Neha Sharma, Haryana
Neha Sharma, Haryana Oct 24, 2020

*सृष्टिस्थितिविनाशानां शक्ति भूते सनातनि। *गुणाश्रये गुणमये नारायणि नमोऽस्तु ते॥ *अर्थात् तुम सृष्टि, पालन और संहार करने वाली शक्ति भूता, सनातनी देवी, गुणों का आधार तथा सर्वगुणमयी हो। नारायणि! तुम्हें नमस्कार है। *जय माता की*🙏🌸🌸 *नवरात्री के आठवें दिन आदि शक्ति माँ दुर्गा के महागौरी स्वरूप की उपासना विधि..... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ *माँ महागौरी स्वरूप एवं पौरिणीक महात्म्य...... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ *श्वेत वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बर धरा शुचि:। महागौरी शुभं दद्यान्महादेव प्रमोददा॥ *माँ दुर्गा का अष्टम रूप महागौरी हैं। महागौरी की चार भुजाएं हैं उनकी दायीं भुजा अभय मुद्रा में हैं और नीचे वाली भुजा में त्रिशूल शोभता है। बायीं भुजा में डमरू डम डम बज रही है और नीचे वाली भुजा से देवी गौरी भक्तों की प्रार्थना सुनकर वरदान देती हैं। जो स्त्री इस देवी की पूजा भक्ति भाव सहित करती हैं उनके सुहाग की रक्षा देवी स्वयं करती हैं। कुंवारी लड़की मां की पूजा करती हैं तो उसे योग्य पति प्राप्त होता है। पुरूष जो देवी गौरी की पूजा करते हैं उनका जीवन सुखमय रहता है देवी उनके पापों को जला देती हैं और शुद्ध अंत:करण देती हैं। मां अपने भक्तों को अक्षय आनंद और तेज प्रदान करती हैं। इनका वर्ण पूर्णतः गौर है, इसलिए ये महागौरी कहलाती हैं। नवरात्रि के अष्टम दिन इनका पूजन किया जाता है। इनकी उपासना से असंभव कार्य भी संभव हो जाते हैं। माँ महागौरी की आराधना से किसी प्रकार के रूप और मनोवांछित फल प्राप्त किया जा सकता है। उजले वस्त्र धारण किये हुए महादेव को आनंद देवे वाली शुद्धता मूर्ती देवी महागौरी मंगलदायिनी हों। *इनका वर्ण पूर्णतः गौर है। इस गौरता की उपमा शंख, चन्द्र और कून्द के फूल की गयी है। इनकी आयु आठ वर्ष बतायी गयी है। इनका दाहिना ऊपरी हाथ में अभय मुद्रा में और निचले दाहिने हाथ में त्रिशूल है। बांये ऊपर वाले हाथ में डमरू और बांया नीचे वाला हाथ वर की शान्त मुद्रा में है। पार्वती रूप में इन्होंने भगवान शिव को पाने के लिए कठोर तपस्या की थी। इन्होंने प्रतिज्ञा की थी कि व्रियेअहं वरदं शम्भुं नान्यं देवं महेश्वरात्। गोस्वामी तुलसीदास के अनुसार इन्होंने शिव के वरण के लिए कठोर तपस्या का संकल्प लिया था जिससे इनका शरीर काला पड़ गया था। इनकी तपस्या से प्रसन्न होकर जब शिव जी ने इनके शरीर को पवित्र गंगाजल से मलकर धोया तब वह विद्युत के समान अत्यन्त कांतिमान गौर हो गया, तभी से इनका नाम गौरी पड़ा। महागौरी आदी शक्ति हैं इनके तेज से संपूर्ण विश्व प्रकाश-मान होता है इनकी शक्ति अमोघ फलदायिनी हैम माँ महागौरी की अराधना से भक्तों को सभी कष्ट दूर हो जाते हैं तथा देवी का भक्त जीवन में पवित्र और अक्षय पुण्यों का अधिकारी बनता है। *दुर्गा सप्तशती में शुभ निशुम्भ से पराजित होकर गंगा के तट पर जिस देवी की प्रार्थना देवतागण कर रहे थे वह महागौरी हैं। देवी गौरी के अंश से ही कौशिकी का जन्म हुआ जिसने शुम्भ निशुम्भ के प्रकोप से देवताओं को मुक्त कराया। यह देवी गौरी शिव की पत्नी हैं यही शिवा और शाम्भवी के नाम से भी पूजित होती हैं। *माँ महागौरी पूजा विधि..... 〰️〰️🔸〰️🔸〰️〰️ *नवरात्रे के दसों दिन कुवारी कन्या भोजन कराने का विधान है परंतु अष्टमी के दिन का विशेष महत्व है। इस दिन महिलाएं अपने सुहाग के लिए देवी मां को चुनरी भेंट करती हैं। देवी गौरी की पूजा का विधान भी पूर्ववत है अर्थात जिस प्रकार सप्तमी तिथि तक आपने मां की पूजा की है उसी प्रकार अष्टमी के दिन भी देवी की पंचोपचार सहित पूजा करें। देवी का ध्यान करने के लिए दोनों हाथ जोड़कर इस मंत्र का उच्चारण करें👇 *सिद्धगन्धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि। सेव्यामाना सदा भूयात सिद्धिदा सिद्धिदायिनी॥ *महागौरी रूप में देवी करूणामयी, स्नेहमयी, शांत और मृदुल दिखती हैं।देवी के इस रूप की प्रार्थना करते हुए देव और ऋषिगण कहते हैं *माँ महागौरी के मंत्र..... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ 1👉 श्वेते वृषे समरूढा श्वेताम्बराधरा शुचिः। महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोददा।। 2👉 या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।। *माँ महागौरी ध्यान..... 〰️〰️🔸🔸〰️〰️ *वन्दे वांछित कामार्थे चन्द्रार्घकृत शेखराम्। *सिंहरूढ़ा चतुर्भुजा महागौरी यशस्वनीम्॥ *पूर्णन्दु निभां गौरी सोमचक्रस्थितां अष्टमं महागौरी त्रिनेत्राम्। *वराभीतिकरां त्रिशूल डमरूधरां महागौरी भजेम्॥ *पटाम्बर परिधानां मृदुहास्या नानालंकार भूषिताम्। *मंजीर, हार, केयूर किंकिणी रत्नकुण्डल मण्डिताम्॥ *प्रफुल्ल वंदना पल्ल्वाधरां कातं कपोलां त्रैलोक्य मोहनम्। *कमनीया लावण्यां मृणांल चंदनगंधलिप्ताम्॥ *माँ महागौरी स्तोत्र पाठ..... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ *सर्वसंकट हंत्री त्वंहि धन ऐश्वर्य प्रदायनीम्। *ज्ञानदा चतुर्वेदमयी महागौरी प्रणमाभ्यहम्॥ *सुख शान्तिदात्री धन धान्य प्रदीयनीम्। *डमरूवाद्य प्रिया अद्या महागौरी प्रणमाभ्यहम्॥ *त्रैलोक्यमंगल त्वंहि तापत्रय हारिणीम्। *वददं चैतन्यमयी महागौरी प्रणमाम्यहम्॥ *माँ महागौरी कवच..... 〰️〰️🔸〰️🔸〰️〰️ *ओंकारः पातु शीर्षो मां, हीं बीजं मां, हृदयो। *क्लीं बीजं सदापातु नभो गृहो च पादयो॥ *ललाटं कर्णो हुं बीजं पातु महागौरी मां नेत्रं घ्राणो। *कपोत चिबुको फट् पातु स्वाहा मा सर्ववदनो॥ *माँ महागौरी की कथा.... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ *देवी पार्वती रूप में इन्होंने भगवान शिव को पति-रूप में प्राप्त करने के लिए कठोर तपस्या की थी, एक बार भगवान भोलेनाथ ने पार्वती जी को देखकर कुछ कह देते हैं। जिससे देवी के मन का आहत होता है और पार्वती जी तपस्या में लीन हो जाती हैं। इस प्रकार वषों तक कठोर तपस्या करने पर जब पार्वती नहीं आती तो पार्वती को खोजते हुए भगवान शिव उनके पास पहुँचते हैं वहां पहुंचे तो वहां पार्वती को देखकर आश्चर्य चकित रह जाते हैं। पार्वती जी का रंग अत्यंत ओजपूर्ण होता है, उनकी छटा चांदनी के सामन श्वेत और कुन्द के फूल के समान धवल दिखाई पड़ती है, उनके वस्त्र और आभूषण से प्रसन्न होकर देवी उमा को गौर वर्ण का वरदान देते हैं। *एक कथा अनुसार भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए देवी ने कठोर तपस्या की थी जिससे इनका शरीर काला पड़ जाता है। देवी की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान इन्हें स्वीकार करते हैं और शिव जी इनके शरीर को गंगा-जल से धोते हैं तब देवी विद्युत के समान अत्यंत कांतिमान गौर वर्ण की हो जाती हैं तथा तभी से इनका नाम गौरी पड़ा। महागौरी जी से संबंधित एक अन्य कथा भी प्रचलित है इसके जिसके अनुसार, एक सिंह काफी भूखा था, वह भोजन की तलाश में वहां पहुंचा जहां देवी उमा तपस्या कर रही होती हैं। देवी को देखकर सिंह की भूख बढ़ गयी परंतु वह देवी के तपस्या से उठने का इंतजार करते हुए वहीं बैठ गया। इस इंतजार में वह काफी कमज़ोर हो गया। देवी जब तप से उठी तो सिंह की दशा देखकर उन्हें उस पर बहुत दया आती है, और माँ उसे अपना सवारी बना लेती हैं क्योंकि एक प्रकार से उसने भी तपस्या की थी। इसलिए देवी गौरी का वाहन बैल और सिंह दोनों ही हैं। *देवी महागौरी का ध्यान, स्रोत पाठ और कवच का पाठ करने से ‘सोमचक्र’ जाग्रत होता है जिससे संकट से मुक्ति मिलती है और धन, सम्पत्ति और श्री की वृध्दि होती है। इनका वाहन वृषभ है। *माँ महागौरी आरती..... 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ *नवरात्रि में विशेष है महागौरी का ध्यान। *शिव की शक्ति देती हो अष्टमी को वरदान॥ *मन अपना एकाग्र कर नन्दीश्वर को पाया। *सुबह शाम के दूप से काली हो गई काया॥ *गंगा जल की धार से शिव स्नान कराया। *देख पति के प्रेम को मन का कमल खिलाया॥ *बैल सवारी जब करे शिवजी रहते साथ। *अर्धनारीश्वर रूप में आशीर्वाद का हाथ॥ *सर्व कला सम्पूरण माँ साधना करो सफल। *भूलूं कभी ना आपको याद रखूं पल पल॥ *जय माँ महागौरी। *जय जय महागौरी॥ *माँ दुर्गा की आरती...... 〰️〰️🔸〰️🔸〰️〰️ *जय अंबे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी । *तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी ॥ ॐ जय… *मांग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को । *उज्ज्वल से दोउ नैना, चंद्रवदन नीको ॥ ॐ जय… *कनक समान कलेवर, रक्तांबर राजै । *रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै ॥ ॐ जय… *केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्पर धारी । *सुर-नर-मुनिजन सेवत, तिनके दुखहारी ॥ ॐ जय… *कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती । *कोटिक चंद्र दिवाकर, राजत सम ज्योती ॥ ॐ जय… *शुंभ-निशुंभ बिदारे, महिषासुर घाती । *धूम्र विलोचन नैना, निशदिन मदमाती ॥ॐ जय… *चण्ड-मुण्ड संहारे, शोणित बीज हरे । *मधु-कैटभ दोउ मारे, सुर भय दूर करे ॥ॐ जय… *ब्रह्माणी, रूद्राणी, तुम कमला रानी । *आगम निगम बखानी, तुम शिव पटरानी ॥ॐ जय… *चौंसठ योगिनी गावत, नृत्य करत भैंरू । *बाजत ताल मृदंगा, अरू बाजत डमरू ॥ॐ जय… *तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता । *भक्तन की दुख हरता, सुख संपति करता ॥ॐ जय… *भुजा चार अति शोभित, वरमुद्रा धारी । *मनवांछित फल पावत, सेवत नर नारी ॥ॐ जय… *कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती । *श्रीमालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योती ॥ॐ जय… *श्री अंबेजी की आरति, जो कोइ नर गावे । *कहत शिवानंद स्वामी, सुख-संपति पावे ॥ॐ जय… 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️

+271 प्रतिक्रिया 48 कॉमेंट्स • 127 शेयर

कामेंट्स

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Oct 24, 2020
Good Afternoon My Sister ji 🙏🙏 Jay Mata di 🙏🙏🌹🌷🌹Mata Rani 🙏🙏🌹💐🌷🌹🌹Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷.

🌹Kalpesh Rao🌹 Oct 24, 2020
✍️👉Suभ 2phr नेहा Ji👈✍️ कोई याद नहीं करता जब तक मैं खुद न करूँ याद, एसी हालत में कैसे कह दूँ कि मेरे अपने बहुत है।।। 🙏🏻🌹~हैप्पी वीकएंड~🌹🙏🏻 ꧁🌹जय माँ महागौरी🌹꧂ 🙏🏻आपका हर पल शुभ मंगलमय हो🙏🏻

R.K.SONI(Ganesh Mandir) Oct 24, 2020
जय माता दी,जय श्री राम. आप व आपके परिवार को . व राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाए।आप हमेशा खुश व स्वस्थ २हे।🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏

Jai Mata Di Oct 24, 2020
Jai Mata Di. Good Afternoon My Dear Sister. God Bless You And Your Fanily

ಗಿರಿಜಾ ನೂಯಿ Oct 24, 2020
🙏 🙏Good Afternoon Ji🌹🌹 🕉️🕉️🕉️Om Shri Mata Mahagouri Namo Namah🙏🙏🙏 Super Video Song Ji 👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍 🙏🔱🐯🙏Navaratri Ki Hardik Shubhakamnayein Ji🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 Have a blessed day, Mata Di ji, bless you & your family always be happy, healthy & wealthy dear sister ji🙏🙏🙏🙏🌷🌷🌷🌷🌸🌸🌸🌸💐💐💐💐🌻🌻🌻🌻

R.K.SONI(Ganesh Mandir) Oct 24, 2020
जय माता दी,जय श्री राम. आप व आपके परिवार को . व राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाए।आप हमेशा खुश व स्वस्थ २हे।🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏

Sanjay Rastogi Oct 24, 2020
jai mata di jai ma mahagouri aadishakti ma ki kripa se ap ka har pal subh aur mangalmay ho

🔱🛕काशी विश्वनाथ धाम🛕🔱 Oct 24, 2020
🌹🌿जय श्री राम 🌿🌹 🌺🦁जय माता दी🦁🌺 🙏🥀नमस्ते दीदी🥀🙏 🎎आपको सपरिवार शारदीय नवरात्रि केअष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏 🎎आप सभी पर मां महागौरी देवी व श्रीराम भक्त हनुमान जीऔर श्री शनिदेव भगवान की कृपादृष्टि सदा बनी रहे🙏 🌚आपका का संध्या मंगलमय हो🌚

Neha Sharma, Haryana Oct 25, 2020
@vedprakash.sahu 🌸🙏आपको सपरिवार दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक *शुभकामनाएँ भाई जी🙏🌸 🚩*अधर्म पर धर्म की विजय*🚩 🚩*असत्य पर सत्य की विजय*🚩 🚩*बुराई पर अच्छाई की विजय*🚩 🚩*पाप पर पुण्य की विजय*🚩 🚩*अत्याचार पर सदाचार की विजय*🚩 🚩*क्रोध पर दया, क्षमा की विजय*🚩 🚩*अज्ञान पर ज्ञान की विजय*🚩 🌸🙏रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व *विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायेँ🙏🌸

Neha Sharma, Haryana Oct 25, 2020
@shashimadan 🌸🙏आपको सपरिवार दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक *शुभकामनाएँ भाई जी🙏🌸 🚩*अधर्म पर धर्म की विजय*🚩 🚩*असत्य पर सत्य की विजय*🚩 🚩*बुराई पर अच्छाई की विजय*🚩 🚩*पाप पर पुण्य की विजय*🚩 🚩*अत्याचार पर सदाचार की विजय*🚩 🚩*क्रोध पर दया, क्षमा की विजय*🚩 🚩*अज्ञान पर ज्ञान की विजय*🚩 🌸🙏रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व *विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायेँ🙏🌸

Neha Sharma, Haryana Oct 25, 2020
@shivprakashsaraf 🌸🙏आपको सपरिवार दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक *शुभकामनाएँ भाई जी🙏🌸 🚩*अधर्म पर धर्म की विजय*🚩 🚩*असत्य पर सत्य की विजय*🚩 🚩*बुराई पर अच्छाई की विजय*🚩 🚩*पाप पर पुण्य की विजय*🚩 🚩*अत्याचार पर सदाचार की विजय*🚩 🚩*क्रोध पर दया, क्षमा की विजय*🚩 🚩*अज्ञान पर ज्ञान की विजय*🚩 🌸🙏रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व *विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायेँ🙏🌸

Neha Sharma, Haryana Oct 25, 2020
@neetugupta14 🌸🙏आपको सपरिवार दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक *शुभकामनाएँ भाई जी🙏🌸 🚩*अधर्म पर धर्म की विजय*🚩 🚩*असत्य पर सत्य की विजय*🚩 🚩*बुराई पर अच्छाई की विजय*🚩 🚩*पाप पर पुण्य की विजय*🚩 🚩*अत्याचार पर सदाचार की विजय*🚩 🚩*क्रोध पर दया, क्षमा की विजय*🚩 🚩*अज्ञान पर ज्ञान की विजय*🚩 🌸🙏रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व *विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायेँ🙏🌸

Neha Sharma, Haryana Oct 25, 2020
@santoshkumarsingh91 🌸🙏आपको सपरिवार दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक *शुभकामनाएँ भाई जी🙏🌸 🚩*अधर्म पर धर्म की विजय*🚩 🚩*असत्य पर सत्य की विजय*🚩 🚩*बुराई पर अच्छाई की विजय*🚩 🚩*पाप पर पुण्य की विजय*🚩 🚩*अत्याचार पर सदाचार की विजय*🚩 🚩*क्रोध पर दया, क्षमा की विजय*🚩 🚩*अज्ञान पर ज्ञान की विजय*🚩 🌸🙏रावण पर श्रीराम की विजय के प्रतीक पावन पर्व *विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायेँ🙏🌸

madan pal Singh 🙏🏼 Oct 25, 2020
jai mata di shubh sandhya Jiiii Mata Rani ki karpa sadev AAP v aapka pariwar par bani rahe jiii 🌷

Anilkumar Tailor Dec 2, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
simran Dec 1, 2020

+413 प्रतिक्रिया 239 कॉमेंट्स • 631 शेयर
sita Dec 1, 2020

+205 प्रतिक्रिया 40 कॉमेंट्स • 127 शेयर
saroj singh Baghel Dec 1, 2020

+11 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 3 शेयर
saroj singh Baghel Dec 1, 2020

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 7 शेयर
simran Nov 30, 2020

+342 प्रतिक्रिया 202 कॉमेंट्स • 468 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB