vijay rathor
vijay rathor Mar 18, 2018

Happy Padva

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Jitendre Sep 18, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+23 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 39 शेयर
manju kotnala Sep 18, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
P. Tiwari Sep 18, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 16 शेयर
ramkumarverma Sep 18, 2020

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 23 शेयर
Sagar singh Panwar Sep 18, 2020

देवताओं, गंधर्वों का पुरातन काल के प्रमाण की पुष्टि करता है आज भी देवास, पास ही है गंधर्वपुरी और जन्मेजय ने अपने पिता परीक्षित की मौत का बदला लेने के लिए जो नागवंश के खिलाफ यज्ञ करवाया था वही आज नागदा नाम से विख्यात है! तो भीम बेटका पचमढ़ी ओंकारेश्वर, महाकाल उज्जैन भर्तृहरि विक्रमादित्य राजा भोज भोपाल [ प्राचीन नाम~ भोजपाल] नागदा देवास देवी अहिल्या का महेश्वर श्री कमलकिशौर जी नागर का श्री हाटकेश्वर धाम सेमली विक्रमादित्य की बहन सुंदरबाई का ससुराल सुंदरसी [ प्राचीन नाम~ सुंदरगढ़] खजुराहो नर्मदा मैया, अमरकंटक, कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान कोरबा का कोयला का तापविद्युत केंद्र पुनासा का जल विद्युत उत्पादन, सिद्धवीर हनुमान बोलाई संदीपनी आश्रम उज्जैन, चित्रकुट, सांची का बौद्ध स्तूप, सोनकच्छ का जैन तीर्थ- पुष्पगिरी, नलखेडा का मां बगलामुखी व पास ही बैजनाथ मंदिर Amazing M. P.

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB