कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय

कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय
कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय
कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय
कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय

जलंधर वध पर देवों द्वारा शिवजी की स्तुतिः कार्तिक माहात्म्य 21वां अध्याय

कार्तिक माहात्म्यः इक्कीसवां अध्याय

अब तक आपने पढ़ा कि शिवजी का जलंधर के साथ घनघोर संग्राम हुआ. शिवगणों को युद्धभूमि में प्रताड़ित करने वाला सिंधुपुत्र जलंधर शिवजी को भी नाना प्रकार से पीड़ित करने की चेष्टा करता रहा. उसने माया युद्ध भी करने का प्रयास किया और माया से छदम पार्वतीजी बनाकर उन्हें युद्धभूमि में अपने रथ पर लेकर आया. यह दुष्टता उसे भारी पड़ी और शिवजी के महान कोप का भाजन होकर उसने प्राण गंवा दिए.

अपने शत्रु जलंधर का शव निष्प्राण युद्धभूमि में देखकर ब्रह्मा आदि देवता नतमस्तक होकर भगवान शिव की स्तुति करने लगे.

वे बोले – हे देवाधिदेव! आप प्रकृति से परे पारब्रह्म और परमेश्वर हैं, आप निर्गुण, निर्विकार व सबके ईश्वर होकर भी नित्य अनेक प्रकार के कर्मों को करते हैं. हे प्रभु! हम ब्रह्मा आदि समस्त देवता आपके दास हैं. हे शंकर जी! हे देवेश! आप प्रसन्न होकर हमारी रक्षा कीजिए. हे शिवजी! हम आपकी प्रजा हैं तथा हम सदैव आपकी शरण में रहते हैं.

इतनी कथा सुनाकर नारद जी राजा पृथु से बोले – जब इस प्रकार ब्रह्मा आदि समस्त देवताओं एवं मुनियों ने भगवान शंकर जी की अनेक प्रकार से स्तुति कर के उनके चरण कमलों का ध्यान किया तब भगवान शिव देवताओं को वरदान देकर वहीं अन्तर्ध्यान हो गये. उसके बाद शिवजी का यशोगान करते हुए सभी देवता प्रसन्न होकर अपने-अपने लोक को चले गये.

भगवान शंकर के साथ सागर पुत्र जलन्धर का युद्ध चरित पुण्य प्रदान करने वाला तथा समस्त पापों को नष्ट करने वाला है. यह सभी प्रकार के सुखों को प्रदान करने वाला और शिव को भी आनन्ददायक है. इन दोनों आख्यानों को पढ़ने एवं सुनने वाला सुखों को भोगकर अन्त में अमर पद को प्राप्त करता है.

कार्तिक माहात्म्य कथा जारी रहेगी.

+185 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 114 शेयर

कामेंट्स

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 41 शेयर

+663 प्रतिक्रिया 100 कॉमेंट्स • 222 शेयर

+56 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 36 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Anilkumar Tailor Sep 23, 2020

+11 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 15 शेयर

+33 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 26 शेयर
Sarvagya Shukla Sep 23, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 9 शेयर

+25 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 16 शेयर
संकल्प Sep 22, 2020

+22 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 12 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB