Renu Singh
Renu Singh Apr 11, 2021

Jai Shree Ram 🌹🙏🌹 Om Surya Devay Namah 🙏 Shubh Prabhat Vandan Ji 🙏🌹🙏🌹🙏

Jai Shree Ram 🌹🙏🌹 Om Surya Devay Namah 🙏 Shubh Prabhat Vandan Ji 🙏🌹🙏🌹🙏

+722 प्रतिक्रिया 152 कॉमेंट्स • 889 शेयर

कामेंट्स

charu sharma Apr 11, 2021
om surya devaya namah 🙏🌹 shubh dophar vandan dear sister 🌹🙏🌹🙏🌹🙏

🌷JK🌷 Apr 11, 2021
🙏🏼🌷🙏🏼Radhe Radhe 🙏🏼🌷🙏🏼 Good afternoon ji 🙏🏼🌷🙏🏼

💫Shuchi Singhal💫 Apr 11, 2021
Om suryay Namah Radhe Radhe Good Afternoon Dear Sister ji Thakur ji ki kirpa aapki family pe bni rhe pyari Bhena ji🙏🍁🍁

Jawahar lal bhargava Apr 11, 2021
🚩 Om Suryaye Namah 🌹🌹 🙏🙏 🌹🌹 Bhagwan Suryadev ji ki Kripa Aap Aur Aapke Parivaar par Sada Bni Rhe Aapka har pal Shubh Aur Mangalmaye ho 🙏🙏 Sister ji

kamala Maheshwari Apr 11, 2021
जय श्री सुर्य   देवाय नमः❣️🚩❣️🚩 जय श्री हरि विष्णु की बाकैविहारी की🚩 राधेरानीकी कानहा कीकृपासदैव आप ओर आपकेपरिवार पर बनी रहे जयश्रीकृष्णजी🚩 आपकाशुभ दिन मगलमय हो🚩❣️🚩❣️🚩

EXICOM Apr 11, 2021
🙏🏻🌷ऊँ🌷🙏🏻 🙏🏻🌷शाँतिं🌷🙏🏻 🙏🏻🌷दीदी🌷🙏🏻 🙏🏻🌷जी🌷🙏🏻

🕉️ Apr 11, 2021
... ॐ श्री सूर्याय नमः ... . Radhe Radhe JI Good Afternoon JI dear sist 🙏🌷🙏 God bless you nd your family Ji Always be happy 💘🌸💞🌼💞🌼🌼

K L Tiwari Apr 11, 2021
🏵️🌹🏵️ॐ श्री सूर्यदेवाय नमः🌷🌼🌷 🌷🌷🌹🌹राम राम बहन, जय श्री माता की बहन,चरण छूकर सादर प्रणाम करता हूँ प्यारी रानी बहना, जगतजननी जगदम्बा मेरी बहना को सदा स्वस्थ और सुंदर बनाए रखें🌹श्रीमाता की कृपा से आपके माँथे की बिंदिया सदा चमकती रहे🌾सिर पर चुनरी सजती रहे💗पैरों में पायल छनकती रहे💮मेरी बहना फूलों की तरह खिलती महकती रहें खुश्बू की तरह बिखरती रहें🌹सूर्यदेव जी की कृपा तो आप पर सदैव बनी रहे🙏 आप सदा सर्वदा निरोग और स्वस्थ रहें बहना🌷🌼आपका हर पल शुभ और मंगलमय हो🌹🌹 🌹🙏🌹शुभसंध्या वन्दन बहन🌹🙏

RAJ RATHOD Apr 11, 2021
🚩🌞जय सुर्यदेव 🌞🚩 🌹🌹शुभ रविवार... 🌅शुभ संध्या वंदन 🙏🌺🌺आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय हो 🌺🌺

kamlesh Goyal🌹🙏🙏🌹 Apr 11, 2021
राधे राधे जय श्री कृष्णा बहन ठाकुर जी की कृपा राधा रानी का आशीर्वाद सदा आप पर आपके परिवार पर बना रहे जय श्री कृष्णा जय श्री राधे शुभ संध्या वंदन जी🙏🙏

Manoj manu Apr 11, 2021
🚩🌺जय श्री कृष्णा जी राधे राधे जी शुभ संध्या मधुर मंगल जी दीदी 🌿🙏

Seema Sharma. Himachal (chd) Apr 11, 2021
दरारें अपनों में* *इस क़दर ना बढ़ने देना..............* *कि ग़ैरों की जरूरत पड़े* *मरम्मत के लिए ।।* शुभ संध्या वंदन बहना जी 😊🌺🌷🌹🙏

🌷Om Sai Shyam🌷 Apr 11, 2021
🌷Radhey Radhey 🌷 🥀Good evening Renu Didi🥀...🌲🌷Baba ji bless you and your family🌲🌷..🌷om Sai Ram G🌷

🕉️ Apr 11, 2021
💫Jay Shiri 💫 Ram ॐ श्री सूर्याय नमः 💫 💫💫💫💫💫💫 रविवार रात्री की हार्दिक 🙏 शुभकामनाएं 🙏 💫🏹🎉💫🎉💫🎉 🔯 शुभ रात्री.. शुभ स्वप्न 💞🥀🥀🌼🥀🥀🌼

p kumar Apr 12, 2021
🙏🌷सुप्रभात🌷🙏 🙏🌷जय श्री राम🌷🙏 🙏🌷जय हनुमान🌷🙏 🙏🌷जय माता की🌷🙏 🙏🌷ॐ नमः शिवाय🌷🙏 🙏🌷हर हर महादेव🌷🙏 🌷जय श्री महाकाल🌷 ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

K K MORI Apr 12, 2021
जय श्री राम🙏 जय श्री कृष्ण शुभ संध्या वंदन बहन जी आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय हो 🙏🌹🌺

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
🌷JK🌷 May 10, 2021

+115 प्रतिक्रिया 30 कॉमेंट्स • 9 शेयर
Ramesh Agrawal May 10, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Gopal Prasad May 9, 2021

#शास्त्रों_में_स्वच्छता_के_सूत्र हमारे पूर्वज अत्यंत दूरदर्शी थे। उन्होंने हजारों वर्षों पूर्व वेदों व पुराणों में महामारी की रोकथाम के लिए परिपूर्ण स्वच्छता रखने के लिए स्पष्ट निर्देश दे कर रखें हैं- 1. लवणं व्यञ्जनं चैव घृतं तैलं तथैव च । लेह्यं पेयं च विविधं हस्तदत्तं न भक्षयेत् ।। - धर्मसिन्धू ३पू. आह्निक नामक, घी, तेल, चावल, एवं अन्य खाद्य पदार्थ चम्मच से परोसना चाहिए हाथों से नही। 2. अनातुरः स्वानि खानि न स्पृशेदनिमित्ततः ।। - मनुस्मृति ४/१४४ अपने शरीर के अंगों जैसे आँख, नाक, कान आदि को बिना किसी कारण के छूना नही चाहिए। 3. अपमृज्यान्न च स्न्नातो गात्राण्यम्बरपाणिभिः ।। - मार्कण्डेय पुराण ३४/५२ एक बार पहने हुए वस्त्र धोने के बाद ही पहनना चाहिए। स्नान के बाद अपने शरीर को शीघ्र सुखाना चाहिए। 4. हस्तपादे मुखे चैव पञ्चाद्रे भोजनं चरेत् ।। पद्म०सृष्टि.५१/८८ नाप्रक्षालितपाणिपादो भुञ्जीत ।। - सुश्रुतसंहिता चिकित्सा २४/९८ अपने हाथ, मुहँ व पैर स्वच्छ करने के बाद ही भोजन करना चाहिए। 5. स्न्नानाचारविहीनस्य सर्वाः स्युः निष्फलाः क्रियाः ।। - वाघलस्मृति ६९ बिना स्नान व शुद्धि के यदि कोई कर्म किये जाते है तो वो निष्फल रहते हैं। 6. न धारयेत् परस्यैवं स्न्नानवस्त्रं कदाचन ।I - पद्म० सृष्टि.५१/८६ स्नान के बाद अपना शरीर पोंछने के लिए किसी अन्य द्वारा उपयोग किया गया वस्त्र(टॉवेल) उपयोग में नही लाना चाहिये। 7. अन्यदेव भवद्वासः शयनीये नरोत्तम । अन्यद् रथ्यासु देवानाम अर्चायाम् अन्यदेव हि ।। - महाभारत अनु १०४/८६ पूजन, शयन एवं घर के बाहर जाते समय अलग- अलग वस्त्रों का उपयोग करना चाहिए। 8. तथा न अन्यधृतं (वस्त्रं धार्यम् ।। - महाभारत अनु १०४/८६ दूसरे द्वारा पहने गए वस्त्रों को नही पहनना चाहिए। 9. न अप्रक्षालितं पूर्वधृतं वसनं बिभृयाद् ।। - विष्णुस्मृति ६४ एक बार पहने हुए वस्त्रों को स्वच्छ करने के बाद ही दूसरी बार पहनना चाहिए। 10. न आद्रं परिदधीत ।। - गोभिसगृह्यसूत्र ३/५/२४ गीले वस्त्र न पहनें। सनातन धर्म ग्रंथो के माध्यम से ये सभी सावधानियां समस्त भारतवासियों को हजारों वर्षों पूर्व से सिखाई जाती रही है। इस पद्धति से हमें अपनी व्यग्तिगत स्वच्छता को बनाये रखने के लिए सावधानियां बरतने के निर्देश तब दिए गए थे जब आज के जमाने के माइक्रोस्कोप नही थे। लेकिन हमारे पूर्वजों ने वैदिक ज्ञान का उपयोग कर धार्मिकता व सदाचरण का अभ्यास दैनिक जीवन में स्थापित किया था। आज भी ये सावधानियां अत्यन्त प्रासंगिक है। यदि हमें ये उपयोगी लगती हो तो इनका पालन कर सकते हैं। सनातन संस्कृति 🚩 यदि सही लगे, तो कृपया इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचायें। कापी करें। रामायण संदेश 🚩🚩🚩 रामायण संदेश 🚩🚩🚩 #जय_श्रीराम

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ramesh Agrawal May 8, 2021

+1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Neeta Trivedi May 10, 2021

+390 प्रतिक्रिया 71 कॉमेंट्स • 827 शेयर
Mamta Chauhan May 10, 2021

+302 प्रतिक्रिया 59 कॉमेंट्स • 242 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB