पर्व/प्रकटोत्सव, जयंती/जन्मोत्सव व मोक्ष दिवस/स्मृतिदिवस/पुण्यतिथि आदि 🙏👇:- 👉 **आज चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सूदी चन्द्रवासर/सोमवार/Monday को हिंदु नववर्ष का 7 वां/सातवाँ दिन, सप्तमी/सातम 24:01 बजे पर्यंत रात्रि 12.01 बजे तक तत्पश्चात् अष्टमी शुरु, पवित्र नवरात्रि का सप्तम दिवस (मां कालरात्रि व्रत - पूजा, श्री दुर्गापूजा प्रारम्भ (बंगाल), वासन्ती दुर्गा पूजारम्भ, महानिशा पूजा, श्री भानु सप्तमी), विघ्नकारक भद्रा 24:02 बजे से , चैत्र नवपद आयंबील (ओली) प्रारम्भ (जैन समाज), श्री अन्नपूर्णा परिक्रमा प्रारम्भ 24:02 बजे से, अशोक कलिका प्राशन, सूर्य सायन वृष राशि में 25:54 पर, ग्रीष्मऋतु प्रारम्भ, श्री अनन्त लक्ष्मण कन्हेरे शहीदी दिवस, भारत द्वारा उपग्रह क्षेत्र में प्रवेश दिवस (1975), विश्व लीवर दिवस व विश्व साईकिल दिवस/BICYCLE DAY.** ************************* **🕉 ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चन्द्राय नमः।।🚩** **🕉️ ॐ नमः शिवाय ‼️🎪🚩* 📿*आज का उपासना मंत्र :- ॥ ॐ शान्तायै नम: ॥ *********************** ⚜ 👉🙏☸*महत्वूर्ण तिथि विशेष :*🚩 **चैत्र कृष्णपक्ष/बदी सप्तमी/सातम, पवित्र नवरात्रि का सप्तम दिवस (मां कालरात्रि पूजन दिवस), श्री दुर्गापूजा प्रारम्भ (बंगाल), वासन्ती दुर्गा पूजारम्भ, महानिशा पूजा, श्री भानु सप्तमी व्रत।** 🙏 💥 **विशेष ध्यातव्य👉 सप्तमी/सातम को ताड़फल का किसी भी रुप में सेवन करना देह व बुधिनाशक होने से पूर्णतः वर्जित है।** साभार: 🌞 *~हिन्दू पंचांग ~* 🌞।** 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 👉 **🏡वास्तु टिप्स🏢🏡 1) वास्तु विज्ञान के अनुसार घर या ऑफिस के तहखाने का उपयोग कोचिंग, दफ्तर व गोदाम के रूप में ही ठीक रहता है। इसे कभी भी शयनकक्ष नहीं बनाना चाहिए। 2) गृहवास्तु के अनुसार यथासंभव शयनकक्ष में दर्पण न लगाएँ। इससे घर के सदस्यों के विचारों में मतभेद और कलह की स्थिति उत्पन्न होती रहती है।** 3) यदि आपके घर से अगर अकारण ही बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में निरंतर कलह रहता है, तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है (अन्यथा पतंजलि आदि का ले लें), इससे घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला लें और रोज़ सुबह-शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजा-आरती के बाद छिड़काव भी करें फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखें। 4) **घर की मुख्य सीढ़ियाँ सदैव दक्षिण या पश्चिम की ओर होनी चाहिए। ईशान में कभी भी होनी चाहिए। विशेष परस्थिति में वायव्य तथा आग्नेय कोण में बना सकते हैं। *****""""""******"""*******"""******** 📢 *संस्कृत सुभाषितानि :-* अनिष्टादिष्टलाभेऽपि न गतिर्जायते शुभा । यत्रास्ते विषसंसर्गोड्मृतमपि तत्र मृत्यवे ॥ अर्थात : अनिष्ट में से इष्ट लाभ होता हो तो फिर भी अच्छा फ़ल नहीं मिलता, जहाँ विषका संसर्ग हो वहाँ अमृत भी मृत्यु निपजाता है । *💊💉आज का आरोग्य मंत्र 🌱🌿* *खुशी के लिए सात योग -* *1. मुक्तासन -* यह आसन विशेष रूप से तनाव को ध्यान में रखकर और राहत देने के लिए योग विशेषज्ञ द्वारा सिफारिश की जाती है। यह मुद्रा खुशी को बढ़ावा देने, अवसाद की भावनाओं को कम करने में सहायता करता है। मानसिक लाभ के अलावा यह बाह और कलाई, पैरों, नितंबों, पेट और रीढ़ की हड्डी के चारों ओर मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है। यह अस्थमा, पीठ दर्द, बांझपन, और ऑस्टियोपोरोसिस को कम करने में मदद करने के लिए भी जाना जाता है। *****""""""******"""*******"""******** ⚜*🐑🐂🦔 आज का संभावित चन्द्र राशिफल🦂🐊🐟:- 👉 किंतु पहले सबसे एक करबद्ध निवेदन🙏 मित्रों सर्वप्रथम तो कुछ तकनीकी कारणों से आपको आपकी प्रिय पोस्ट नक्षत्रवानी विलंब से मिल पाती है इसके लिए मैं आप सभी से क्षमा प्रार्थी हूँ। तत्पश्चात मैं निवेदन करना चाहता हूँ कि आपकी इस परमप्रिय ज्ञानवर्धक 'अपना पोस्ट' *नक्षत्रवाणी* को आप जितना हो सकता हो उतना लाइक-शेयर तथा फॉरवर्ड तो करें ही, आलस्य त्याग कर कृपया इसपर अपनी बुद्धि व विवेक के अनुसार अपने सही-सही कमैंट्स भी अवश्य करें। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे और अपने फीडबैक से व लाइक/सराहना करके भी अवश्य ही मेरा उत्साहवर्धन करेंगे। नक्षत्रवाणी के संदर्भ में आप सभी के बहुमूल्य सुझाव भी सदैव सादर आमंत्रित हैं।धन्यवाद...!!! **ख़ुशख़बर।। सबसे बड़ी ख़ुशख़बर।।**👇 🙏👉 किसी भी जन्मलग्न या जन्मराशि या अपनी प्रसिद्ध राशि के लिए भाग्यशाली रत्न-रुद्राक्ष हमसे जानें फ्री ऑफ Charge यानि पूर्णतः निःशुल्क व निःसंकोच। इसके अलावा लैब टेस्टेड उच्चतम क्वालिटी के रत्न-रुद्राक्ष प्राप्त करने के लिए भी हमसे संपर्क करें :👇 9987815015 या 9991610514 पर। 🙏👉 प्रियवरों शिवकृपा प्राप्ति के सबसे बड़े शुभावसर 'महाशिरात्रि' के पावन पर्व पर (यानि कि 11 मार्च को) भगवान महाकालेश्वर शिव जो कि एकादश रुद्र रूपों में भी तीनों लोकों में प्रस्फुटित होते हैं, उनके साक्षात स्वरूप व कृपाप्रसाद *पंचमुखी 'रुद्राक्ष रत्न*" जिसे रुद्र के अक्ष या भगवान शिव के अक्ष के रूप में भी जाना जाता है, को इसबार फिर से इस परम शुभ अवसर पर विधिवत् *अभिमंत्रित* करके आपको आपके सभी दैहिक-दैविक-भौतिक कष्टों से मुक्ति दिलाने हेतु, विशेषतः इस **कोरोना काल** में बहुत अधिक बढ़ चुके मानसिक संताप (Mental stress/depression) तथा आर्थिक संताप को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए, इस समय आपकी आर्थिक तँगीं की स्थिति को समझते हुए **केवल मात्र 111₹** में आप शिवभक्त सुधि पाठकों के लिए उपलब्ध करवाना प्रारंभ किया हैं। जिसे भी यह दिव्य सर्वसिद्ध **रुद्राक्ष रत्न** चाहिए, वे कृपया हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। ध्यान रखें यह योजना सीमित समय के लिए ही है, इसलिए इस सुनहरे अवसर को आप चूकें नहीं। 🙏 👉 **एक विशेष व अति शुभ सूचना:** **मित्रों हमारे 'ऐस्ट्रो वर्ल्ड' के दिव्य कोष में शुद्ध केसर (काश्मीरी व ईरानी A तथा B दोनों ग्रेड की), पारिजात, चम्पा, अनन्त, पुन्नाग, श्वेत/सफ़ेद ऊद, केसर, खस, भीना गुलाब व असली चंदन जैसे दिव्य इत्रों की पूरी रेंज, भीमसेनी कर्पूर, उत्तम क्वालिटी की शुद्ध गुग्गल व शुद्ध लोबान, शुद्ध राशि रत्न-उपरत्न, असली नेपाली रुद्राक्ष रत्न व गण्डकी नदी से प्राप्त असली शालग्राम जी भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा हमारे इस संग्रहालय में और भी कई दिव्य व चमत्कारिक वस्तुएं उपलब्ध हैं। ये सभी दिव्य वस्तुएं हम अपने ज्योतिष-वास्तु एवं वैदिक पूजा-अनुष्ठानों के नियमित यजमानों के लिए बहुत ही सही रेट पर और कम मार्जिन पर देते हैं तथा इनके असली होने की मनी बैक गारंटी के साथ भी। तो आप 'नक्षत्रवाणी' के सभी पाठक भी हमारे परम प्रिय होने से इसका लाभ निःसन्देह ले सकते हैं। इसके लिए आप हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। जल्दी रिप्लाई ना मिलने पर आप कॉल भी कर सकते हैं। धन्यवाद...!!!** 🙏ध्यान दें मित्रों 👉 **जिनका भी 'FB यानि फ़ेसबुक' अकाउंट नहीं है और जो पाठकगण हमारे द्वारा भेजे जा रहे 'FB लिंक' के माध्यम से 'नक्षत्रवाणी पोस्ट' नहीं देख या पढ़ पा रहे हों वे इसके बारे में हमें अविलंब बताएं ताकि उन्हें बिना FB लिंक वाली 'पूरी पोस्ट' भेजी जा सके। इसके अलावा जिन पाठक गणों को नक्षत्रवाणी पोस्ट एक से अधिक बार प्राप्त हो रही हो, वे भी हमें तुरंत सूचित करने की कृपा करें ताकि उन्हें हमारी एक से अधिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट्स/BCLs से उन्हें रिमूव किया जा सके। आप हमें प्रतिक्रिया नहीं देते हैं तो हमें तो यही लगेगा कि आप को नक्षत्रवाणी केवल एक ही बार प्राप्त हो रही है। इसलिए हमें सूचित अवश्य करें। धन्यवाद...!!! *****""""""******"""*******"""******** देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐐 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड से मनोनुकूल लाभ होगा। बेरोजगारी के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। कोई बड़ी समस्या का हल सहज ही होगा। समय अनुकूल है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* विवाद को बढ़ावा न दें। फालतू खर्च होगा। अपेक्षाकृत कार्यों में विलंब होगा। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। किसी व्यक्ति के बहकावे में न आएं। परिवार के किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर खर्च होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में नि‍श्चितता रहेगी। चिंता तथा तनाव रहेंगे। जल्दबाजी न करें। 👫🏻 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* यात्रा लाभदायक रहेगी। रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। आय में वृद्धि होगी। लाभ में वृद्धि होगी। कारोबार में वृद्धि होगी। शेयर मार्केट से लाभ होगा। व्यापार ठीक चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। समय की अनुकूलता का लाभ लें। विरोधी सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। पारिवारिक चिंता रहेगी। जो‍खिम न लें। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* किसी बड़े काम को करने की तीव्र इच्छा जागृत होगी। आर्थिक उन्नति की योजना बनेगी। व्यापार लाभदायक रहेगा। कार्यस्थल पर परिवर्तन हो सकता है। नए उपक्रम प्रारंभ हो सकते हैं। कार्यसिद्धि होगी। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। मान-सम्मान मिलेगा। जल्दबाजी से काम बिगड़ सकते हैं। थकान व कमजोरी रहेगी। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। तीर्थयात्रा की योजना बनेगी। कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। निवेश में सोच-समझकर हाथ डालें। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। दुष्टजनों से सावधान रहें। प्रमाद न करें। 🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* विवाद को बढ़ावा न दें। चोट व दुर्घटना के प्रति सावधानी आवश्यक है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बनते कामों में विघ्न आ सकते हैं। चिंता तथा तनाव रहेंगे। बेकार बातों की तरफ ध्यान न दें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय होगी। फालतू खर्च होगा। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। शत्रु पस्त होंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। व्यापार लाभदायक रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। मानसिक बेचैनी रहेगी। सभी तरफ से सफलता प्राप्त होगी। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। ऐश्वर्य के साधनों पर अधिक व्यय होगा। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* किसी व्यक्ति के बहकावे में न आएं। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। समय की अनुकूलता का लाभ लें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। जोखिम न उठाएं। प्रसन्नता रहेगी। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* कानूनी अड़चन सामने आएगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। बेचैनी रहेगी। व्यर्थ दौड़धूप रहेगी। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। मित्रों के साथ समय मनोरंजक व्यतीत होगा। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। रोजगार मिलेगा। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* कोई बड़ी बाधा उठ खड़ी हो सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें, गुम हो सकती है। विवाद के बढ़ावा न दें। बुरी खबर मिल सकती है, धैर्य रखें। किसी व्यक्ति विशेष से कहासुनी हो सकती है। मेहनत अधिक होगी। लाभ के अवसर टलेंगे। मानसिक बेचैनी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* लाभ के अवसर हाथ आएंगे। मेहनत का फल मिलेगा। मान-सम्मान मिलेगा। मित्रों का सहयोग कर पाएंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यापार लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। ऐश्वर्य के साधनों पर खर्च होगा। घर-बाहर सुख-शांति रहेगी। भाग्य का साथ रहेगा। प्रमाद न करें। 🐋 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना मिलेगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। बुद्धि का प्रयोग करेंग। कार्य में सफलता मिलेगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। लाभ में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। समय सुखपूर्वक व्यतीत होगा। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ *🎊🎉🎁 आज जिनका जन्मदिवस या विवाह की वर्षगांठ हैं, उन सभी प्रिय मित्रो को कोटिशः शुभकामनायें🎁🎊🎉* ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ और ज़रा इन बातों पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बीमारी आपको छोड़ ही नहीं रही है...? घर का हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, दक्षिणावर्ती शँख (जो कि घर में विधिवत रखने मात्र से ही बदल दे आपका भाग्य हमेशां-2 के लिए...!), सियारसिंगी, भुजयुग्म (हत्थाजोड़ी, जो तिज़ोरी आपकी कभी ख़ाली ना होने दे), नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺आपका सप्ताहारंभ आदि वैद्य (भगवान धन्वंतरि जी) की कृपा से परम मंगलमय हो मित्रो! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
prakash patel Apr 19, 2021

🏡 गले के इलाज के लिए & कीटाणुओं का नाश करे.. गोमूत्र का सेवन... 💎 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट अपनाये और हर गंभीर बिमारी मिटाये। 🏡 गले के इलाज के लिए गौ मुत्र को गले में खराश के इलाज के लिए कुल्ला करने के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। कुल्ला करने के लिए, गोमुत्र अर्क उपयोग करने की बजाए ताजा गौ मुत्र का प्रयोग करें। (गौमूत्र का अर्क गौमूत्र के डिस्टिलेशन से मिलता है।) एक चम्मच गौ मुत्र लेकर हल्का सा गर्म करें। अब इसमें एक चम्मच शहद, एक चुटकी हल्दी पाउडर की अच्छी तरह मिलाएं। अब इस मिश्रण से 1-2 मिनट के लिए कुल्ला करें। 🏡 कीटाणुओं का नाश करे गौमूत्र शरीर में घुसे कई किस्‍म के कीटाणुओं का खात्‍मा करता है। आयुर्वेद अनुसार शरीर में तीनों दोषों की गड़बड़ी की वजह से बीमारियां फैलती हैं, लेकिन गौमूत्र पीने से बीमारियां दूर हो जाती हैं। https://play.google.com/store/apps/details?id=com.iskm.cowuricfayde ☘️सभी जानकारी, घरेलू और आयुर्वेदिक चिकित्सा के इस इलाज केवल शैक्षिक हेतु के लिए है.. उपचार के लिए हमेशा चिकित्सक की सलाह ले। https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/ 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट की जानकारी के लिए 📞👉 +91 9974592157 🌀 MSG 👉 +91 7016609049 हमारा संपर्क करें। और हर गंभीर बिमारी मिटाये। https://www.facebook.com/groups/367351564605027/

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
prajapati janak m. Apr 18, 2021

+1 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर

ज्वर कैसा भी क्यों न हो :-> गर्मियों में:>तुलसी की पत्तियाँ ग्यारह,काली मिर्च सात दोनों को 60 ग्राम जल में रगङकर प्रातः और सायं रोगी को पिलायें । बरसात और सर्दियों में यही 124 ग्राम जल में उबालकर आधा रह जाने पर रोगी को पिलायें । काली मिर्च थोड़ी कूटकर डालनी चाहिए । बारह साल से कम आयु वाले बच्चों को चौथाई मात्रा (तीन तुलसी की पत्तियाँ,दो काली मिर्च) दस ग्राम पानी में पीसकर आयु को ध्यान में रखते हुए दें । मिठास के बिना काम न चले तो दस ग्राम मिश्री का चूर्ण ङाल सकते हैं । आवश्यकतानुसार दो दिन से सात दिन तक पिलाएँ । दूसरी विधि:>सात तुलसी की पत्तियाँ ,सात काली मिर्च और सात बताशे (या दस ग्राम मिश्री) तीन कप पानी में ङालकर उबालें । एक कप रह जाने पर गरम -गरम पीकर बदन ढककर दस मिनट लेट जाएँ । बुखार , फ्लू , मलेरिया , सर्दी का जुकाम , हरारत में रामबाण है । आवश्यकतानुसार दिन में दो बार प्रातः एवं रात्रि सोते समय दो -तीन दिन लें । सहायक उपचार:> वात और कफ ज्वर में उबालकर ठंडा किया हुआ जल पिलाना चाहिए । औटाया हुआ जल वात तथा कफ ज्वर नष्ट करता है । जो जल औटाते-औटाते धीरे-धीरे झाग रहित तथा निर्मल हो जाए तथा आधा शेष रह जाय उसे ही औटा हुआ जल या 'उष्णोदक' समझना चाहिए । आयुर्वेदानुसा एक किलो का पाव भार पका हुआ गरम जल कफ-ज्वर का नाश करता है । एक किलो का तीन पाव गरम जल पित्त-ज्वर का नाश करता है । एक दो बार उबाला हुआ पका जल रात्रि में पीने से कफ,वात और अजीर्ण नष्ट होते हैं । न्यूमोनिया में 250 ग्राम जल में एक लौंग ङालकर दस मिनट तक उबालें । साठ ग्राम की मात्रा से यह पानी दिन में दो - तीन बार रोगी को दें । अत्यंत लाभप्रद है सभी ज्वरों में बेदाना (मीठा अनार) बिना किसी हिचक के दिया जा सकता है । इससे ज्वर के समय की प्यास भी शांत होती है ।ज्वर में साबूदाना,दूध, चीकू ,मौसमी पथ्य है ज्वर उतारने के लिए हथेलियों और पगतलियों को घिया के गोल टुकङों से उँगलीयो की तरफ झाङते हुए मलें अथवा कपड़े से उँगलीयों की तरफ झाङें । कागजी नींबू के पेड़ की पत्तियाँ लेकर हाथ से मलकर महिन कपङे में बांधकर बुख़ार वाले रोगी के नाक के पास ले जाकर सूघाएँ ।कम से कम सुबह-शाम सूंघाएँ । पुराना बुखार उतारने के लिए:> तुलसी की पत्तियाँ सात,काली मिर्च चार,पीपर (पिप्पली) एक तीनों वस्तुओं को 60 ग्राम पानी के साथ बारीक पीसकर 10 ग्राम मिश्री मिलाकर नित्य सवेरे खाली पेट रोगी को पिलाएँ तो महिनों का ठहरा हुआ जीर्ण-ज्वर ठीक हो जाता है आवश्यकतानुसार दो-तीन सप्ताह पिलाएँ । अपने विचार (कमेन्ट)अवश्य लिखे जिससे कि पोस्ट करने में उत्साह बना रहें वसुदेव कुटुंबकम् जय जय श्री राधे 🙏🙏

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 17 शेयर
sn.vyas Apr 17, 2021

. *सुन्नपन का शरीर में होना* कभी बैठे-बैठे या काम करते हुए आपके शरीर का कोई अंग या त्वचा सुन्नपन हो जाता है कुछ लोग देर तक एक ही मुद्रा में बैठकर काम करते या पढ़ते-लिखते रहते हैं इस कारण रक्त वाहिनीयों तथा मांसपेशियों में शिथिलता आ जाने से शरीर में सुन्नपन हो जाता है। शरीर के किसी अंग के सुन्न होने का प्रमुख कारण वायु का कुपित होना है। इसी से वह अंग भाव शून्य हो जाता है। ये खून के संचरण में रुकावट पैदा होने से सुन्नता आती है। यदि शरीर के किसी विशेष भाग को पूरी मात्रा में शुद्ध वायु नहीं मिलती तो भी शरीर का वह भाग सुन्न पड़ जाता है। जो अगं सुन्न्न हो जाता है उसमें हल्की झनझनाहट होती है और उसके बाद लगता है कि वह अंग सुन्न हो गया है तब सुई चुभने की तरह उस अंग में धीरे-धीरे लपकन-सी पड़ती है लेकिन दर्द नहीं मालूम पड़ता है। *सुन्नपन होने पर करे ये उपाय* सुबह के समय शौच आदि से निपट कर सोंठ तथा लहसुन की दो कलियों को चबाकर ऊपर से पानी पी लें और यह प्रयोग आठ-दस दिनों तक लगातर करने से सुन्नपन स्थान ठीक हो जाता है। पपीते या शरीफे के बीजों को पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर सुन्नपन होने वाले अंगों पर धीरे-धीरे मालिश करें। पीपल के पेड़ की चार कोंपलें सरसों के तेल में मिलाकर आंच पर पकाएं और फिर छानकर इस तेल को काम में लाएं। तिली के तेल में एक चम्मच अजवायन तथा लहसुन की दो कलिया कुचलकर डालें और फिर तेल को पकाकर और छानकर शीशी में भर लें इस तेल से सुन्नपन स्थान की मालिश करें। बादाम का तेल मलने से सुन्न स्थान ठीक हो जाता है। बादाम घिसकर लगाने से त्वचा स्वाभाविक हो जाती है। सोंठ, पीपल तथा लहसुन सभी बराबर मात्रा में लेकर सिल पर पानी के साथ पीस लें और फिर इसे लेप की तरह सुन्नपन स्थान पर लगाएं। कालीमिर्च तथा लाल इलायची को पानी में पीसकर त्वचा पर लगाएं। 100 ग्राम नारियल के तेल में 5 ग्राम जायफल का चूर्ण मिलाकर त्वचा या अंग विशेष पर लगाएं। एक गांठ लहसुन और एक गांठ शुंठी पीस लें इसके बाद पानी में घोलकर लेप बना लें तथा इस लेप को त्वचा पर लगाएं। रात को सोते समय तलवों पर देशी घी की मालिश करें इससे पैर का सुन्नपन खत्म हो जाएगा।

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर
Madan Kaushik Apr 18, 2021

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻*  गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। श्रीमते रघुवीराय सेतूल्लङ्घितसिन्धवे। जितराक्षसराजाय रणधीराय मङ्गलम्।। भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।।  क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ मित्रों...! सबसे पहले तो नित्यप्रति आपकी प्रिय पोस्ट "नक्षत्रवाणी" की पोस्टिंग में होने वाले विलंब के लिए आप सभी से हृदयपूर्वक क्षमा प्रार्थना सहित...🙏🙏 आप सभी परम प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य/पं.मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸 जय गणेश 🌸 जय अंबे 🌸 *जय श्री कृष्ण*🌷मंगल प्रभात🌷इसी के साथ आप सभी सनातनी, धर्म-उत्सवप्रेमी, राम-कृष्ण-हरि-शिवभक्त, शक्ति उपासक व राष्ट्रप्रेमियों को आज **चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सुदी षष्टी/छठ की, नवरात्रि के छठे दिन - मां कात्यायनी व्रत - पूजन दिवस की, श्री सूर्य षष्ठी व्रत/पर्व, स्कन्द षष्ठी व्रत (गया में प्रसिद्ध), श्री अशोक षष्ठी व्रत, (बंगाल) की, गुरु श्री अंगददेव जयन्ती (नानकशाहीनुसार), गुरू श्री तेगबहादुर जयन्ती (नानकशाहीनुसार) एवं श्री रामानुजाचार्य जयन्ती (तमिल कलेन्डर के अनुसार 16 मई को)** की भी बहुत-बहुत हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं...!!!** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर...🙏 ```༺⊰🕉⊱༻ ``` *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻* ☘️🌸!! ॐ श्री गणेशाय नमः!! 🌸☘️ ****************************** 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक *१८ अप्रैल सन २०२१ ईस्वी* आदित्यवासर/रविवार/Sunday* *🇮🇳 राष्ट्रीय सौर दि. २९* *चैत्र (मधुमास)* प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग:««« 👉 ध्यान दें **यहाँ दिये गए तिथि, नक्षत्र, योग व करण आदि के समय इनके समाप्ति काल हैं और सूर्योदयास्त व चंद्रोदय का गणना स्थल मुंबई हैं।** कलियुगाब्द......5122 (५१२२) विक्रम संवत्.....२०७७/2077 (आंनद नाम) शक संवत्......१९४३/1943 मास....चैत्र (सं./हिंदी)/चैत (मारवाड़ी/पंजाबी) पक्ष........शुक्ल/चानन पक्ष/सूदी/उतरतो चैत **तिथी...(०६/06) षष्ठी*/छठ** रात्रि 10.34 पर्यंत पश्चात सप्तमी **वार/दिन...आदित्यवासर/रविवार/इतवार** **नक्षत्र........आर्द्रा🌠** दुसरे दिन प्रातः 05.02 पर्यंत पश्चात पुनर्वसु* योग...........अतिगंड संध्या 07.56 पर्यंत पश्चात सुकर्मा करण.........कौलव प्रातः 09.37 पर्यंत पश्चात तैतिल 22.37 सूर्योदय.......प्रातः 06.19.00 पर सूर्यास्त........सांय 06.57.00 पर चंद्रोदय........प्रातः 10.36.00 पर। रवि(अयन-दृक)......उत्तरायण रवि(अयन-वैदिक)...उत्तरायण **ऋतु (दृक).....वसंत** **ऋतु वैदिक)...वसंत** **सूर्य राशि.......मीन** **चन्द्र राशि......मिथुन** **गुरु राशी.......कुंभ (पूर्व में उदय, मार्गी)** 🚦 *दिशाशूल :-* पश्चिमदिशा - यदि अति आवश्यक हो तो दलिया, घी या पान का सेवनकर यात्रा प्रारंभ करें । ☸ शुभ अंक.....९/9 🔯 शुभ रंग........नारंगी/सिंदूरी/ताम्रवर्णी लाल ⚜️ *अभिजीत मुहूर्त :-* मध्याह्न 12.13 से 01.03 तक। 👁‍🗨*राहुकाल :-* संध्या 05.22 से 06.57 तक । 👁‍🗨 *गुलिक काल :-* दिन 03.47 से 05.22 तक। ********************* 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-* *मेष* 05:52:38 07:34:38 *वृषभ* 07:34:38 09:33:15 *मिथुन* 09:33:15 11:46:56 *कर्क* 11:46:56 14:03:07 *सिंह* 14:03:07 16:14:56 *कन्या* 16:14:56 18:25:35 *तुला* 18:25:35 20:40:12 *वृश्चिक* 20:40:12 22:56:23 *धनु* 22:56:23 25:02:01 *मकर* 25:02:01 26:49:09 *कुम्भ* 26:49:09 28:22:45 *मीन* 28:22:45 29:52:38 ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 07.41 से 09.16 तक चंचल प्रात: 09.16 से 10.50 तक लाभ प्रात: 10.50 से 12.25 तक अमृत दोप. 02.00 से 03.34 तक शुभ सायं 06.43 से 08.09 तक शुभ संध्या 08.09 से 09.34 तक अमृत रात्रि 09.34 से 10.59 तक चंचल । *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। *****""""""******"""*******"""******** आज के विशेष योगायोग/युति संयोग, वेध, ग्रहचार (ग्रहचाल), व्रत/पर्व/प्रकटोत्सव, जयंती/जन्मोत्सव व मोक्ष दिवस/स्मृतिदिवस/पुण्यतिथि आदि 🙏👇:- 👉 **आज चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सुदी आदित्यवासर/रविवार को वर्ष का 390 वाँ दिन/तीन सौ नब्बेवां दिन, षष्टी/छठ रात्रि 10.34 पर्यंत पश्चात सप्तमी शुरु, नवरात्रि का छठवां दिन - मां कात्यायनी व्रत - पूजा विधान, श्री सूर्य षष्ठी व्रत, स्कन्द षष्ठी व्रत (गया में प्रसिद्ध), श्री अशोक षष्ठी व्रत, (बंगाल), सर्वदोषनाशक रवि योग 29:02 तक, त्रिपुष्कर योग 29:02 से सूर्योदय तक, सूर्य पश्चिम में उदय 23:10 पर, श्री यमुना छठ/ जयन्ती (चैत्र शुक्ल षष्ठी), गुरु श्री अंगददेव जयन्ती (नानकशाही), गुरू श्री तेगबहादुर जयन्ती (नानकशाही), श्री रामानुजाचार्य जयन्ती (तमिल कलेन्डर के अनुसार 16 मई को), भगवान सम्भवनाथ जी मोक्ष कल्याणक (चैत्र शुक्ल षष्ठी) , श्री तात्या टोपे शहीदी दिवस व विश्व पुरातत्व ( विरासत /धरोहर) दिवस।** ************************* **🕉 ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः।।🎪🚩** **🕉 ॐ हिरण्यगर्भाय नमः ॥ 📿*आज का उपासना मंत्र :- ॥ ॐ शुभायै नम:॥ *********************** ⚜ 👉🙏☸*महत्वूर्ण तिथि विशेष :*🚩 **चैत्र कृष्णपक्ष/बदी षष्टी/छठ, नवरात्रि का छठवां दिन - मां कात्यायनी व्रत - पूजा विधान, श्री सूर्य षष्ठी व्रत।** 🙏 💥 **विशेष ध्यातव्य👉 षष्टी/छठ को नीम की पत्ती, फल का किसी भी रुप में सेवन या दातुन करना भी नीच योनिप्रद होने से पूर्णतः वर्जित है।** साभार: 🌞 *~हिन्दू पंचांग ~* 🌞।** 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 👉 **🏡वास्तु टिप्स🏢🏡 1) वास्तु विज्ञान के अनुसार घर या ऑफिस के तहखाने का उपयोग कोचिंग, दफ्तर व गोदाम के रूप में ही ठीक रहता है। इसे कभी भी शयनकक्ष नहीं बनाना चाहिए। 2) गृहवास्तु के अनुसार यथासंभव शयनकक्ष में दर्पण न लगाएँ। इससे घर के सदस्यों के विचारों में मतभेद और कलह की स्थिति उत्पन्न होती रहती है।** 3) यदि आपके घर से अगर अकारण ही बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में निरंतर कलह रहता है, तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है (अन्यथा पतंजलि आदि का ले लें), इससे घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला लें और रोज़ सुबह-शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजा-आरती के बाद छिड़काव भी करें फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखें। 4) **घर की मुख्य सीढ़ियाँ सदैव दक्षिण या पश्चिम की ओर होनी चाहिए। ईशान में कभी भी होनी चाहिए। विशेष परस्थिति में वायव्य तथा आग्नेय कोण में बना सकते हैं। *****""""""******"""*******"""********  *संस्कृत सुभाषितानि :-* दुर्जन दूषितमनसां पुंसां सुजनेऽप्यविश्र्वासः । बालः पायसदग्धो दध्यपि फूल्कृत्य भक्षयति ॥ अर्थात :- दुर्जन से जिसका मन दूषित होता है एसा मानव सज्जन पर भी अविश्वास करता है । दूध से जला बालक दहीं भी फ़ूँक कर पीता है । *💊💉आज का आरोग्य मंत्र 🌱🌿* *बालों का झड़ना रोकने वाले टिप्स -* *5. अपने सर की करें मसाज -* मसाज करने से स्कैल्प और बालों को पोषण और ऑक्सीजन बढ़ जाती है जो बदले में बालों के विकास को उत्तेजित करती है कुछ मिनट तक रोजाना सिर की मसाज करने से सर्कुलेशन तेज करने में सहायता मिलेगी। इससे केश कूप सक्रिय रहता है। *****""""""******"""*******"""******** ⚜*🐑🐂🦔 आज का संभावित चन्द्र राशिफल🦂🐊🐟:- 👉 किंतु पहले सबसे एक करबद्ध निवेदन🙏 मित्रों सर्वप्रथम तो कुछ तकनीकी कारणों से आपको आपकी प्रिय पोस्ट नक्षत्रवानी विलंब से मिल पाती है इसके लिए मैं आप सभी से क्षमा प्रार्थी हूँ। तत्पश्चात मैं निवेदन करना चाहता हूँ कि आपकी इस परमप्रिय ज्ञानवर्धक 'अपना पोस्ट' *नक्षत्रवाणी* को आप जितना हो सकता हो उतना लाइक-शेयर तथा फॉरवर्ड तो करें ही, आलस्य त्याग कर कृपया इसपर अपनी बुद्धि व विवेक के अनुसार अपने सही-सही कमैंट्स भी अवश्य करें। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे और अपने फीडबैक से व लाइक/सराहना करके भी अवश्य ही मेरा उत्साहवर्धन करेंगे। नक्षत्रवाणी के संदर्भ में आप सभी के बहुमूल्य सुझाव भी सदैव सादर आमंत्रित हैं।धन्यवाद...!!! **ख़ुशख़बर।। सबसे बड़ी ख़ुशख़बर।।**👇 🙏👉 किसी भी जन्मलग्न या जन्मराशि या अपनी प्रसिद्ध राशि के लिए भाग्यशाली रत्न-रुद्राक्ष हमसे जानें फ्री ऑफ Charge यानि पूर्णतः निःशुल्क व निःसंकोच। इसके अलावा लैब टेस्टेड उच्चतम क्वालिटी के रत्न-रुद्राक्ष प्राप्त करने के लिए भी हमसे संपर्क करें :👇 9987815015 या 9991610514 पर। 🙏👉 प्रियवरों शिवकृपा प्राप्ति के सबसे बड़े शुभावसर 'महाशिरात्रि' के पावन पर्व पर (यानि कि 11 मार्च को) भगवान महाकालेश्वर शिव जो कि एकादश रुद्र रूपों में भी तीनों लोकों में प्रस्फुटित होते हैं, उनके साक्षात स्वरूप व कृपाप्रसाद *पंचमुखी 'रुद्राक्ष रत्न*" जिसे रुद्र के अक्ष या भगवान शिव के अक्ष के रूप में भी जाना जाता है, को इसबार फिर से इस परम शुभ अवसर पर विधिवत् *अभिमंत्रित* करके आपको आपके सभी दैहिक-दैविक-भौतिक कष्टों से मुक्ति दिलाने हेतु, विशेषतः इस **कोरोना काल** में बहुत अधिक बढ़ चुके मानसिक संताप (Mental stress/depression) तथा आर्थिक संताप को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए, इस समय आपकी आर्थिक तँगीं की स्थिति को समझते हुए **केवल मात्र 111₹** में आप शिवभक्त सुधि पाठकों के लिए उपलब्ध करवाना प्रारंभ किया हैं। जिसे भी यह दिव्य सर्वसिद्ध **रुद्राक्ष रत्न** चाहिए, वे कृपया हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। ध्यान रखें यह योजना सीमित समय के लिए ही है, इसलिए इस सुनहरे अवसर को आप चूकें नहीं। 🙏 👉 **एक विशेष व अति शुभ सूचना:** **मित्रों हमारे 'ऐस्ट्रो वर्ल्ड' के दिव्य कोष में शुद्ध केसर (काश्मीरी व ईरानी A तथा B दोनों ग्रेड की), पारिजात, चम्पा, अनन्त, पुन्नाग, श्वेत/सफ़ेद ऊद, केसर, खस, भीना गुलाब व असली चंदन जैसे दिव्य इत्रों की पूरी रेंज, भीमसेनी कर्पूर, उत्तम क्वालिटी की शुद्ध गुग्गल व शुद्ध लोबान, शुद्ध राशि रत्न-उपरत्न, असली नेपाली रुद्राक्ष रत्न व गण्डकी नदी से प्राप्त असली शालग्राम जी भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा हमारे इस संग्रहालय में और भी कई दिव्य व चमत्कारिक वस्तुएं उपलब्ध हैं। ये सभी दिव्य वस्तुएं हम अपने ज्योतिष-वास्तु एवं वैदिक पूजा-अनुष्ठानों के नियमित यजमानों के लिए बहुत ही सही रेट पर और कम मार्जिन पर देते हैं तथा इनके असली होने की मनी बैक गारंटी के साथ भी। तो आप 'नक्षत्रवाणी' के सभी पाठक भी हमारे परम प्रिय होने से इसका लाभ निःसन्देह ले सकते हैं। इसके लिए आप हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। जल्दी रिप्लाई ना मिलने पर आप कॉल भी कर सकते हैं। धन्यवाद...!!!** 🙏ध्यान दें मित्रों 👉 **जिनका भी 'FB यानि फ़ेसबुक' अकाउंट नहीं है और जो पाठकगण हमारे द्वारा भेजे जा रहे 'FB लिंक' के माध्यम से 'नक्षत्रवाणी पोस्ट' नहीं देख या पढ़ पा रहे हों वे इसके बारे में हमें अविलंब बताएं ताकि उन्हें बिना FB लिंक वाली 'पूरी पोस्ट' भेजी जा सके। इसके अलावा जिन पाठक गणों को नक्षत्रवाणी पोस्ट एक से अधिक बार प्राप्त हो रही हो, वे भी हमें तुरंत सूचित करने की कृपा करें ताकि उन्हें हमारी एक से अधिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट्स/BCLs से उन्हें रिमूव किया जा सके। आप हमें प्रतिक्रिया नहीं देते हैं तो हमें तो यही लगेगा कि आप को नक्षत्रवाणी केवल एक ही बार प्राप्त हो रही है। इसलिए हमें सूचित अवश्य करें। धन्यवाद...!!! *****""""""******"""*******"""******** देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐐 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। निवेश के सुखद परिणाम आएंगे। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। किसी बड़ी बाधा के दूर होने से प्रसन्नता रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। पुराना रोग उभर सकता है। विवाद से क्लेश संभव है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। दूसरों से अपेक्षा पूर्ण नहीं होने से खिन्नता रहेगी। कार्य में विलंब होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। व्यस्तता रहेगी। 👫🏻 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* पुराने शत्रु परेशान कर सकते हैं। थकान व कमजोरी रह सकती है। जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। भाग्य का साथ रहेगा। व्यापार में वृद्धि के योग हैं। निवेश शुभ रहेगा। आय होगी। प्रमाद न करें। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। कारोबार में वृद्धि होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। नए व्यापारिक अनुबंध होंगे। धनार्जन होगा। लंबे समय से रुके कार्यों में गति आएगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। शत्रु परास्त होंगे। स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* कुसंगति से हानि होगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी के कार्य अनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। परिवार के साथ समय अच्‍छा व्यतीत होगा। आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्नता रहेंगे। भाइयों का सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता बनी रहेगी। 🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* वाहन व मशीनरी आदि के प्रयोग में सावधानी रखें, विशेषकर स्त्रियां रसोई में ध्यान रखें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। किसी व्यक्ति से बेवजह विवाद हो सकता है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। धनलाभ के अवसर प्राप्त होंगे। आय में निश्चितता होगी। ऐश्वर्य पर व्यय होगा। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* शत्रु परास्त होंगे। कोर्ट व कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। सुख के साधन जुटेंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेशादि शुभ रहेंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। स्त्री पक्ष से लाभ होगा। अज्ञात भय रहेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* लेन-देन में जल्दबाजी न करें। किसी अपरिचित पर अतिविश्वास न करें। आय में वृद्धि होगी। भूमि व भवन संबंधी योजना बनेगी। कोई बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। भाग्य बेहद अनुकूल है, लाभ लें। चोट व रोग से बचें। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* किसी गलती का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। जल्दबाजी व लापरवाही न करें। अज्ञात भय सताएगा। पुराना रोग उभर सकता है। भागदौड़ रहेगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* पुराना रोग उभर सकता है। किसी बड़ी समस्या से सामना हो सकता है। लेन-देन में विशेष सावधानी रखें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। दु:खद समाचार मिल सकता है। किसी व्यक्ति से बेवजह विवाद हो सकता है। व्यर्थ भागदौड़ होगी। कार्य में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। आय में निश्चितता रहेगी। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पराक्रम बढ़ेगा। आय में वृद्धि होगी। पराक्रम बढ़ेगा। किसी बड़े काम को करने में रुझान रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में प्रशंसा प्राप्त होगी। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड से लाभ होगा। चोट व रोग से बचें। सुख के साधन जुटेंगे। घर में तनाव रह सकता है। 🐋 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* शुभ समाचार प्राप्त होंगे। घर में मेहमानों का आगमन होगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। विवेक से कार्य करें। विरोधी सक्रिय रहेंगे। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में चैन रहेगा। आय में वृद्धि होगी। मित्रों के साथ समय मनोरंजक व्यतीत होगा। प्रमाद न करें। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ *🎊🎉🎁 आज जिनका जन्मदिवस या विवाह की वर्षगांठ हैं, उन सभी प्रिय मित्रो को कोटिशः शुभकामनायें🎁🎊🎉* ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ और ज़रा इन बातों पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बीमारी आपको छोड़ ही नहीं रही है...? घर का हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, दक्षिणावर्ती शँख (जो कि घर में विधिवत रखने मात्र से ही बदल दे आपका भाग्य हमेशां-2 के लिए...!), सियारसिंगी, भुजयुग्म (हत्थाजोड़ी, जो तिज़ोरी आपकी कभी ख़ाली ना होने दे), नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺आपका सप्ताहांत आदि वैद्य (भगवान धन्वंतरि जी) की कृपा से परम मंगलमय हो मित्रो! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Madan Kaushik Apr 17, 2021

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻*  गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। श्रीमते रघुवीराय सेतूल्लङ्घितसिन्धवे। जितराक्षसराजाय रणधीराय मङ्गलम्।। भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।।  क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ मित्रों...! सबसे पहले तो नित्यप्रति आपकी प्रिय पोस्ट "नक्षत्रवाणी" की पोस्टिंग में होने वाले विलंब के लिए आप सभी से हृदयपूर्वक क्षमा प्रार्थना सहित...🙏🙏 आप सभी परम प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य/पं.मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸 जय गणेश 🌸 जय अंबे 🌸 *जय श्री कृष्ण*🌷मंगल प्रभात🌷इसी के साथ आप सभी सनातनी, धर्म-उत्सवप्रेमी, राम-कृष्ण-हरि-शिवभक्त, शक्ति उपासक व राष्ट्रप्रेमियों को आज **चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सुदी पंचमी/पांचम की, वासंतिक/चैत्र नवरात्रि महापर्व के पंचम दिवस (मां स्कदमाता पूजन दिवस) की, श्री/रंग (लक्ष्मी) पंचमी/नाग पंचमी, श्री रामराज्य महोत्सव (मध्यान्ह व्यापिनी पंचमी व कर्क लग्न में), डोलोत्सव हय व्रत, नागव्रत/पर्व की एवं दशलक्षण व्रतारम्भ होने** की भी बहुत-बहुत हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं...!!!** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर...🙏 ```༺⊰🕉⊱༻ ``` *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻* ☘️🌸!! ॐ श्री गणेशाय नमः!! 🌸☘️ ****************************** 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक *१७ अप्रैल सन २०२१ ईस्वी* मंदवासर/शनिवार/Saturday* *🇮🇳 राष्ट्रीय सौर दि. २८* *चैत्र (मधुमास)* प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग:««« 👉 ध्यान दें **यहाँ दिये गए तिथि, नक्षत्र, योग व करण आदि के समय इनके समाप्ति काल हैं और सूर्योदयास्त व चंद्रोदय का गणना स्थल मुंबई हैं।** कलियुगाब्द......5122 (५१२२) विक्रम संवत्.....२०७७/2077 (आंनद नाम) शक संवत्......१९४३/1943 मास....चैत्र (सं./हिंदी)/चैत (मारवाड़ी/पंजाबी) पक्ष........शुक्ल/चानन पक्ष/सूदी/उतरतो चैत **तिथी...(०५/05) पंचमी/पांचम** रात्रि 08.32 पर्यंत पश्चात षष्ठी* **वार/दिन...मंदवासर/शनिवार/थावर/छनि** **नक्षत्र........मृगशिरा🌠** *रात्रि 02.34 पर्यंत पश्चात आर्द्रा* योग.........शोभन संध्या 07.19 पर्यंत पश्चात अतिगंड रात्रि 08.32 तक करण........बव प्रातः 07.21 पर्यंत पश्चात बालव सूर्योदय.......प्रातः 06.20.00 पर सूर्यास्त........सांय 06.56.00 पर चंद्रोदय........प्रातः 09.48.00 पर। रवि(अयन-दृक)......उत्तरायण रवि(अयन-वैदिक)...उत्तरायण **ऋतु (दृक).....वसंत** **ऋतु वैदिक)...वसंत** **सूर्य राशि.......मीन** **चन्द्र राशि...... वृषभ (दिन 01.09 बजे तक पश्चात मिथुन)** **गुरु राशी.......कुंभ (पूर्व में उदय, मार्गी)** 🚦*दिशाशूल :-* पूर्व दिशा - यदि बहुत ही आवश्यक हो तो काली मिर्च/ अदरक/तिल या उड़द का सेवन करके यात्रा प्रारंभ करें। ☸ शुभ अंक.....८/8 🔯 शुभ रंग........श्याम/काला/गाढ़ा नीला ⚜️ *अभिजीत मुहूर्त :-* मध्याह्न 12.13 से 01.03 तक। 👁‍🗨*राहुकाल :-* पूर्वाह्न/दिन 09.29 से 11.04 तक । 👁‍🗨 *गुलिक काल :-* प्रात: 06.20 से 07.54 तक। ********************* 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त -* *मेष* 05:56:49 07:38:34 *वृषभ* 07:38:34 09:37:11 *मिथुन* 09:37:11 11:50:53 *कर्क* 11:50:53 14:07:03 *सिंह* 14:07:03 16:18:52 *कन्या* 16:18:52 18:29:32 *तुला* 18:29:32 20:44:09 *वृश्चिक* 20:44:09 23:00:19 *धनु* 23:00:19 25:05:57 *मकर* 25:05:57 26:53:06 *कुम्भ* 26:53:06 28:26:42 *मीन* 28:26:42 29:56:49 करें । ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 07.42 से 09.16 तक शुभ दोप. 12.25 से 02.00 तक चर दोप. 02.00 से 03.34 तक लाभ दोप. 03.34 से 05.09 तक अमृत संध्या 06.43 से 08.08 तक लाभ रात्रि 09.34 से 10.59 तक शुभ । *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। *****""""""******"""*******"""******** आज के विशेष योगायोग/युति संयोग, वेध, ग्रहचार (ग्रहचाल), व्रत/पर्व/प्रकटोत्सव, जयंती/जन्मोत्सव व मोक्ष दिवस/स्मृतिदिवस/पुण्यतिथि आदि 🙏👇:- 👉 **आज चैत्र शुक्ल/चानन पक्ष/सुदी मंदवासर/शनिवार/Saturday को वर्ष का 389 वाँ दिन/तीन सौ नवासीवां दिन, पंचमी/पांचम 20:32 तक पश्चात् षष्ठी शुरु, श्री/रंग(लक्ष्मी) पंचमी/नाग पंचमी, नवरात्रि का पांचवां दिन - मां स्कन्दमाता व्रत - पूजा, श्री रामराज्य महोत्सव (मध्यान्ह व्यापिनी पंचमी कर्क लग्न में), सर्वदोषनाशक रवि योग 26:34 से , कल्पादि 5 , डोलोत्सव हय व्रत, नाग व्रत , दशलक्षण व्रतारम्भ/पुष्पांजलि व्रतारम्भ (जैन), मेवाड़ उत्सव पूर्ण (उदय), श्री गुरु हरगोविन्द सिंह जोति जोत (प्रा.म.), भगवान अजितनाथ जी मोक्ष कल्याणक (जैन, चैत्र शुक्ल पंचमी), श्री बीजू पटनायक स्मृति दिवस, श्री सर्वपल्ली राधाकृष्णन स्मृति दिवस, ब्रिगेडियर श्री भवानी सिंह स्मृतिदिवस (महावीर चक्र से सम्मानित) व विश्व हीमोफीलिया दिवस।** ************************* **🕉 ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः।।🎪🚩** **🕉 ॐ शनिश्चराय नमः ॥ 📿*आज का उपासना मंत्र :- ॥ ॐ विष्णुमायायै नमः ॥ *********************** ⚜ 👉🙏☸*महत्वूर्ण तिथि विशेष :*🚩 **चैत्र कृष्णपक्ष/बदी पंचमी/पांचम, पवित्र नवरात्रि का पंचम दिवस (मां स्कदमाता पूजन दिवस), श्री (लक्ष्मी) पंचमी, रंग/नाग पंचमी, श्री रामराज्य महोत्सव (मध्यान्ह व्यापिनी पंचमी कर्कलग्न में), डोलोत्सव हयव्रत व नाग व्रत।** 🙏💥 **विशेष ध्यातव्य 👉 पंचमी/पांचम को विल्वफल/बेल का किसी भी रुप में सेवन कलंककारक होने से पूर्णतः वर्जित है।** साभार: 🌞 *~हिन्दू पंचांग ~* 🌞।** 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 👉 **🏡वास्तु टिप्स🏢🏡 1) वास्तु विज्ञान के अनुसार घर या ऑफिस के तहखाने का उपयोग कोचिंग, दफ्तर व गोदाम के रूप में ही ठीक रहता है। इसे कभी भी शयनकक्ष नहीं बनाना चाहिए। 2) गृहवास्तु के अनुसार यथासंभव शयनकक्ष में दर्पण न लगाएँ। इससे घर के सदस्यों के विचारों में मतभेद और कलह की स्थिति उत्पन्न होती रहती है।** 3) यदि आपके घर से अगर अकारण ही बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में निरंतर कलह रहता है, तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है (अन्यथा पतंजलि आदि का ले लें), इससे घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला लें और रोज़ सुबह-शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजा-आरती के बाद छिड़काव भी करें फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखें। 4) **घर की मुख्य सीढ़ियाँ सदैव दक्षिण या पश्चिम की ओर होनी चाहिए। ईशान में कभी भी होनी चाहिए। विशेष परस्थिति में वायव्य तथा आग्नेय कोण में बना सकते हैं। *****""""""******"""*******"""******** 📢 *संस्कृत सुभाषितानि -* न देवाय न धर्माय न बन्धुभ्यो न चार्थिने । दुर्जनेनार्जितं द्रव्यं भुज्यते राजतस्करैः ॥ अर्थात :- दुर्जन को मिला हुआ धन देवकार्य में, धर्म में, सगे-संबंधीयों या याचक को देने में काम नहीं आता; उसका उपयोग तो राजा व चोर करते है । *💊💉आज का आरोग्य मंत्र 🌱🌿* *बालों का झड़ना रोकने वाले टिप्स -* *4. ध्यान लगाएं -* कई लोग स्वास्थ्य कारणों से ध्यान का अभ्यास करते हैं। आपको बता दें कि ध्यान और शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। ध्यान या मेडिटेशन एक ऐसा अभ्यास है जो स्वास्थ्य लाभों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रस्तुत करता है। इसके अलावा बालों के गिरने का कारण तनाव और चिंता है। ध्यान लगाने से टेंशन और स्ट्रेस को कम कर सकते हैं जिससे हार्मोन में संतुलन पैदा होता है। *****""""""******"""*******"""******** ⚜*🐑🐂🦔 आज का संभावित चन्द्र राशिफल🦂🐊🐟:- 👉 किंतु पहले सबसे एक करबद्ध निवेदन🙏 मित्रों सर्वप्रथम तो कुछ तकनीकी कारणों से आपको आपकी प्रिय पोस्ट नक्षत्रवानी विलंब से मिल पाती है इसके लिए मैं आप सभी से क्षमा प्रार्थी हूँ। तत्पश्चात मैं निवेदन करना चाहता हूँ कि आपकी इस परमप्रिय ज्ञानवर्धक 'अपना पोस्ट' *नक्षत्रवाणी* को आप जितना हो सकता हो उतना लाइक-शेयर तथा फॉरवर्ड तो करें ही, आलस्य त्याग कर कृपया इसपर अपनी बुद्धि व विवेक के अनुसार अपने सही-सही कमैंट्स भी अवश्य करें। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे और अपने फीडबैक से व लाइक/सराहना करके भी अवश्य ही मेरा उत्साहवर्धन करेंगे। नक्षत्रवाणी के संदर्भ में आप सभी के बहुमूल्य सुझाव भी सदैव सादर आमंत्रित हैं।धन्यवाद...!!! **ख़ुशख़बर।। सबसे बड़ी ख़ुशख़बर।।**👇 🙏👉 किसी भी जन्मलग्न या जन्मराशि या अपनी प्रसिद्ध राशि के लिए भाग्यशाली रत्न-रुद्राक्ष हमसे जानें फ्री ऑफ Charge यानि पूर्णतः निःशुल्क व निःसंकोच। इसके अलावा लैब टेस्टेड उच्चतम क्वालिटी के रत्न-रुद्राक्ष प्राप्त करने के लिए भी हमसे संपर्क करें :👇 9987815015 या 9991610514 पर। 🙏👉 प्रियवरों शिवकृपा प्राप्ति के सबसे बड़े शुभावसर 'महाशिरात्रि' के पावन पर्व पर (यानि कि 11 मार्च को) भगवान महाकालेश्वर शिव जो कि एकादश रुद्र रूपों में भी तीनों लोकों में प्रस्फुटित होते हैं, उनके साक्षात स्वरूप व कृपाप्रसाद *पंचमुखी 'रुद्राक्ष रत्न*" जिसे रुद्र के अक्ष या भगवान शिव के अक्ष के रूप में भी जाना जाता है, को इसबार फिर से इस परम शुभ अवसर पर विधिवत् *अभिमंत्रित* करके आपको आपके सभी दैहिक-दैविक-भौतिक कष्टों से मुक्ति दिलाने हेतु, विशेषतः इस **कोरोना काल** में बहुत अधिक बढ़ चुके मानसिक संताप (Mental stress/depression) तथा आर्थिक संताप को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए, इस समय आपकी आर्थिक तँगीं की स्थिति को समझते हुए **केवल मात्र 111₹** में आप शिवभक्त सुधि पाठकों के लिए उपलब्ध करवाना प्रारंभ किया हैं। जिसे भी यह दिव्य सर्वसिद्ध **रुद्राक्ष रत्न** चाहिए, वे कृपया हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। ध्यान रखें यह योजना सीमित समय के लिए ही है, इसलिए इस सुनहरे अवसर को आप चूकें नहीं। 🙏 👉 **एक विशेष व अति शुभ सूचना:** **मित्रों हमारे 'ऐस्ट्रो वर्ल्ड' के दिव्य कोष में शुद्ध केसर (काश्मीरी व ईरानी A तथा B दोनों ग्रेड की), पारिजात, चम्पा, अनन्त, पुन्नाग, श्वेत/सफ़ेद ऊद, केसर, खस, भीना गुलाब व असली चंदन जैसे दिव्य इत्रों की पूरी रेंज, भीमसेनी कर्पूर, उत्तम क्वालिटी की शुद्ध गुग्गल व शुद्ध लोबान, शुद्ध राशि रत्न-उपरत्न, असली नेपाली रुद्राक्ष रत्न व गण्डकी नदी से प्राप्त असली शालग्राम जी भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा हमारे इस संग्रहालय में और भी कई दिव्य व चमत्कारिक वस्तुएं उपलब्ध हैं। ये सभी दिव्य वस्तुएं हम अपने ज्योतिष-वास्तु एवं वैदिक पूजा-अनुष्ठानों के नियमित यजमानों के लिए बहुत ही सही रेट पर और कम मार्जिन पर देते हैं तथा इनके असली होने की मनी बैक गारंटी के साथ भी। तो आप 'नक्षत्रवाणी' के सभी पाठक भी हमारे परम प्रिय होने से इसका लाभ निःसन्देह ले सकते हैं। इसके लिए आप हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। जल्दी रिप्लाई ना मिलने पर आप कॉल भी कर सकते हैं। धन्यवाद...!!!** 🙏ध्यान दें मित्रों 👉 **जिनका भी 'FB यानि फ़ेसबुक' अकाउंट नहीं है और जो पाठकगण हमारे द्वारा भेजे जा रहे 'FB लिंक' के माध्यम से 'नक्षत्रवाणी पोस्ट' नहीं देख या पढ़ पा रहे हों वे इसके बारे में हमें अविलंब बताएं ताकि उन्हें बिना FB लिंक वाली 'पूरी पोस्ट' भेजी जा सके। इसके अलावा जिन पाठक गणों को नक्षत्रवाणी पोस्ट एक से अधिक बार प्राप्त हो रही हो, वे भी हमें तुरंत सूचित करने की कृपा करें ताकि उन्हें हमारी एक से अधिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट्स/BCLs से उन्हें रिमूव किया जा सके। आप हमें प्रतिक्रिया नहीं देते हैं तो हमें तो यही लगेगा कि आप को नक्षत्रवाणी केवल एक ही बार प्राप्त हो रही है। इसलिए हमें सूचित अवश्य करें। धन्यवाद...!!! *****""""""******"""*******"""******** देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐐 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। फालतू खर्च होगा। किसी के व्यवहार से क्लेश होगा। जल्दबाजी में कोई निर्णय न लें। व्यापार-व्यवसाय लाभप्रद रहेगा। आय में निश्चितता रहेगी। नौकरी में कार्यभार बढ़ेगा। सहकर्मी साथ नहीं देंगे। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। यात्रा मनोरंजक रहेगी। नौकरी में मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। शेयर मार्केट में जल्दबाजी न करें। व्यापार लाभदायक रहेगा। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। लेन-देन में सावधानी रखें। चोट व रोग से कष्ट संभव है। प्रमाद न करें। 👫🏻 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* कार्यस्थल पर परिवर्तन की योजना बनेगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। ऐश्वर्य व आरामदायक साधनों पर व्यय होगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। जल्दबाजी से बचें। घर-बाहर प्रसन्नता बनी रहेगी। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* तीर्थदर्शन की योजना फलीभूत होगी। सत्संग का लाभ मिलेगा। आत्मशांति रहेगी। यात्रा संभव है। व्यापार ठीक चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। दूसरों की जवाबदारी न लें। थकान रह सकती है। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* चोट व दुर्घटना से बड़ी हानि हो सकती है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। किसी अपरिचित व्यक्ति पर अतिविश्वास न करें। किसी भी प्रकार के विवाद में न पड़ें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। मित्रों के साथ समय अच्‍छा व्यतीत होगा। 🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* किसी व्यक्ति विशेष का सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार लाभदायक रहेगा। पारिवारिक सदस्यों का सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। नौकरी में मातहतों से अनबन हो सकती है। शारीरिक कष्ट संभव है। जल्दबाजी से हानि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। धन प्राप्ति सुगम होगी। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* स्थायी संपत्ति के कार्य मनोनुकूल लाभ देंगे। किसी बड़ी समस्या का हल सहज ही प्राप्त होगा। किसी वरिष्ठ व्यक्ति का सहयोग मिलेगा। भाग्य अनुकूल है। व्यापार-व्यवसाय में वृद्धि होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। शत्रुओं का पराभव होगा। किसी व्यक्ति की बातों में न आएं। प्रसन्नता रहेगी। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। मनपसंद भोजन का आनंद मिलेगा। पार्टी व पिकनिक का आयोजन हो सकता है। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* विवाद को बढ़ावा न दें। कानूनी अड़चन से सामना हो सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। बुरी खबर मिल सकती है, धैर्य रखें। दौड़धूप से स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। आय बनी रहेगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में कार्यभार रहेगा। जोखिम न लें। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* मित्रों का सहयोग करने का मौका प्राप्त होगा। मेहनत का फल मिलेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। लेन-देन में सावधानी रखें। अपरिचितों पर अंधविश्वास न करें। कारोबार ठीक चलेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। भाग्य अनुकूल है। समय का लाभ लें। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना मिलेगी। किसी बड़े काम को करने की योजना बनेगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। व्यापार लाभदायक रहेगा। घर-परिवार में कोई मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। मित्रों के साथ अच्‍छा समय बीतेगा। 🐋 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* यात्रा मनोरंजक रहेगी। कोई बड़ा काम होने से प्रसन्नता रहेगी। कारोबार में वृद्धि होगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। समय अनुकूल है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। परिवार के साथ समय प्रसन्नतापूर्वक व्यतीत होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। जल्दबाजी न करें। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ *🎊🎉🎁 आज जिनका जन्मदिवस या विवाह की वर्षगांठ हैं, उन सभी प्रिय मित्रो को कोटिशः शुभकामनायें🎁🎊🎉* ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ और ज़रा इन बातों पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बीमारी आपको छोड़ ही नहीं रही है...? घर का हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, दक्षिणावर्ती शँख (जो कि घर में विधिवत रखने मात्र से ही बदल दे आपका भाग्य हमेशां-2 के लिए...!), सियारसिंगी, भुजयुग्म (हत्थाजोड़ी, जो तिज़ोरी आपकी कभी ख़ाली ना होने दे), नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺आपका सप्ताहांत आदि वैद्य (प्रभु धनवंतरि जी) की कृपा से परम मंगलमय हो मित्रो! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB