Gumansingh Rathore
Gumansingh Rathore Sep 23, 2017

भगवान श्री तिरुपति बालाजी के केसर से स्नान होते हुए शानदार दर्शन कीजिए.........

ऐसे दर्शन वहा जाने पर भी नही होपाते । आप तिरुमाला तिरुपति बालाजी के दर्शन करने बस, ट्रेन या हवाई जहाज से भी जाएं,,, तो भी शायद इतने अच्छे दर्शन न करपाए ।आज अभी इसी वक्त आप व परिवार के सभी भाग्यशाली अपने-अपने घर बैठे - बैठे भगवान श्री तिरुपति बालाजी के केसर से स्नान होते हुए शानदार दर्शन कीजिए। जय हो श्री तिरुपति बालाजी की।

+17 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*🚩🕉🍃सन्त और असन्त में अंतर🍃🚩🕉* *🕉भाग--------4🕉* हम सच्चे सन्त के शरण में इसलिए नहीं पहुँच सकते है क्योंकि हमारी मांग रहती है केवल सांसारिक मांग और जो सच्चे सन्त होते है वो सांसारिक मांग नहीं देते है कोई चमत्कारी नहीं होते है बल्कि कृपालु होते है जो अपने कृपा से हमारे भीतर बैठे मन को सही दिशा देते है। हमारे भगवान श्रीकृष्ण गीता के 4 अध्याय के 34 वां श्लोक में कहते है *परिप्रश्नेन सेवया--- अर्थात जो श्रेष्ठ प्रश्न है वो जिज्ञासा करो तत्वदर्शी सन्त से। जैसे अर्जुन कर रहा था भगवान श्रीकृष्ण से। अर्जुन ने ये नहीं मांगा की मुझे बेटा दीजिए/मेरी नौकरी लग जाए/मेरी बेटी का शादी हो जाए। यही सब तो मांगते है जाकर ओर ढोंगी-पाखंडी लोग अपना पाखंड फैला कर समाज को भ्रमित करते है।* अन्य को गलत कहने से पहले स्वयं को देखिए कि हम कहाँ गलत है। अगर हम लुटा रहे है तभी वो लूट रहे है। कल का प्रश्न था कि-- *किस भेद की बात हमारे महापुरुष कहते है।* वो भेद है *अपने भीतर साक्षात भगवान के तत्त्वरूप का दर्शन करना तत्क्षण।* ओर ये ज्ञान से प्राप्त होगा और ज्ञान *तत्वदर्शी सन्त के शरण में जाने के बाद प्राप्त होगा।* इसलिए तो कहा गया है---- *कहहिं सन्त-मुनि वेद पुराना। नाहीं कछु दुर्लभ ज्ञान समाना-- सन्त मुनि वेद पुराण सभी कहते है ज्ञान के समान दुर्लभ कुछ नहीं। ओर ज्ञान के लिए सच्चे सन्त की शरण में जाना होगा।* हमारे माहॉपुरुषों ने भी कहा है-- *भेष न दिखिए साधु की पूछ लीजिए ज्ञान* *मोल करो तलवार की पड़े रहने दो म्यान।।* सन्त की पहचान बाहरी रंग रूप से मत करना कभी बल्कि ज्ञान से करना चाहिए अगर बाहरी रंग-रूप से कीजिएगा तो भ्रमित हो जाइएगा। क्योंकि वो चतुर से भी अति चतुर होते है अच्छे-अच्छे बाहरी ज्ञानी वाला मानव भ्रमित हो जाता है। विद्वान भ्रमित हो जाता है। वो चाहे तो दिन भर में दस बार कपड़े बदले ओर न चाहे तो एक ही कपड़ा दस दिन पहने। इसलिए बाहरी रंग-रूप से मत पहचाने का कोशिश कीजिएगा।🙏🏻😊 लेकिन प्रश्न वही--- *🕉--* क्या आपको पता है कि वास्तविक सन्त की पहचान होती है क्या❓🙏🏻🚩 *🍃क्रमशः----------🍃* *🚩🔥ॐ श्री आशुतोषाय नमः🔥🚩*

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 25 शेयर
Virtual Temple Mar 27, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Virtual Temple Mar 27, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
RRD Bhakti Sagar✔ Mar 27, 2020

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sachin potdar Mar 27, 2020

+8 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 9 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB