nutan
nutan May 5, 2021

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

जय श्री राधे कृष्णा राधे राधे जीश्याम शुभ संध्याकी सबको राम राम जी राम राम🙏 महामारी बीमारी कोरोना वायरसने सबको बहुत परेशान😇 किया है 🙏😌 प्रार्थना है उस परमपिता परमात्मा इस महामारी कोरोना☠️👹🦠🦠 वायरस को जल्दी से पूरी🌎🔭🌍 📡🌎दुनिया से समाप्त करें सभी हंसी खुशी फिर से मुस्कुराए जय श्री हरि 🙏 कभी कभी हंस भी लिया करो आदरणीय भाइयों बहनों श्रीमती श्री मानवों क्योंकि हंसना 🏋️भी योग 💪😊से कम नहीं और इस कोरोना महामारी में इतना दम नहीं कि वह😬😀 हिंदुस्तानियों को हंसने 😳☺️से रोक दें 🙊हमारे हिंदुस्तान में हर बीमारी के ऊपर मजाक बना ही लेते हैं और वैसे भी जो होनी को मंजूर होता है होता तो वही है जैसे हमारे हिंदुस्तान में कहावत है दुख आता है हाथी की चाल 🐘🐘जाता है चींटी 🐜🐜की चाल 🦠🦠🐛वायरस भी अपने वारिसों 👹👺☠️🦠🐛🦠को लेकर ऐसे ही चला जाएगा एक दिन पर पता नहीं तब तक किस-किस को अपनी चपेट में लेकर जाएगा इसलिए😷😷👈 सावधानी हटी दुर्घटना😷😇 घटी अपनी सेफ्टी अपने हाथ🙏 सरकार भी अब इससेज्यादानहीं कर सकती हैlock-down 👈सेसभी सुरक्षित रहें अपनों को सुरक्षित रखें जय राम जी की 🙏😊😊🌹🌹🕉️🌹🌹⛳⛳⛳

+16 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 5 शेयर
lndu Malhotra May 6, 2021

+7 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+17 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 4 शेयर
arvind sharma May 6, 2021

🐇इस दुनिया मे जो है🍁 वह विश्वास है 🐇 निराश न होकर भगवान की और बढ चले🚩 भगवान श्रीहरि जगतपालनहार हमारी आपकी सदा रक्षा करेगे 🌾💠🌾 बिल्कुल भी निराश न होकर श्रीकृष्ण भगवान की और बढ चले सचमुच बढने की एच्छा रखने वाले को प्रभु बुला लेते है! 🌱जगत के किसी हेर-फेर से चकित होने कि आवश्यकता नही🌱 जो कुछ होता है !!🌱भगवान का रचा हुआ होता है!!🌱 आपके न चाहने पर भी वह होकर रहगा !!🌱उसे कोई भी टाल नही सकता!🌱 इसलिए यहा से अपनी दुष्टि स्वार्थ मोड लेनी चाहिए !🌱और अधिक से अधिक भगवान का चिन्तन करते रहना चाहिए 🌱अन्यथा इस जगत को देखकर कभी हसना और कभी रोना पडेगा 🌱अगर भगवान पर भरोसा रखा तो सब कुछ ठीक हो जायेगा !!🪶🪶🪶🪶 🍁उनके होकर हम दुखी हो तो उनको दुख पहुचाते हम🍁 🍁उनके सुखमे यो बाधक बन उनपर ही कलक लगाते!🍁 🍁हम उनपर यदि है विश्वास हमे तो क्यो इतना सकुचाते🍁

+31 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Vandana Singh May 6, 2021

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
🌷Dev... 🌷 May 6, 2021

+13 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ravi Kumar Taneja May 6, 2021

🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉 🌹श्रीमन नारायण नारायण हरि हरि🌹 🔯 *हमें ऐसा क्यों लगता है कि आज के समय मंत्र असरकारक नही है*🔯 🏹🔥🏹🔥🏹🔥🏹🔥🏹 🕉हम सभी किसी न किसी मन्त्र का जप करते हैं, पुराणों से लेकर ग्रन्थ तक मे लिखा है कि मन्त्र जप से हर समस्या दूर होती है लेकिन क्या कारण है कि हमारी समस्या अनवरत बनी हुई है ,आइये इस कथा के माध्य्म से समझे।🕉 🌴 *माधवाचार्य जी गायत्री के घोर उपासक थे वृंदावन मे उन्होंने तेरह वर्ष तक गायत्री के समस्त अनुष्ठान विधिपूर्वक किये।*🌴 🌲लेकिन उन्हे इससे न भौतिक न आध्यायत्मिकता लाभ दिखा।🌲 🌲वो निराश हो कर काशी गये वहां उन्हें एक आवधूत मिला जिसने उन्हें एक वर्ष तक काल भैरव की उपासना करने को कहा।🌲 🌲उन्होंने एक वर्ष से अधिक ही कालभैरव की आराधना की एक दिन उन्होंने आवाज सुनी🌲 🏹 *मै प्रस्ंन्न हूं वरदान मांगो*🏹 🌲उन्हें लगा कि ये उनका भ्रम हे क्योंकि सिर्फ आवाज सुनायी दे रही थी कोइ दिखाई नहीं दे रहा था। उन्होंने सुना अनसुना कर दिया लेकिन वही आवाज फिर से उन्हें तीन बार सुनायी दी।🌲 🏹 *तब माधवाचार्य जी ने कहा आप सामने आ कर अपना परिचय दे मै अभी काल भैरव की उपासना मे व्यस्त हूं।*🏹 🌲सामने से आवाज आयी तूं जिसकी उपासना कर रहा है वो मै ही काल भैरव हूँ🌲 *माधवाचार्य जी ने कहा तो फिर सामने क्यो नहीं आते?* काल भैरव जी ने कहा* 🕉 *"माधवा तुमने तेरह साल तक जिन गायत्री मंत्रों का अखंड जाप किया है* *उसका तेज तुम्हारे सर्वत्र चारो ओर व्याप्त है।*🕉 🌲मनुष्य रूप मै उसे मै सहन नहीं कर सकता, इसीलिए सामने नहीं आ सकता हूँ।🌲 🏹 *माध्वाचार्य ने कहा जब आप उस तेज का सामना नहीं कर सकते है तब आप मेरे किसी काम के नहीं आप वापस जा सकते है।*🏹 🌴 *लेकिन मै तुम्हारा समाधान किये बिना नहीं जा सकता हूं।*🌴 *🌴तब फिर ये बताइये कि मेने पिछले तेरह वर्षों से किया गायत्री अनुष्ठान मुझे क्यों नहीं फला?*🌴 *🕉काल भैरव ने कहा* *वो अनुष्ठान निष्फल नहीं हुए है उससे तुम्हारे जन्म जन्मांतरो के पाप नष्ट हुए है।*🕉 *🌲तो अब मै क्या करू?* 🕉"फिर से वृंदावन जा कर ओर एक वर्ष गायत्री का अनुष्ठान कर इस से तेरे इस जन्म के भी पाप नष्ट हो जायेंगे फिर गायत्री मां प्रसन्न होगी।"🕉 *आप या गायत्री कहां होते है हम यहीं रहते है पर अलग रुपों मे ये मंत्र जप जाप और कर्म कांड तुम्हें हमे देखने की शक्ति, सिध्दि देते है जिन्हें तुम साक्षात्कार कहते हो।* 🌲 *माधवाचार्य वृंदावन लौट आये अनुष्ठान शुरु किया* *एक दिन बृह्म मूहुर्त मे अनुष्ठान मे बैठने ही वाले थे कि उन्होंने आवाज सुनी*🌲 🕉 *"मै आ गयी हूँ माधव वरदान मांगो"*🕉 *🕉मां !!!!! 🕉माधवाचार्य फूटफूट कर रोने लगे।* 🌴*मां !!!!पहले बहुत लालसा थी कि वरदान मांगू लेकिन अब् कुछ मांगने की इच्छा रही नही, मां!!! *आप जो मिल गयी हो*🌴 🌹 *माधव!तुम्हें मांगना तो पडेगा ही*🌹 🙏 *मां ये देह,शरीर भले ही नष्ट हो जाये लेकिन इस शरीर से की गयी भक्ति अमर रहे।*🙏 🙏इस भक्ति की आप सदैव साक्षी रहो। यही वरदान दो!!!🙏 🕉तथास्तु🕉 आगे तीन वर्षों मै माधवाचार्य जी नै माधवनियम नाम का आलौकिक ग्रंथ लिखा। 🌹 *याद रखिये*🌹 आपके द्वारा शुरू किये गये मंत्र जाप पहले दिन से ही काम करना शुरू कर देतै है। *लेकिन सबसे पहले प्रारब्ध के पापों को नष्ट करते है।* *देवताओं की शक्ति इन्हीं पापों को नष्ट करने मे खर्च हो जाती है।* *और जैसे ही ये पाप नष्ट होते है आपको एक आलौकिक तेज एक आध्यायात्मिक शक्ति और सिध्दि प्राप्त होने लगती है।*🙏🌴🙏 🎻🎷🎻🎷🎻🎷🎻🎷🎻 श्री लक्ष्मी नारायण भगवान जी की कृपा दृष्टि आप सभी पर बनी रहे 👏🌹👏 जय श्री लक्ष्मी नारायण हरि हरि 🙏🌷🙏 ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमो नमः🙏🌷🙏 🌟 *सदैव प्रसन्न रहिये।* *जो प्राप्त है, पर्याप्त है।।*🌟 शुभ संध्या वंदना🙏🌸🙏 🕉🦚🦢🙏🌹🙏🌹🙏🦢🦚🕉

+126 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 83 शेयर
HAZARI LAL JAISWAL May 6, 2021

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Malti Bansal May 6, 2021

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB