YT Pandit Ji
YT Pandit Ji Sep 30, 2017

मीन राशि अक्टूबर

https://youtu.be/5z20P60RMbs

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 May 10, 2020

🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞 ⛅ दिनांक 11 मई 2020 ⛅ दिन - सोमवार  ⛅ विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076) ⛅ शक संवत - 1942 ⛅ अयन - उत्तरायण ⛅ ऋतु - ग्रीष्म ⛅ मास - ज्येष्ठ (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार वैशाख) ⛅ पक्ष - कृष्ण  ⛅ तिथि - चतुर्थी सुबह 06:35 तक तत्पश्चात पंचमी ⛅ नक्षत्र - पूर्वाषाढा 12 मई प्रातः 04:10 तक तत्पश्चात उत्तराषाढा ⛅ योग - साध्य 12 मई रात्रि 02:42 तक तत्पश्चातम शुभ ⛅ राहुकाल - सुबह 07:29 से सुबह 09:07 तक  ⛅ सूर्योदय - 06:03 ⛅ सूर्यास्त - 19:06  ⛅ दिशाशूल - पूर्व दिशा में ⛅ व्रत पर्व विवरण - पंचमी क्षय तिथि   💥 विशेष - चतुर्थी को मूली खाने से धन का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34) 🌷 किन बातों से होती है लक्ष्मी की हानि 🌷 कुचैलिनं दन्तमलोपधारिणं बह्राशिनं निष्ठुरवाक्यभाषिणीम्। सूर्योदये ह्यस्तमयेऽपि शायिनं विमुत्र्चति श्रीरपि चक्रपाणिम्।। 🧑🏻 ‘जो मलिन वस्त्र धारण करता है, दाँतों को स्वच्छ नहीं रखता, अधिक भोजन करनेवाला है, कठोर वचन बोलता है, सूर्योदय तथा सूर्यास्त के समय भी सोता है, वह यदि साक्षात् चक्रपाणि विष्णु हों तो उन्हें भी लक्ष्मी छोड़ देती हैं।’  (गरुड़ पुराण : ११४.३५) 🌷 अशुद्ध आत्मा से बचने 🌷 🐄 गाय २४ घंटा सात्विक ओरा फेंकती है। गोझरन व गोबर लेकर कभी स्नान कर लिया करो।गाय झरन जहाँ होता है वहां अशुद्ध आत्मा प्रवेश नहीं होते। 🌷 धनिया के फायदे(गर्मी  हो तो) 🌷 🌿 आंवला, धनिया, मिश्री समभाग मिलाकर रखो। १-१ चम्मच सुबह-शाम चबाकर खाओ और ऊपर से १ गिलास पानी पी लो अथवा घोल बना कर पी लो। इससे स्वप्नदोष, मूत्रदाह, लू लगना, सिरदर्द, नकसीर व आँखे जलने पर आराम होता है। किसी की आँखें जलती हैं,डोरे जलते हैं तो सौफ ५० ग्राम ,धनिया ५० ग्राम , आवलें का पाउडर ५० ग्राम,मिश्री का पाउडर ५० ग्राम २०० ग्राम हो गया , १०-१५ ग्राम पानी में भींगा के रख दिया ,१-२ घंटे बाद उसको मिक्सी में घुमा के छान के पी ले ,डोरे जलना बंद , मुहं में छाले पड़ना ठीक ,रात को नींद नहीं आएगी तो आएगी नींद ,तबियत चंगी होगी। 🌿 धनियां (सूखा या हरा धनिया) व मिश्री पानी में घोलकर पीने से लू लगी हो या बेहोशी हो तो तुरंत लाभ होता है। 🌐http://www.vkjpandey.in 🙏🏻🌷🌸🌼💐☘🌹🌻🌺🙏🏻

+57 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 49 शेयर
bhuvnesh giri May 9, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 May 10, 2020

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄 #सुप्रभातम 🌄 🗓 आज का #पञ्चाङ्ग 🗓 🌻#सोमवार, ११ मई २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३४ सूर्यास्त: 🌅 ०७:०४ चन्द्रोदय: 🌝 २३:१६ चन्द्रास्त: 🌜०८:४३ अयन 🌕 उत्तरायणे (दक्षिणगोलीय) ऋतु: 🍂 ग्रीष्म शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 ज्येष्ठ पक्ष 👉 कृष्ण तिथि: 👉 चतुर्थी (०६:३५ तक) नक्षत्र: 👉 पूर्वाषाढा (२८:१० तक) योग: 👉 साध्य (२६:४२ तक) प्रथम करण: 👉 बालव (०६:३५ तक) द्वितीय करण: 👉 कौलव (१८:०८ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 मेष चंद्र 🌟 धनु मंगल 🌟 कुंम्भ बुध 🌟 वृष गुरु 🌟 मकर शुक्र 🌟 वृष शनि 🌟 मकर राहु 🌟 मिथुन केतु 🌟 धनु 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:४६ से १२:४० अमृत काल: 👉 २३:२३ से २४:५९ होमाहुति: 👉 गुरु अग्निवास: 👉 पाताल (०६:३५ से पृथ्वी) दिशा शूल: 👉 पूर्व नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 पूर्व दुर्मुहूर्त: 👉 १२:४० से १३:३४ राहुकाल: 👉 ०७:११ से ०८:५२ राहु काल वास: 👉 उत्तर-पश्चिम यमगण्ड: 👉 १०:३३ से १२:१३ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 उत्तर-पूर्व (दर्पण देखकर अथवा खीर का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ शनि वक्री ०९:३९ से आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज २८:१० तक जन्मे शिशुओ का नाम पूर्वाषाढ़ नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (भू, धा, फा, ढा) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओं का नाम उत्तराषाढ़ नक्षत्र के प्रथम चरण अनुसार क्रमशः (भे) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०५:३० - ०५:४१ मेष ०५:४१ - ०७:३५ वृषभ ०७:३५ - ०९:५० मिथुन ०९:५० - १२:१२ कर्क १२:१२ - १४:३१ सिंह १४:३१ - १६:४९ कन्या १६:४९ - १९:०९ तुला १९:०९ - २१:२९ वृश्चिक २१:२९ - २३:३२ धनु २३:३२ - २५:१४ मकर २५:१४ - २६:३९ कुम्भ २६:३९ - २८:०३ मीन २८:०३ - २९:२९ मेष 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०५:३० - ०५:४१ चोर पञ्चक ०५:४१ - ०६:३५ शुभ मुहूर्त ०६:३५ - ०७:३५ रोग पञ्चक ०७:३५ - ०९:५० शुभ मुहूर्त ०९:५० - १२:१२ मृत्यु पञ्चक १२:१२ - १४:३१ अग्नि पञ्चक १४:३१ - १६:४९ शुभ मुहूर्त १६:४९ - १९:०९ रज पञ्चक १९:०९ - २१:२९ शुभ मुहूर्त २१:२९ - २३:३२ चोर पञ्चक २३:३२ - २५:१४ शुभ मुहूर्त २५:१४ - २६:३९ रोग पञ्चक २६:३९ - २८:०३ शुभ मुहूर्त २८:०३ - २८:१० शुभ मुहूर्त २८:१० - २९:२९ रोग पञ्चक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज का दिन उदासीनता से भरा रहेगा। सेहत में सुधार रहेगा लेकिन शारीरिक एवं मानसिक कमजोरी फिर भी रह सकती है। किसी का स्नेह सहयोग भी बुरा लगेगा लेकिन बेमन से ही सही व्यवहारिकता में कमी ना आने दे अन्यथा सम्बंधो में खटास आने पर वापस जोड़ना मुश्किल होगा। कार्य व्यवसाय में आज सहकर्मी अथवा कर्मचारियों के भरोसे अधिक रहने पर भी आशाजनक लाभ हो जाएगा। कार्य स्थल पर चोरी अथवा अन्य किसी कारण से नुकसान भी हो सकता है। धन को लेकर मध्यान बाद परेशानी होगी कही से मिलने वाली रकम में व्यवधान आने से आगे के कार्य प्रभावित होंगे। परिजन हर प्रकार से सहयोग करेंगे। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज आपका स्वास्थ्य पुर्व में असंयमित भोजन अथवा दिनचार्य के कारण दिन के आरम्भ में कुछ नरम रह सकता है। पेट में गड़बड़ और थकान महसूस होने के कारण किसी भी कार्य के प्रति पूर्ण उत्साह नही बनेगा मध्यान के समय स्थिति में सुधार आने पर आवश्यक कार्य जल्दबाजी में करेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र पर आज आपको प्रेम और सम्मान दोनो मिलेंगे। लेकिन व्यावसायिक कार्य अत्यंत धीमी गति से चलने के कारण आय भी कम ही रहेगी फिर भी आवश्यकता अनुसार हो ही जाएगी। कार्य क्षेत्र अथवा घर मे नौकरों से हर प्रकार से सावधान रहें मन का भेद ना बताये अन्यथा सम्मान हानि हो सकती है। घरेलू वातावरण थोड़े बहुत गरमा गरमी के बाद शांत हो जाएगा। पैतृक व्यवहारों अथवा व्यवसाय के चलते लघु यात्रा हो सकती है। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज आपके स्वभाव में उतावलापन रहेगा पहले स्वयं ही काम के प्रति लापरवाही करेंगे बाद में जल्दबाजी करने पर गड़बड़ होगी। मध्यान तक का समय किसी अन्य के ऊपर निर्भर रहने के कारण किसी महत्त्वपूर्ण कार्य को लेकर असमंजस रहेगा दिन भर की मेहनत संध्या के आसपास रंग लाएगी धन की आमद आवश्यकता अनुसार हो जाएगी लेकिन पैसा आते ही जाने के रास्ते खोज लेगा। व्यवसायी वर्ग आज संध्या बाद ही प्रसन्न नजर आएंगे। परिवार के सदस्य अनैतिक मांग मनवाने के लिये जिद करेंगे। स्वास्थ्य को लेकर भी आज आशंकित रहेंगे बाहर के खान-पान से परहेज करें। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज आपकी मानसिकता अधिक से अधिक सुखोपभोग की रहेगी इसके लिये धन अथवा समाज की परवाह नही करेंगे। कार्य व्यवसाय मध्यान बाद तक सुचारू रूप से चलेगा इसके बाद का समय थोड़ा विघ्न बाधाओं वाला रहेगा लोग जबरदस्ती आपसे उलझेंगे। किसी भी प्रकार के अनैतिक आचरण से बचे अन्यथा निकट भविष्य में विवाद बढ़ने की संभावना है। पारिवारिक वातावरण आवश्यकता पूर्ति के ऊपर निर्भर रहेगा समय पर मांग पूरी करने पर शांति रहेगी अन्यथा गरमा गर्मी हो सकती है। सेहत संध्या बाद नरम होगी। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज आप अपने बुद्धि विवेक का प्रयोग कर लाभ कमाएंगे लेकिन सही समय की प्रतीक्षा अवश्य करें ऐसा ना हो असमय लिया निर्णय लाभ की जगह निराश करें। दिन के आरंभ से मध्यान तक कार्यो के प्रति लापरवाह रहेंगे लेकिन मध्यान बाद किसी वरिष्ठ की दखल के बाद स्वभाव में गंभीरता आएगी। परिश्रम भी आज अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक करना पड़ेगा लेकिन इसका लाभ निकट भविष्य में धन के रूप में मिलेगा आज धन संबंधित समस्या यथावत रहेगी। परिजन आपसे किसी ना किसी कारण से नाराज हो सकते है। सेहत का भी ख्याल रखें। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज के दिन आपका स्वास्थ्य ठीक रहेगा लेकिन थोड़े से परिश्रम से ही अधिक पसीना और घबराहट बनेगी जिससे ज्यादा भर वाला कार्य करने में असमर्थ रहेंगे इनमे जबरदस्ती करने का प्रयास ना करें बाद में परेशानी बढ़ सकती है। काम धंधे में आज असमंजस की स्थिति रहेगी किसी पुराने निर्णय अथवा सौदे में अवश्य सफलता मिलेगी जिससे साहस बढ़ेगा लेकिन आज नए कार्यो में हाथ ना डाले अन्यथा धन के फंसने या डूबने की पूर्ण संभावना है। नौकरी पेशा आज बेहतर कार्य के लिए प्रोत्साहित होंगे। धन की आमद छोटे सौदों से आवश्यकता पूर्ति लायक आसानी से हो जाएगी बड़े लाभ के चक्कर मे धन और चैन दोनो गंवा सकते है इसलिये आज आसानी से जितना मिल जाये उसी में संतोष करें। घर मे सुख शांति बनी रहेगी भाई बंधुओ को आज संतुष्ट करना असंभव रहेगा इसे अनदेखा करना ही बेहतर है। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज का दिन सामान्य से उत्तम रहेगा लाभ के कई अवसर हाथ आएंगे लेकिन आज आपका मन काम के समय कही और भटकेगा धन के साथ विपरीत लिंगीय के प्रति अधिक आसक्त रहेंगे। कार्य क्षेत्र पर धन संबंधित मामलों को मन मे चल रही उठापटक के कारण नजरअंदाज करेंगे इसके परिणामस्वरूप लाभ विलम्ब से और आशा से कम होगा। सहकर्मी और घर के सदस्य आपके लापरवाह व्यवहार से परेशान होंगे आपस मे नोकझोंक भी हो सकती है। पर्यटन मनोरंजन के अवसर मिलेंगे लेकिन उदासीन व्यवहार के कारण इनका आनंद नही ले सकेंगे। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज का दिन भी उतार-चढ़ाव वाला रहेगा आज आप जिस कार्य से लाभ की उम्मीद लगाए रहेंगे अंत समय मे उससे निराशा ही हाथ लगेगी लेकिन आज मेहनत करने में कसर ना रखें अन्यथा निकट समय मे होने वाले लाभ से वंचित रहना पड़ेगा कार्य व्यवसाय में दुविधा की स्थिति हानि से बाहर नही निकलने देगी अनुभवी व्यक्ति की सलाह के बाद जोखिम लेने से ना डरे इसका आने वाले समय मे कुछ ना कुछ लाभ और अनुभव मिलेगा। सहकर्मी अथवा परिजनों से नुकसान हो सकता है धर्य से समय बिताये बेवजह की कलह से दूर रहने का प्रयास करें शांति बनी रहेगी। स्वास्थ्य मानसिक विकार को छोड़ लगभग सामान्य रहेगा। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज का दिन लाभदायक तो है लेकिन विपरीत लिंगीय आकर्षण और स्वभाव की कामुकता किसी परेशानी में ना डाल दे इसका विशेष ध्यान रखें। दिन के आरम्भ में किसी नजदीकी से शुभ समाचार प्राप्त होगा। लेकिन पूर्व में की गई गलती के कारण मन मे भय भी बना रहेगा। कार्य व्यवसाय से धन की संतोषजनक आमद निश्चित होगी परन्तु उटपटांग खर्च भी अधिक रहने से बचत नही कर सकेंगे। व्यवसायी वर्ग प्रतिस्पर्धा के कारण कुछ समय के लिये निराश होंगे फिर भी प्रयास करते रहे आर्थिक लाभ थोड़ा थोड़ा होता रहेगा। सेहत असंयमित खान-पान के कारण बिगड़ सकती है। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज के दिन आपकी सेहत तो ठीक रहेगी लेकिन नेत्र संबंधित शिकायत रह सकती है। कार्य क्षेत्र एवं घरेलू मामलों में आज विविध समस्या एकसाथ उभरने से कुछ समय के लिये दिमाग शून्य जैसा हो जाएगा लेकिन जीवनसाथी अथवा घर के बड़े सदस्य का सहयोग मिलने से परेशानियों का कुछ हद तक हल निकाल लेंगे फिर भी किसी ना किसी कारण से असंतोष अवश्य रहेगा। कार्य व्यवसाय क्षेत्र पर आज सही निर्णय और समय पर योजना बनाने के बाद भी कमी रहेगी। आर्थिक लाभ के लिये किसी अन्य के निर्णय का इंतजार करना पड़ेगा होगा भी तो आशा से बहुत कम। समाज मे बैठे समय बोल चाल सोच समझ कर ही करें। धार्मिक भावनाएं आज स्वार्थ सिद्धि के लिए अथवा काम बनाने तक ही सीमित रहेंगी दिखावे के दान पुण्य से ना करना ही बेहतर रहेगा। आज अनैतिक संबंधों अथवा गलत संगत से दूर रहे परेशानी में पड़ सकते है। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज के दिन परिस्थिति आपके अनुकूल बनी रहेगी लेकिन आलस्य और मौज शौक की प्रवृत्ति भी रहने के कारण समय का पूर्ण लाभ नही उठा पाएंगे। आज आप जिस भी कार्य को आरम्भ करेंगे उसमे सफलता निश्चित मिलेगी।धन प्राप्ति की कामना दिन के आरंभ से ही लगी रहेगी लेकिन इसके अनुसार कर्म एवं सहयोग ना मिलने के कारण कुछ ना कुछ कमी अनुभव करेंगे। नौकरी पेशा आज काम मे ढील देंगे इससे बाद में परेशानी होगी। पारिवारिक वातावरण शांत रहेगा घर के सभी सदस्य अपनी धुन में मस्त रहेंगे महिलाओ को छोड़ अन्य जल्दी कोई काम करने के लिए तैयार नही होंगे। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज आप दिन के पूर्वार्ध में ही योजनाबद्ध होकर कार्य करेंगे मध्यान तक परिश्रम का फल नही मिलने से थोड़े निराश भी होंगे लेकिन आज की गई मेहनत शीघ्र ही धन के साथ नए लाभ के संबंध बनाने में सहायक होगी। नौकरी वाले लोग अपने क्षेत्र पर सहकर्मियों से प्रतिस्पर्धा के बाद अव्वल रहेंगे। धन को लेकर ज्यादा परेशान ना हों आज नही तो कल अवश्य ही सकारत्मक परिणाम मिलेंगे। सरकारी कार्य आज अवश्य ही जोड़-तोड़ कर पूर्ण करने का प्रयास करें इसके बाद सहयोग तो मिलेगा परन्तु कार्य सफलता में विलंब होगा। परिजनों की मांगें असहज करेंगी टालने पर कलह हो सकती है। स्वास्थ्य में छोटे मोटे विकार लगे रहेंगे फिर भी दिनचार्य खराब नही होगी। 🌐http://www.vkjpandey.in 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

+24 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 27 शेयर
Rameshanand Guruji May 11, 2020

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 11/05/2020,रविवार* चतुर्थी, कृष्ण पक्ष ज्येष्ठ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ----------चतुर्थी 06:34:42 तक पक्ष ---------------------------कृष्ण नक्षत्र -------पूर्वाषाढा 28:08:59 योग -------------साघ्य 26:39:37 करण ----------बालव 06:34:42 करण ---------कौलव 18:07:42 वार -------------------------सोमवार माह --------------------------वैशाख माह ----------------------------ज्येष्ठ चन्द्र राशि ----------------------धनु सूर्य राशि ----------------------- मेष रितु ----------------------------वसंत सायन --------------------------ग्रीष्म आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) ------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक)------2076 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय -----------------05:33:53 सूर्यास्त -----------------18:57:35 दिन काल ---------------13:23:42 रात्री काल -------------10:35:40 चंद्रास्त -----------------08:52:10 चंद्रोदय -----------------23:12:02 लग्न ---- मेष 26°38' , 26°38' सूर्य नक्षत्र -------------------भरणी चन्द्र नक्षत्र ----------------पूर्वाषाढा नक्षत्र पाया ------------------- ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* भू ----पूर्वाषाढा 10:06:59 धा ----पूर्वाषाढा 16:04:41 फा ----पूर्वाषाढा 22:05:20 ढा ----पूर्वाषाढा 28:08:59 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मेष 26°22 ' भरणी, 4 लो चन्द्र =धनु 14°23 ' पू oषा o ' 1 भू बुध = वृषभ 03°10 ' कृतिका ' 3 उ शुक्र= वृषभ 27°55, मृगशिरा ' 2 वो मंगल=कुम्भ 04°30' धनिष्ठा ' 4 गे गुरु=मकर 03°00 ' उ oषाo , 2 भो शनि=मकर 07°43' उ oषा o ' 4 जी राहू=मिथुन 07°20 ' आर्द्रा , 1 कु केतु=धनु 07 ° 20 ' मूल , 3 भा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 07:14 - 08:55 अशुभ यम घंटा 10:35 - 12:16 अशुभ गुली काल 13:56 - 15:37 अशुभ अभिजित 11:49 -12:43 शुभ दूर मुहूर्त 12:43 - 13:36 अशुभ दूर मुहूर्त 15:23 - 16:17 अशुभ 💮चोघडिया, दिन अमृत 05:34 - 07:14 शुभ काल 07:14 - 08:55 अशुभ शुभ 08:55 - 10:35 शुभ रोग 10:35 - 12:16 अशुभ उद्वेग 12:16 - 13:56 अशुभ चर 13:56 - 15:37 शुभ लाभ 15:37 - 17:17 शुभ अमृत 17:17 - 18:58 शुभ 🚩चोघडिया, रात चर 18:58 - 20:17 शुभ रोग 20:17 - 21:37 अशुभ काल 21:37 - 22:56 अशुभ लाभ 22:56 - 24:15* शुभ उद्वेग 24:15* - 25:35* अशुभ शुभ 25:35* - 26:54* शुभ अमृत 26:54* - 28:14* शुभ चर 28:14* - 29:33* शुभ 💮होरा, दिन चन्द्र 05:34 - 06:41 शनि 06:41 - 07:48 बृहस्पति 07:48 - 08:55 मंगल 08:55 - 10:02 सूर्य 10:02 - 11:09 शुक्र 11:09 - 12:16 बुध 12:16 - 13:23 चन्द्र 13:23 - 14:30 शनि 14:30 - 15:37 बृहस्पति 15:37 - 16:44 मंगल 16:44 - 17:51 सूर्य 17:51 - 18:58 🚩होरा, रात शुक्र 18:58 - 19:51 बुध 19:51 - 20:44 चन्द्र 20:44 - 21:37 शनि 21:37 - 22:29 बृहस्पति 22:29 - 23:22 मंगल 23:22 - 24:15 सूर्य 24:15* - 25:08 शुक्र 25:08* - 26:01 बुध 26:01* - 26:54 चन्द्र 26:54* - 27:47 शनि 27:47* - 28:40 बृहस्पति 28:40* - 29:33 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 15 + 4 + 2 + 1 = 22 ÷ 4 = 2 शेष आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 19 + 19 + 5 = 43 ÷ 7 = 1 शेष कैलाश वास = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस * मौन जुलूस लूणा जी (जैन) *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* दुतो न सञ्चरति खे न चलेच्च वार्ता । पुर्व न जल्पितमिदं न च सड्गमोऽस्ति । व्योम्नि स्थितं रविशाशग्रहणं प्रशस्तं जानाति यो द्विजवरः सकथं न विद्वान् ।। ।।चा o नी o।। कोई संदेशवाहक आकाश में जा नहीं सकता और आकाश से कोई खबर आ नहीं सकती. वहा रहने वाले लोगो की आवाज सुनाई नहीं देती. और उनके साथ कोई संपर्क नहीं हो सकता. इसीलिए वह ब्राह्मण जो सूर्य और चन्द्र ग्रहण की भविष्य वाणी करता है, उसे विद्वान मानना चाहिए. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 अनेकवक्त्रनयनमनेकाद्भुतदर्शनम्‌ ।, अनेकदिव्याभरणं दिव्यानेकोद्यतायुधम्‌ ॥, दिव्यमाल्याम्बरधरं दिव्यगन्धानुलेपनम्‌ ।, सर्वाश्चर्यमयं देवमनन्तं विश्वतोमुखम्‌ ॥, अनेक मुख और नेत्रों से युक्त, अनेक अद्भुत दर्शनों वाले, बहुत से दिव्य भूषणों से युक्त और बहुत से दिव्य शस्त्रों को धारण किए हुए और दिव्य गंध का सारे शरीर में लेप किए हुए, सब प्रकार के आश्चर्यों से युक्त, सीमारहित और सब ओर मुख किए हुए विराट्स्वरूप परमदेव परमेश्वर को अर्जुन ने देखा॥,10-11॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष किसी बड़ी समस्या का हल मिलेगा। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। लॉटरी व सट्टे आदि से दूर रहें। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जोखिम न लें। 🐂वृष भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। बोलचाल में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। बात बिगड़ सकती है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। थकान महसूस होगी। लेन-देन में सावधानी रखें। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। लाभ होगा। 👫मिथुन पुराना रोग उभर सकता है। बेचैनी रहेगी। कोई बड़ी मुसीबत आ सकती है। मेहनत का फल मिलेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। घर-बाहर उत्साह तथा प्रसन्नता रहेंगे। बुरी खबर मिल सकती है। 🦀कर्क वस्तुएं संभालकर रखें। शारीरिक पीड़ा हो सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है, धैर्य रखें। विवाद से स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। कार्य में मन नहीं लगेगा। विरोधी सक्रिय रहेंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। 🐅सिंह शारीरिक कष्ट संभव है। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर मिलेगा। मनपसंद भोजन का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🙎कन्या व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। कानूनी अड़चन सामने आएगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। दांपत्य जीवन ठीक चलेगा। भागदौड़ रहेगी। भूमि व भवन संबंधी खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। आंखों में कष्ट संभव है। बेरोजगारी दूर होगी। प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें। ⚖तुला दांपत्य जीवन सुखमय रहेगा। राजकीय बाधा दूर होगी। किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति का सहयोग प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। परिवार में मांगलिक कार्य हो सकता है। दूसरों के कार्य में दखल न दें। नए काम प्राप्त हो सकते हैं। जल्दबाजी न करें। 🦂वृश्चिक शत्रु शांत रहेंगे। कुसंगति से बचें। लोगों की बातों में न आएं। वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में सावधानी रखें। बाहरी लोगों का व्यवहार रूखा रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। अपेक्षित कार्यों की पूर्णता में विलंब होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। 🏹धनु धार्मिक कृत्यों में मन लगेगा। साधु-संतों का आशीर्वाद मिल सकता है। कानूनी अड़चन दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। घर में तनाव रह सकता है। चोट व रोग से बाधा संभव है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे, सावधान रहें। शुभ समय देख कर काम करें। 🐊मकर आय वृद्धि के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। बाहर जाने का मन बन सकता है। बिगड़े कार्य बनेंगे। कोई बड़ी इच्छा की पूर्ति के लिए उपयुक्त समय है। विरोध होगा। चिंता रहेगी। 🍯कुंभ बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। आय में वृद्धि होगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। शत्रुभय रहेगा। परिवार की चिंता रहेगी। चोट व रोग से बचें। नए उपक्रम प्रारंभ करने की योजना बनेगी। समय पर कर्ज चुका पाएंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🐟मीन फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। किसी अपने द्वारा अपमान हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। शत्रुभय रहेगा। जीवनसाथी की चिंता रहेगी। बेचैनी रहेगी। संपत्ति की खरीदी की योजना बनेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभार्जन होगा। जोखिम न उठाएं। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺 *आचार्य नीरज पाराशर (वृन्दावन)* (व्याकरण,ज्योतिष,एवं पुराणाचार्य) 09897565893,09412618599

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

।।हर हर महादेव शम्भो काशी विश्वनाथ वन्दे ।। 〰️〰️〰️〰️〰️〰️👾👾〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ||||||| 👉वास्तु दोष निवारणोपाय--- 〰️〰️〰️〰️👾👾👾〰️〰️〰️〰️〰️ 😀आप भी अपने घर के वास्तु दोषों को दूर कर के अपने यहाँ मंगलमय वातावरण बना सकते हैंl 👉प्रस्तुत है कुछ प्रबल वास्तु दोष नाशक आजमाये हुए प्रयोग जिनको करके आप अपने घर मे विपुल लक्ष्मी एवं शांति का अनुभव प्राप्ति कर सकते हैl 1- घर में अखंड रूप से 9 बार रामायण का पाठ करने से वास्तुदोष का निवारण होता है। 2- भैरव मंदिर या हटकेश्वर-क्षेत्र में वास्तुपद नामक तीर्थ के दर्शन मात्र से ही वास्तुजनित दोषों का निवारण होता है। 3- मुख्य द्धार के ऊपर हनुमान जी के चरणों के सिंदूर से नो अंगुल लंबा नो अंगुल चोडा स्वास्तिक का चिन्ह बनाये और जहाँ पर भी वास्तु दोष है वहाँ इस चिन्ह का निर्माण करें वास्तुदोष का निवारण हो जाता है। 4- मकान में रसोई घर सही स्थान पर ना हो तो अग्निकोण में एक लाल बल्ब लगा दें और निरंतर जला कर रखें। 6- द्धार दोष और वेध दोष दूर करने के लिए शंख,सीप, समुद्र झाग, कौड़ी लाल कपड़े में या मोली में बांधकर दरवाजे पर लटकायें। 5- बीम के दोष को शांत करने के लिए बीम को सीलिंग टायल्स से ढंक दें। बीम के दोनों ओर बांस की बांसुरी लगायें। 6- घर के द्वार पर घोड़े की लोहे वाली नाल लगायें। लेकिन नाल अपने आप गिरी होनी चाहिए। 7- घर के सभी प्रकार के वास्तु दोष दूर करने के लिए मुख्य द्धार पर एक ओर केले का वृक्ष दूसरी ओर तुलसी का पौधा गमले में लगायें। 8- दुकान की शुभता बढ़ाने के लिए प्रवेश द्धार के दोनों ओर गणपति की मूर्ति या स्टिकर लगायें। एक गणपति की दृष्टि दुकान पर पड़ेगी, दूसरे गणपति की बाहर की ओर। 9- यदि दुकान में चोरी होती हो या अग्नि लगती हो तो भौम यंत्र की स्थापना करें। यह यंत्र पूर्वोत्तर कोण या पूर्व दिशा में, फर्श से नीचे दो फीट गहरा गङ्ढा खोदकर स्थापित किया जाता है। 10- यदि पलाट खरीदे हुये बहुत समय हो गया हो और मकान बनने का योग ना आ रहा हो तो उस प्लाट में अनार का पौधा पुष्य नक्षत्र में लगायें। 11- 1 घर में 9 दिन तक अखंड कीर्तन करने से वास्तुजनित दोषों का निवारण होता है। 12- अगर आपका घर चारों ओर बड़े मकानों से घिरा हो तो उनके बीच बांस का लम्बा फ्लेग लगायें या कोई बहुत ऊंचा बढ़ने वाला पेड़ लगायें। 13- फैक्ट्री-कारखाने के उद्घाटन के समय चांदी का सर्प पूर्व दिशा में जमीन में स्थापित करें। 14- अपने घर के उतर के कोण में तुलसी का पौधा लगाएं। 15- हल्दी को जल में घोलकर एक पान के पत्ते की सहायता से अपने सम्पूर्ण घर में छिडकाव करें इससे घर में लक्ष्मी का वास तथा घर में शांति भी बनी रहती है। 16- अपने घर के मन्दिर में घी का एक दीपक नियमित जलाएं तथा शंख की ध्वनि तीन बार सुबह और शाम के समय करने से नकारात्मक ऊर्जा घर से बहार निकलती है। 17- घर में सफाई हेतु रखी झाडू को रास्ते के पास नहीं रखें. यदि झाडू के बार-बार पैर का स्पर्थ होता है, तो यह धन-नाश का कारण होता है. झाडू के ऊपर कोई वजनदार वास्तु भी नहीं रखें। 18- अपने घर में दीवारों पर सुन्दर,हरियाली से युक्त और मन को प्रसन्न करने वाले चित्र लगाएं. इससे घर के मुखिया को होने वाली मानसिक परेशानियों से मुक्ति मिलती है। 19- वास्तुदोष के कारण यदि घर में किसी सदस्य को रात में नींद नहीं आती या स्वभाव चिडचिडा रहता हो, तो उसे दक्षिण दिशा की तरफ सिर करके शयन कराएं. इससे उसके स्वभाव में बदलाव होगा और अनिद्रा की स्थिति में भी सुधार होगा। 20- अपने घर के ईशान कोण को साफ़ सुथरा और खुला रखें. इससे घर में शुभत्व की वृद्धि होती है। 21- अपने घर के मन्दिर में देवी-देवताओं पर चढ़ाए गए पुष्प-हार दूसरे दिन हटा देने चाहिए और भगवान को नए पुष्प-हार अर्पित करने चाहिए। 22- घर के उत्तर-पूर्व में कभी भी कचरा इकट्ठा न होने दें और ना ही इधर भारी मशीनरी रखें। 23- अपने वंश की उन्नति के लिये घर के मुख्य द्धार पर अशोक के वृक्ष दोनों तरफ लगाएं। 24- यदि आपके मकान में उत्तर दिशा में स्टोररूम है, तो उसे यहाँ से हटा दें। इस स्टोररूम को अपने घर के पश्चिम भाग या नैऋत्य कोण में स्थापित करें। 25- घर में उत्पन्न वास्तुदोष घर के मुखिया को कष्टदायक होतेहैं इसके निवारण के लिये घर के मुखिया को सातमुखी रूद्राक्ष धारण करना चाहिए। 26- यदि आपके घर का मुख्य द्धार दक्षिणमुखी है,तो यह भी मुखिया के लिये हानिकारक होता है। इसके लिये मुख्य द्धार पर श्वेतार्क के गणपति की स्थापना करनी चाहिए। 27- अपने घर के पूजा घर में देवताओं के चित्र भूलकर भी आमने-सामने नहीं रखने चाहिए इससे बड़ा दोष उत्पन्न होता है। 28- अपने घर के ईशान कोण में स्थित पूजा-घर में अपने बहुमूल्य वस्तुएँ नहीं छिपानी चाहिए। 29- पूजाकक्ष की दीवारों का रंग सफ़ेद हल्का पीला अथवा हल्का नीला होना चाहिए। 30- यदि आपके रसोई घर में रेफ्रिजरेटर नैऋत्य कोण में रखा है, तो इसे वहां से हटाकर उत्तर या पश्चिम में रखें। 31- दीपावली अथवा अन्य किसी शुभ मुहूर्त में अपने घर में पूजास्थल में वास्तुदोष नाशक कवच की स्थापना करें और नित्य इसकी पूजा करें। इस कवच को दोषयुक्त स्थान पर भी स्थापित करके आप वास्तुदोषों से सरलता से मुक्ति पा सकते हैं। 32- अपने घर में ईशान कोण अथवा ब्रह्मस्थल में स्फटिक श्रीयंत्र की शुभ मुहूर्त में स्थापना करें। यह यन्त्र लक्ष्मीप्रदायक भी होता ही है, साथ ही साथ घर में स्थित वास्तुदोषों का भी निवारण करता है। 33- प्रातःकाल के समय एक कंडे/ उपले पर थोड़ी अग्नि जलाकर उस पर थोड़ी गुग्गल रखें और ‘ॐ नारायणाय नम:’ मंत्र का उच्चारण करते हुए तीन बार घी की कुछ बूँदें डालें। अब गुग्गल से जो धुँआ उत्पन्न हो, उसे अपने घर के प्रत्येक कमरे में जाने दें। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होगी और वास्तुदोषों का नाश होगा। 34- घर में किसी भी कमरे में सूखे हुए पुष्प ना रखें। यदि छोटे गुलदस्ते में रखे हुए फूल सूख जाएं, तो नए पुष्प लगा दें और सूखे पुष्पों को निकालकर बाहर फेंक दें। 35- सुबह के समय थोड़ी देर तक निरंतर बजने वाली गायत्री मंत्र की धुन चलने दें। इसके अतिरिक्त कोई अन्य पवित्र धुन भी आप बजा सकते हैं। 36- सायंकाल के समय घर के सदस्य सामूहिक आरती करें। इससे भी वास्तुदोष दूर होते हैं। 37- अगर आपके घर के पास कोई नाला या कोई नदी इस प्रकार बहती हो कि उसके बहाव की दिशा उत्तर-पूर्व को छोड़कर कोई और दिशा में है, या उसका घुमाव घडी कि विपरीत दिशा में है, तो यह वास्तु दोष है। इसका निवारण यह है कि घर के उत्तर-पूर्व कोने में पश्चिम की ओर मुख किए हुए, नृत्य करते हुए गणेश की मूर्ति रखें। 38- यदि घर में जल निकालने का स्थान भूमिगत टेंक या बोरिंग गलत दिशा में हो तो भवन में दक्षिण-पश्चिम की ओर मुख किए हुए पंचमुखी हनुमानजी की तस्वीर लगाएं। 39- यदि आपके भवन के ऊपर से विद्धयुत तरंगे (उच्च सवेंदी) तार गुजरती हो तो इन तारो से प्रवाहित होने वाली ऊर्जा का घर से निकलने वाली ऊर्जा से प्रतिरोध होता है। इस प्रकार के भवन में नींबुओ से भरी प्लास्टिक पाईप को फर्श से सटाकर या थोड़ा जमीन में गाड़ कर घर के इस पार से उस पार बिछा दें, नींबुओं से भरी पाईप दोनों और कम-से-कम तीन फिट बाहर निकली रहे। 40- यदि भवन में प्रवेश करते ही सामने खाली दीवार पड़े तो उस पर भावभंगिमापूर्ण गणेशजी की तस्वीर लगाएं या स्वास्तिक यंत्र का प्रयोग करके घर के ऊर्जा वृत्तों को बढ़ाया जा सकता है। पर, कुशल वास्तु कारीगर के द्वारा ही करवाना चाहिए। 41- अगर टॉयलेट घर के पूर्वी कोने में है तो टॉयलेट शीट इस प्रकार लगवाएं कि उस पर उत्तर की ओर मुख करके बैठ सकें या पश्चिम की ओर। 42- अपने घर मे सप्ताह मे3 दिन पानी मे नमक डाल कर पोछा जरुर मारेl 43- पूजा स्थान के ईशान कोण में जल रखने से या अग्निकोण में दीपक जलाने से वास्तुदोष का शमन होता है। 44- आपकी रसोई दक्षिण पूर्व में और पानी कि व्यवस्था ईशान में तथा पूजा स्थान ईशान कोण में हो तो आपके घर के वास्तुदोष का शमन होता है। 45- अमावस्या के दिन पितरों का श्राद्ध करने से वास्तु दोष प्रभावहीन हो जाता हैl 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️👾👾👾👾〰️〰️〰️〰️

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 20 शेयर

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄 #सुप्रभातम 🌄 🗓 आज का #पञ्चाङ्ग 🗓 🌻रविवार, १० मई २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३५ सूर्यास्त: 🌅 ०७:०३ चन्द्रोदय: 🌝 २२:१८ चन्द्रास्त: 🌜०७:४८ अयन 🌕 उत्तरायणे (दक्षिणगोलीय) ऋतु: 🍂 ग्रीष्म शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 ज्येष्ठ पक्ष 👉 कृष्ण तिथि: 👉 तृतीया (०८:०४ तक) नक्षत्र: 👉 मूल (२८:१३ तक) योग: 👉 शिव (०६:४२ तक) क्षय योग: 👉 सिद्ध (२८:२३ तक) प्रथम करण: 👉 विष्टि (०८:०४ तक) द्वितीय करण: 👉 बव (१९:१३ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 मेष चंद्र 🌟 धनु मंगल 🌟 कुंम्भ (उदित, पूर्व) बुध 🌟 वृष (अस्त, पूर्व) गुरु 🌟 मकर (अस्त, पश्चिम, मार्गी) शुक्र 🌟 वृष (उदित, पश्चिम) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) राहु 🌟 मिथुन केतु 🌟 धनु 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:४७ से १२:४० अमृत काल: 👉 २२:०३ से २३:३५ होमाहुति: 👉 मंगल (२८:१३ तक) अग्निवास: 👉 पृथ्वी (०८:०४ तक) दिशा शूल: 👉 पश्चिम नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 पूर्व दुर्मुहूर्त: 👉 १७:०९ से १८:०३ राहुकाल: 👉 १७:१६ से १८:५६ राहु काल वास: 👉 उत्तर यमगण्ड: 👉 १२:१३ से १३:५४ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - उद्वेग २ - चर ३ - लाभ ४ - अमृत ५ - काल ६ - शुभ ७ - रोग ८ - उद्वेग ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - शुभ २ - अमृत ३ - चर ४ - रोग ५ - काल ६ - लाभ ७ - उद्वेग ८ - शुभ नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 उत्तर-पूर्व (पान का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ भद्रावास ०८:०३ तक, ज्येष्ठ श्रीगणेश चतुर्थी व्रत, सर्वार्थसिद्धि योग ०५:४८ से २८:१२ तक आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज २८:२३ तक जन्मे शिशुओ का नाम मूल नक्षत्र के चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (ये, यो, भ, भी) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओं का नाम पूर्वाषाढ़ नक्षत्र के प्रथम चरण अनुसार क्रमशः (भू) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। विशेष👉 मूल नक्षत्र के चारो चरण गण्डमूल के अंतर्गत आते है इसके प्रथम पद में जन्म होने पर पिता के जीवन में परिवर्तन, द्वितीय पद में माता के लिए अशुभ, तृतीय पद में संपत्ति की हानि और चतुर्थ पद में शांति कराई जाये तो शुभ फल दायक है। जन्म से २७वें जन्म नक्षत्र के दिन नक्षत्र शान्ति का शास्त्रीय विधान है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०५:३१ - ०५:४४ मेष ०५:४४ - ०७:३९ वृषभ ०७:३९ - ०९:५४ मिथुन ०९:५४ - १२:१६ कर्क १२:१६ - १४:३५ सिंह १४:३५ - १६:५२ कन्या १६:५२ - १९:१३ तुला १९:१३ - २१:३३ वृश्चिक २१:३३ - २३:३६ धनु २३:३६ - २५:१७ मकर २५:१७ - २६:४३ कुम्भ २६:४३ - २८:०७ मीन २८:०७ - २९:३० मेष 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०५:३१ - ०५:४४ शुभ मुहूर्त ०५:४४ - ०७:३९ रज पञ्चक ०७:३९ - ०८:०४ शुभ मुहूर्त ०८:०४ - ०९:५४ चोर पञ्चक ०९:५४ - १२:१६ शुभ मुहूर्त १२:१६ - १४:३५ रोग पञ्चक १४:३५ - १६:५२ शुभ मुहूर्त १६:५२ - १९:१३ मृत्यु पञ्चक १९:१३ - २१:३३ अग्नि पञ्चक २१:३३ - २३:३६ शुभ मुहूर्त २३:३६ - २५:१७ रज पञ्चक २५:१७ - २६:४३ शुभ मुहूर्त २६:४३ - २८:०७ चोर पञ्चक २८:०७ - २८:१३ रज पञ्चक २८:१३ - २९:३० शुभ मुहूर्त 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज के दिन का आधा भाग प्रतिकूल रहेगा लेकिन फिर भी धर्म-कर्म में आस्था रहने से मानसिक रूप से विचलित नहीं होंगे। कार्य क्षेत्र पर किसी महत्त्वपूर्ण अनुबंध के निरस्त होने से धन सम्बंधित समस्या खड़ी होगी परन्तु अन्य मार्गो से धन की आमद होने पर गंभीर स्थिति से बचाव होगा। आज आप किसी से राग द्वेष की भावना भी रखेंगे भाई-बंधुओ से बनावटी प्रीती रहेगी परन्तु स्त्री एवं सन्तानो से भावनात्मक सम्बन्ध रहेंगे प्रेम स्नेह मिलेगा। धन लाभ निश्चित समय पर ना होकर आकस्मिक रहेगा। महिलाओं के विचारों को भी आज अधिक महत्त्व दें मुश्किल से निकालने में अवश्य सहायक रहेंगी। लघु यात्रा हो सकती है। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज का दिन आपको मिश्रित फल देगा। प्रातः काल में शारीरिक रूप से शिथिलता रहेगी जिससे कार्यो के प्रति गंभीरता नहीं आएगी परिश्रम करने में असमर्थ रहेंगे परन्तु परिस्थियों को देखते हुए कार्य में जुटना पड़ेगा। व्यवसाय में प्रारंभिक उदासीनता के बाद धीरे-धीरे गति आने से धन की आवक होगी एक साथ कई क्षेत्रों से लाभ होने से शारीरिक कष्ट भूल जाएंगे। संध्या तक व्यावसायिक स्थिति सुदृढ़ रहेगी लेकिन पारिवारिक माहौल गलतफहमियों के कारण अशान्त रहेगा महिलाये इसका मुख्य कारण रह सकती है। लोभ में पड़ने से हानि की संभावना भी बन रही है सावधान रहें। लंबी यात्रा से बचें। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आजका दिन आपके लिये कुछेक बातो को छोड़ अनुकूल रहेगा। घरेलू जिम्मेदारियों के साथ धार्मिक भावना भी रहने से घरेलू कर्तव्यों के साथ आध्यात्मिक कार्य मे भी समय देंगे। दिन के पहले भाग में थोड़ा आलस्य भी रहेगा इससे कार्यो में विलम्ब हो सकता है। धन संबंधित कार्य पहले दुविधा में डालेंगे लेकिन थोडे मानसिक एवं शारीरिक श्रम के बाद अवश्य पूर्ण होंगे। आज आपको जितना भी लाभ मिलेगा महात्त्वकांक्षाएँ अधिक होने के कारण कम ही लगेगा। घनिष्ट मित्र रिश्तेदारों के साथ कई दिनों बाद कुछ समय बिताने का अवसर मिलेगा। उटपटांग दिनचर्या के कारण शारीरिक शिथिलता भी अनुभव होगी रहेगी। संध्या के समय शरीर मे कुछ ना कुछ विकार बनेंगे। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज का दिन घरेलु सुखों में वृद्धिकारक रहेगा परन्तु आज धन अधिक खर्च होने से आर्थिक स्थिति कमजोर होगी। दिन भर शारीरिक रूप से सक्षम रहेंगे लेकिन घरेलू कार्यो को छोड़ बाहर वालो के काम को ज्यादा मन लगा कर करेंगे। महिलाये घरेलु अथवा बाजार के कार्यो के कारण ज्यादा व्यस्त रहेंगी। व्यवसायी वर्ग आज कार्य क्षेत्र पर अधिक सक्रियता दिखाएंगे मध्यान से पहले तक का समय आर्थिक रूप से शुभ रहेगा। खुदरा व्यवसाय में आकस्मिक उछाल आने का पूरा लाभ उठाएंगे। संताने आज के दिन उपयोगी सिद्ध होंगी। धार्मिक स्थलों पर पर्यटन की योजना बनेगी। घरेलु कार्यो पर खर्च बढ़ेगा फिर भी अखरेगा नही। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज के दिन कुछ महात्त्वकांक्षाएँ अधूरी रहने के बाद भी मानसिक रूप से हल्कापन अनुबहव करेंगे। बस आज के दिन खासकर महिलाओं की कही सुनी बातो को अनदेखा करें। कार्य क्षेत्र पर सोचे हुए कार्य अथवा योजनाए आंशिक रूप से पूर्ण होंगी। आज लाभ पाने के लिये बौद्धिक परिश्रम अधिक करना पड़ेगा जिसे करने के लिये जल्दी से तैयार नही होंगे। महिलाये अपने काम के प्रति गंभीर रहेंगी लेकिन नाराज होने पर गृहस्थ वातावरण मिनटो में ही अस्त व्यस्त भी कर देंगी। घर के बुजीर्ग आर्थिक समस्याओं के समाधान में योगदान देंगे। संतानो से जितनी अपेक्षा रखते है वह पूर्ण नही हो पाएगी। सेहत पुरानी बीमारी को छोड़ सामान्य रहेगी। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज के दिन आप अनर्गल प्रवृतियों में पड कर मूल उद्देश्य से भटक सकते है इससे मान हानि के साथ समय की बर्बादी भी निश्चित होगी। पहले अपने कार्यो पर ध्यान दें उसके बाद ही किसी अन्य के सहायक बने विपरीत लिंगीय आकर्षण अधिक रहने के कारण भी कार्यो में देरी की कोई ना कोई वजह बनेगी। धार्मिक क्षेत्र की यात्रा करेंगे परन्तु मन कही और ही भटकेगा आडंबर की प्रवृति अधिक रहेगी। कार्य व्यवसाय से खर्च निकाल लेंगे। महिलाये भी आज दिखावे के ऊपर बेवजह खर्च कर सकती है। लाभ के अवसर लापरवाही के चलते हाथ से निकलने की संभावना है। घर के बुजुर्गो को सम्मान दें उन्नति होगी। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आपका आज का दिन भागमभाग में बीतेगा फिर भी सामान्य से उत्तम रहेगा। प्रातः काल से ही किसी कार्य को पूर्ण करने में व्यस्त हो जाएंगे घरेलु कार्य भी अधिक रहने के कारण संतुलन बैठाने में परेशानी होगी। कार्य व्यवसाय में जोखिम आज ना लें धन लाभ के मार्ग खुले रहेंगे नया प्रयोग नुक्सान करा सकता है। व्यापारी वर्ग प्रतिस्पर्धा रहने पर भी व्यवहार के बल पर काम निकाल लेंगे मित्र रिश्तेदार भी धनोपार्जन में सहायक बनेंगे। परिवारिक वातावरण में आज भाग-दौड़ अधिक रहेगी। महिलाये अधिक कार्य के कारण असहज महसूस करेंगी फिर भी सभी कार्य समय से पूर्ण कर लेंगी। शरीर स्वस्थ्य रहेगा। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज के दिन आप कार्यो के प्रति बेपरवाह अधिक रहेंगे कार्य क्षेत्र पर बेमन से कार्य करते हुए भी लाभ कमा सकेंगे परन्तु अव्यवस्था में निरंतर वृद्धि होने से आगे का समय मंदी से भरा रहेगा। आज आप मध्यान तक आशा से अधिक धन कमा सकते है इसमें घर के सदस्य भी सहयोगी बनेंगे। व्यापार में विस्तार आज कर सकते है परन्तु नए कार्य का आरम्भ अभी टालना ही उचित रहेगा। पारिवारिक शान्ति के लिए मौन साधन उत्तम उपाय है छोटी छोटी बातों पर क्रोध करने से बचे लाभ के समय का फायदा उठाये। धार्मिक कृत्यों के द्वारा भी धन लाभ की संभावना है। घर में शान्ति रहेगी। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज के दिन आकस्मिक लाभ की संभावनाएं बन रही है। लेकिन स्वभाव से अत्यंत आलसी रहेंगे इसके परिणामस्वरूप अधिकांश कार्य अस्त व्यस्त रहेंगे आज थोड़ी मेहनत करने मे भी परेशानी अनुभव करेंगे। आज परोजनो के साथ बाहरी लोगों की अपेक्षाएं अधिक रहेंगी। जिस भी कार्य में जुटेंगे उसमे संध्या तक ही सफलता मिलेगी अथवा धन लाभ होगा। कार्य क्षेत्र पर जल्दबाजी में कार्य करने के कारण गड़बड़ हो सकती है। पारिवारिक वातावरण दिन की तुलना में सायं काल से बेहतर बनेगा एक दूसरे की भावनाओ को समझेंगे। घर के बुजुर्ग और बच्चों के साथ दिन का कुछ समय स्नेहपूर्वक बीतेगा। लाभ-हानि लगे रहेंगे। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज आपके मन के विपरीत घटनाएं दुखी करेंगी। किसी अन्य के कार्यो की वजह से कार्य क्षेत्र से समय निकालना पड़ेगा अथवा विलम्ब से कार्य आरम्भ होंगे। परिजनो की इच्छा पूर्ती ना होने पर नाराजगी रह सकती है। दिनचर्या अस्त-व्यस्त रहने से दैनिक कार्य भी विलम्ब से पूर्ण होंगे। मध्यान का समय व्यवसाय में थोड़ा लाभ कराएगा परन्तु संतोष नहीं होगा। एक साथ कई काम आने से असुविधा होगी लेकिन निकट भविष्य के लिए लाभदायक रहेगा। कार्य क्षेत्र पर आज सहयोगियों की गैर हाजरी में अकेले ही कार्यो में लगना पड़ेगा। उधार सम्बंधित व्यवहार ना चाहकर भी करने पड़ेंगे। आज धैर्य का परिचय अधिक दें। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज के दिन आपकी जमा पूंजी में कमी आने के संकेत है। व्यवसाय से भी आज कुछ विशेष लाभ नहीं उठा पाएंगे आवश्यक कार्य अधूरे रहेंगे। प्रातः काल से खर्च का सिलसिला आरंभ होकर संध्या तक लगा रहेगा धन लाभ खर्च के अनुपात मे कम रहने से आर्थिक संतुलन बिगड़ेगा। विरोधी गुप्त षड्यंत्र रचेंगे जिसका दुष्परिणाम आने वाले समय में देखने को मिलेगा अपनी तरफ से आज कोई भी गलती ना करें। सामाजिक छवि अवश्य निखरेगी। स्त्री संताने आज्ञा का पालन करेंगी पर बीच-बीच में क्रोध के प्रसंग भी बनाएंगी। परिवार के बुजुर्गो की सेहत नरम रहेगी। आज किसी की भी अमर्यादित हरकतों को अनदेखा करें। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज के दिन आपको सोचे कार्य विलंब से पूर्ण होंगे साथ मे आलस्य एवं अहम् की भावना सफलता से बार बार दूर रखेगी। लेकिन कार्य स्थल पर आज कुछ ऐसी परिस्थिति बनेगी जो लंबे समय तक लाभ देगी। अधिकारियो से अंदरूनी मतभेद के बाद भी तालमेल बैठा ही लेंगे अपने काम निकालने के लिए भी उपयुक्त है। सामाजिक क्षेत्र पर समय तो देंगे लेकिन यहां से किसी भी प्रकार के लाभ की आशा ना रखें। विद्यार्थी वर्ग मेहनत के बिना फल मिलने से प्रसन्न रहेंगे। महिलाये परिश्रम के बाद भी अपने किये कार्यो में असंतोष रखेंगी। आर्थिक लाभ जरूरत के अनुसार होगा लेकिन भविष्य की योजनाएं नहीं बना पाएंगे। घर का वातावरण लगभग सामान्य ही रहेगा। कंजूसी वृति रखे भविष्य में काम आएगी। 🌐http://www.vkjpandey.in 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰

+25 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 48 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB