Narendra Pal Singh
Narendra Pal Singh Nov 20, 2017

good morning friends

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+18 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Rakesh. Kumar soni Oct 25, 2020

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 28 शेयर
Praveen sharma Oct 25, 2020

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Manoj Sahu Oct 25, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
💓AS💓 Oct 25, 2020

+24 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Manoj Sahu Oct 25, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

"एक संवाद लंकेश के साथ" कल सुबह-सुबह रास्ते में एक दस सिर वाला हट्टा कट्टा बंदा अचानक मेरी बाइक के आगे आ गया। जैसे तैसे ब्रेक लगाई और पूछा.. क्या अंकल 20-20 आँखें हैं..फिर भी दिखाई नहीं देता ? जवाब मिला- थोड़ा तमीज से बोलो, हम लंकेश्वर रावण हैं ! ओह अच्छा ! तो आप ही हो श्रीमान रावण ! एक बात बताओ..ये दस-दस मुंह संभालने थोड़े मुश्किल नहीं हो जाते ? मेरा मतलब शैम्पू वगैरह करते टाइम..यू नो...और कभी सर दर्द शुरू हो जाए तो पता करना मुश्किल हो जाता होगा कि कौनसे सर में दर्द हो रहा है...? रावण- पहले ये बताओ तुम लोग कैसे डील करते हो इतने सारे मुखोटों से ? हर रोज चेहरे पे एक नया मुखोटा , उस पर एक और मुखोटा , उस पर एक और ! यार एक ही मुंह पर इतने नकाब...थक नहीं जाते ? अरे-अरे आप तो सिरियस ले गए...मै तो वैसे ही... अच्छा ये बताओ मैंने सुना है आप कुछ ज्यादा ही अहंकारी हो? रावण- हाहाहाहाहाहाहा अब इसमे हंसने वाली क्या बात थी , कोई जोक मारा क्या मैंने ? रावण- और नहीं तो क्या...एक 'कलियुगी इन्सान' के मुंह से ये शब्द सुनकर हंसी नहीं आएगी तो और क्या होगा ? तुम लोग साले एक छोटी मोटी डिग्री क्या ले लो, अँग्रेजी के दो-पाँच अक्षर क्या सीख लो, यूं इतरा के चलते हो जैसे तुमसे बड़ा ज्ञानी कोई है ही नहीं इस धरती पे ! एक तुम ही समझदार ,बाकी सब गँवार ! और मैंने चारों वेद पढ़ के उनपे टीका टिप्पणी तक कर दी ! चंद्रमा की रोशनी से खाना पकवा लिया ! इतने-इतने कलोन बना डाले, दुनिया का पहला विमान और खरे सोने की लंका बना दी ! तो थोड़ा बहुत घमंड कर भी लिया तो कौन आफत आ पड़ी... हैं? चलो ठीक है बॉस,ये तो जस्टिफ़ाई कर दिया आपने, लेकिन...लेकिन गुस्सा आने पर बदला चुकाने को किसी की बीवी ही उठा के ले गए ! ससुरा मजाक है का ? बीवी न हुई छोटी मोटी साइकल हो गयी...दिल किया, उठा ले गए बताओ ! (एक पल के लिए रावण महाशय तनिक सोच में पड़ गए, मेरे चेहरे पर एक विजयी मुस्कान आने ही वाली थी कि फिर वही इरिटेटिंग अट्टहास ) हाहाहाहाहाहहह लुक हू इज़ सेइंग ! अबे मैंने श्री राम की बीवी को उठाया, मानता हूँ बहुत बड़ा पाप किया और उसका परिणाम भी भुगता ,पर मेघनाथ की कसम- कभी जबरदस्ती दूर...हाथ तक नहीं लगाया,उनकी गरिमा को रत्ती भर भी ठेस नहीं पहुंचाई और तुम.. तुम कलियुगी इन्सान !! छोटी-2 बच्चियों तक को नहीं बख्शते ! अपनी हवस के लिए किसी भी लड़की को शिकार बना लेते हो...कभी जबरदस्ती तो कभी झूठे वादों,छलावों से ! अरे तुम दरिंदों के पास कोई नैतिक अधिकार बचा भी है भी मेरे चरित्र पर उंगली उठाने का ?? फोकट में ही ! इस बार शर्म से सर झुकाने की बारी मेरी थी...पर मै भी ठहरा पक्का 'इन्सान' ! मज़ाक उड़ाते हुए बोला...अरे जाओ-जाओ अंकल ! दशहरा कल ही है, सारी हेकड़ी निकाल देंगे देखना (और इस बार लंकवेशवर जी इतनी ज़ोर से हँसे कि मै गिरते- गिरते बचा !) यार तुम तो नवजोत सिंह सिद्धू के भी बाप हो ,बिना बात इतनी ज़ोर-2 से काहे हँसते हो...ऊपर से एक भी नहीं दस-दस मुंह लेके, कान का पर्दा फाड़ दो, जरा और ज़ोर से हंसो तो ! रावण- यार तुम बात ही ऐसी करते हो । वैसे कमाल है तुम इन्सानो की भी..विज्ञान में तो बहुत तरक्की कर ली पर कॉमन सैन्स ढेले का भी नहीं ! हर साल मेरा पुतला भर जला के खुश हो जाते हो और मैं कहीं ना कहीं तुम सब के अंदर ही मौजूद रहता हूँ !! वैसे अब तो मुझे ही घुटन सी होने लगी है तुम लोगों के अंदर रह कर...मै खुद ही चला जाऊंगा जल्दी ही ! डोंट वरी !😀😀 आप सभी को दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं..🌷🙏💰💰💰 पैसा कमाने के लिये इतना वक्त खर्च करों कि खर्च करने के बाद कुछ दान धर्म भी कर सको पैसा खर्च करने में इतना समय खर्च मत करो कि कमाने के लिए दोबारा जन्म लेना पड़े । 🙏🏻👏🏻🙏🏻🍅✴☀❣जय मां अंबे भवानी ❣☀✴🍅❣ 🍂🐚 गंगा गीता गायत्री 🍂🐚 (¯`•.•´¯) *`•.¸(¯`•.•´¯)¸.•´ `•.¸.•´ ჱܓ*“ 🍅✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴🍅 ☆*´¨`☽  ¸.★* ´¸.★*´¸.★*´☽ (  ☆** Ψ त्रिवेणी घाट हरिद्वार .Ψ `★.¸¸¸. ★• ° 🙏भरत 🌺🌺हिसार🌺🌺🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏 हे मेरे मधुरेश्वर भगवन् श्रीबाँकेबिहारी जी.. 🌹श्रीराधे🌹 हे सच्चिदानंद भगवन्... क्या अब भारत बडे भूकंप{ Mejar Arath Crecke}/सुनामी की जद मे/ मुहाने पर है..???🤔 हे भगवन् यदि ऐसा कुछ है..तो हम सभी के हृदयों की.. अग्रिम त्राहिमाम प्रार्थनाए.. स्वीकार हो..त्राहिमाम....हे भगवन् सभी की रक्षा ..हे भगवन हमारे देश..प्रदेश.. विश्व और सकल जीव जंतुओं वनस्पतियों की रक्षा करें.. 🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏श्री अनंत दुबे

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB