MA SHYAM SUNDARI DEVI TEMPLE, DEVI DANDA, Udaypur, Pauri Garhwal

MA SHYAM SUNDARI DEVI TEMPLE, DEVI DANDA, Udaypur, Pauri Garhwal

On top of a hill at an altitude 1650 mtr in a beautiful place the famous temple of Goddess Ma Shyam Sundari (Durga)is located. The Shakti Peeth is surrounded by a dense Oak (quercus incana) jungle. From this top one can have a panoramic view of the Greater Himalayas from Bandarpunch to Mount Nanda Devi.
The Shaktipeeth temple is also known as. On every Ashtami of the Sharadiya Navratra a big Pooja as well as a fair is organised here and Buffallo bull and he Goats are sacrificed at this sacred place. Thousands of the people from the nearby villages as well as from the cities collects here. This is a pity that in the 21st century when most of the famous places the sacrifice is banned still at this place it is going on.
This is very Powerful place and the vibration of energy flow can be feeled after reaching this place.

+45 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

कामेंट्स

ढाई अक्षर प्रेम के पढ़ें सो पंडित होय,, ढाई अक्षर ढाई अक्षर का वक्र, और ढाई अक्षर का तुण्ड, ढाई अक्षर की रिद्धि, और ढाई अक्षर की सिद्धि, ढाई अक्षर का शम्भु, और ढाई अक्षर की सत्ती, ढाई अक्षर के ब्रह्मा और ढाई अक्षर की सृष्टि, ढाई अक्षर के विष्णु और ढाई अक्षर की लक्ष्मी, ढाई अक्षर के कृष्ण और ढाई अक्षर की कान्ता (राधा रानी का दूसरा नाम) ढाई अक्षर की दुर्गा और ढाई अक्षर की शक्ति, ढाई अक्षर की श्रद्धा और ढाई अक्षर की भक्ति, ढाई अक्षर का त्याग और ढाई अक्षर का ध्यान, ढाई अक्षर की तुष्टि और ढाई अक्षर की इच्छा, ढाई अक्षर का धर्म और ढाई अक्षर का कर्म, ढाई अक्षर का भाग्य और ढाई अक्षर की व्यथा, ढाई अक्षर का ग्रन्थ, और ढाई अक्षर का सन्त, ढाई अक्षर का शब्द और ढाई अक्षर का अर्थ, ढाई अक्षर का सत्य और ढाई अक्षर की मिथ्या, ढाई अक्षर की श्रुति और ढाई अक्षर की ध्वनि, ढाई अक्षर की अग्नि और ढाई अक्षर का कुण्ड, ढाई अक्षर का मन्त्र और ढाई अक्षर का यन्त्र, ढाई अक्षर की श्वांस और ढाई अक्षर के प्राण, ढाई अक्षर का जन्म ढाई अक्षर की मृत्यु, ढाई अक्षर की अस्थि और ढाई अक्षर की अर्थी, ढाई अक्षर का प्यार और ढाई अक्षर का युद्ध, ढाई अक्षर का मित्र और ढाई अक्षर का शत्रु, ढाई अक्षर का प्रेम और ढाई अक्षर की घृणा, जन्म से लेकर मृत्यु तक हम बंधे हैं ढाई अक्षर में, हैं ढाई अक्षर ही वक़्त में, और ढाई अक्षर ही अन्त में, समझ न पाया कोई भी है रहस्य क्या ढाई अक्षर में, ( अज्ञात ) हर हर महादेव जय शिव शंकर

+11 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 25 शेयर

+30 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 23 शेयर

+24 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 27 शेयर
white beauty Oct 22, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Ravi Mishra Oct 21, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB