Jayshree Shah
Jayshree Shah Apr 17, 2019

Aaj ni aangi darshan 🙏 🙏

Aaj ni aangi darshan 🙏 🙏
Aaj ni aangi darshan 🙏 🙏
Aaj ni aangi darshan 🙏 🙏
Aaj ni aangi darshan 🙏 🙏

+17 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 4 शेयर

कामेंट्स

ladajiji thakor Gujarat Apr 17, 2019
જય જીનેન્દ્ર 🙏🌹🙏 ભગવાન મહાવીર સ્વામી જયંતિ નિમિત્તે તમને અને તમારા પરિવારને હાર્દિક શુભકામના યે 🙏🙏🙏🌹 વંદન જી 🌹🙏🌹

अजित सिंह Apr 17, 2019
बहुतसुंदर फोटो र।धेकृष्ण जय मह।विर स्व।मि आपको शुखी रखे आपक। कोमेट आय। तो भगव।न मिल।

अजित सिंह Apr 17, 2019
मह।विर भगव।नन। फोट। खुबसुंदरछे र।धे र।धे आप बहुत भक्ति श।ली लगते हो आपक। चहेर। मे भगव।न की भक्ति दीख।इ देते हे बहेन। जी र।धेकृष्ण

अजित सिंह Apr 17, 2019
जय जिनेन्द्र र।धेकृष्ण आप जभी म।य मदिर मे आओ तभी हम जैसे भैय।को य।द करन।

अजित सिंह Apr 18, 2019
जय जिनेन्द्र र।धे बहेन। जी शुभ संध्यावंदन र।धेकृष्ण

Santosh Soni Hingale Apr 19, 2019
jayshri ram jayshri hanumanj janmutsav ki hardik shubhkamnayen aap swasthya rahen mast rahen prasann rahe

,OP JAIN (RAJ) Apr 20, 2019
जय जिनेन्द्र दीदी जय श्री हनुमान जी जय श्री शनिदेव जी आपका हर एक पल शुभ और मंगलमय हो हैप्पी शनिवार दीदी very happy Good Morning didi

,OP JAIN (RAJ) Apr 24, 2019
जय जिनेन्द्र दीदी om ganesaya namah have a good day didi God bless you didi

Santosh Soni Hingale Apr 24, 2019
jayshri krshna radhe radhe shubhratri ji namskarm aap swasthya rahen mast rahen prasann rahe

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
ashok kumar sen May 18, 2019

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Ruby Jain May 17, 2019

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 13 शेयर
Sanjay Jain May 17, 2019

+3 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 9 शेयर
Ruby Jain May 16, 2019

+14 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Jay Lalwani May 16, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 26 शेयर
Vibhor Mittal May 18, 2019

जैन धर्म के जिनवर व्रत आज से ********************************* आज यानी 19 मई से जेठ का महीना शुरू हो रहा है। जैन समुदाय के ज्येष्ठ जिनवर व्रत आज से शुरू होंगे। ज्येष्ठ जिनवर व्रत ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष प्रतिपदा से प्रारंभ होकर आषाढ़ कृष्णा प्रतिपदा को समाप्त होता है। इसमें प्रथम ज्येष्ठ वदी प्रतिपदा को प्रोषध किया जाता है। इसके बाद कृष्ण पक्ष के शेष 14 दिन एकासन करते हैं। पुन: ज्येष्ठ सुदी प्रतिपदा को उपवास और शेष 14 दिन एकासन या आषाढ़ वदी प्रतिपदा को उपवास कर व्रत की समाप्ति की जाती है। करें भगवान आदिनाथ का अभिषेक =========================== ज्येष्ठ जिनवर व्रत में मिट्टी के पाँच कलशों से प्रतिदिन भगवान आदिनाथ का अभिषेक करना चाहिए। 'ह्रीं श्रीज्येष्ठजिनाधिपतये नम: कलशस्थापनं करोमि इस मंत्र को पढ़कर कलशों की स्थापना की जाती है। पाँच कलशों में से चार कलशों द्वारा अभिषेक स्थापन के समय ही किया जाता है और एक कलश से जयमाल पढऩे के अनन्तर अभिषेक होता है। इस व्रत में ज्येष्ठ जिनवर की पूजा की जाती है। 'ह्रीं श्रीऋषभजिनेन्द्राय नम: इस मंत्र का जाप करना होता है। ज्येष्ठ मास भर तीनों समय सामायिक करना, ब्रह्मचर्य का पालन एवं शुद्ध और अल्प भोजन करना आवश्यक है।

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB