MADHUBEN PATEL
MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020

🌹🙏🌹 जय माता दी शुभ शुक्रवार प्रातःकाल स्नेहवंदन माँ वैष्णोदेवी सभी भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करे,,🌹🙏🌹 ;;;;;;सर्वमंगल मांगल्ये शिवसर्वार्थ साधिके;;;; शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते;;;;;;

+278 प्रतिक्रिया 68 कॉमेंट्स • 26 शेयर

कामेंट्स

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@vinodagrawal1 जय माता दी शुभ शुक्रवार सुबह की स्नेहानुराग प्रभात की स्नेहवंदन भाईजी आपका हर पल खुशियों भरा हो

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@rajendrakumarsoni3 जय माता दी शुभप्रभात स्नेहवंदन भाईजी आप एव आपके परिवार पर श्री माँ त्रिकुटा की कृपादृष्टि बनी रहेवे भाईजी

Gour.... Apr 10, 2020
जय माता की। भगवान इस संसार के दुःख का नाश करना जी 🕉।। भगवान् से प्रार्थना है कि आप हमेशा सुखद रहें। जगदम्बे माँ का आशीर्वाद आप पर हमेशा बनी रहे। जय श्री राधे जय श्री कृष्ण जी।

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@partap53 जय माता दी प्रातःकाल स्नेहवंदन भाईजी आप एव आपके परिवार पर श्री माँ त्रिकुटा की कृपादृष्टि बनी रहेवे भाईजी

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@maheshmalhotra3 जय माता दी शुभप्रभात स्नेहवंदन भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो भाईजी

Mohanmira.nigam Apr 10, 2020
Jay shri ganesh ji maha Luxmi mata Rani ji hanuman ji Bholay.baba.ki.jay Jay vishnu.hari.ji Radhe krishna.ji nice

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@mohan1734 जय माता दी शुभप्रभात की मंगल कामनाएं भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो भाईजी

Renu Singh Apr 10, 2020
🙏🌹 Jai Mata Di 🌹🙏 Shubh Dophar pyari Sister 🌹🙏🌹 Mata Rani ki Anant kripa Aap aur Aàpke Pariwar pr hamesha Bni rhe Sister Ji 🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Apr 10, 2020
Good Afternoon My Sister ji 🙏🙏 Jay Mata di Mata Rani ji Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 God bless you and your Family Always Be Happy My Sister ji 🙏🙏🌹🔔🔔🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️.

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@renusingh15 जय माता दी शुभसंध्या स्नेहवंदन प्यारी बहना जी आप एव आपके परिवार पर श्री त्रिकुटा माता रानी की कृपादृष्टि बनी रहेवे प्यारी बहना जी आपका हर दिन मंगलमय हो प्यारी बहना जी

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@sushilkumarsharma29 जय हो माँ त्रिकुटा जी की शुभसंध्या स्नेहवंदन भाईजी आप एव आपके परिवार पर श्री माँ त्रिकुटा की कृपादृष्टि बनी रहेवे भाईजी

Manoj Gupta Apr 10, 2020
jai mata di 🙏🌺☘🌀🌴 Radhe Krishna Ji 🌷🌸💐🌀

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@manojgupta178 जय माता दी शुभसंध्या स्नेहवंदन भाईजी माँ त्रिकुटा सदैव आपकी मनोकामनाएं पूरी करे भाईजी

Neha Sharma, Haryana Apr 10, 2020
जय माता की🚩🙏माता रानी👣की असीम कृपा ✋ आप और आपके परिवार👨‍👩‍👧‍👦पर सदैव बनी रहे जी🙏आपका हर पल शुभ व मंगलमय🔯 हो मेरी प्यारी बहनाजी🙏 🥀🥀🙏 जय श्री राधेकृष्णा 🙏🥀🥀

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
@jaishriradhekishna जय माता दी शुभरात्री स्नेहवंदन प्यारी बहना जी माँ त्रिकुटा के आशीर्वाद से आपके हर कार्य सिद्ध हो प्यारी बहना जी

Madanpal Singh Apr 12, 2020
jai mata di subh sandya jii mata Rani ki karpa app our aapke pariwar par bani rahe jii very nice post jii 🌷🕉👌🌹🚩

MADHUBEN PATEL Apr 12, 2020
@madanpalmadanpalsingh जय माता दी शुभरात्री की मंगल कामनाएं भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो भाईजी

champalal m kadela May 10, 2020

+53 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 28 शेयर
किshan May 9, 2020

+67 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Sunita Pawar May 10, 2020

*■◆●🌹*मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं*🌹 💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕 माँ- दुःख में सुख का एहसास है, माँ - हरपल मेरे आस पास है। माँ- घर की आत्मा है, माँ- साक्षात् परमात्मा है। माँ- आरती, अज़ान है, माँ- गीता और कुरआन है। माँ- ठण्ड में गुनगुनी धूप है, माँ- उस रब का ही एक रूप है। माँ- तपती धूप में साया है, माँ- आदि शक्ति महामाया है। माँ- जीवन में प्रकाश है, माँ- निराशा में आस है। माँ- महीनों में सावन है, माँ- गंगा सी पावन है। माँ- वृक्षों में पीपल है, माँ- फलों में श्रीफल है। माँ- देवियों में गायत्री है, माँ- मनुज देह में सावित्री है। माँ- ईश् वंदना का गायन है, माँ- चलती फिरती रामायन है। माँ- रत्नों की माला है, माँ- अँधेरे में उजाला है, माँ- बंदन और रोली है, माँ- रक्षासूत्र की मौली है। माँ- ममता का प्याला है, माँ- शीत में दुशाला है। माँ- गुड सी मीठी बोली है, माँ- ईद, दिवाली, होली है। माँ- इस जहाँ में हमें लाई है, माँ- की याद हमें अति की आई है। माँ- मैरी, फातिमा और दुर्गा माई है, माँ- ब्रह्माण्ड के कण कण में समाई है। माँ- ब्रह्माण्ड के कण कण में समाई है। अंत में मैं बस एक पुण्य का काम करता हूँ, दुनिया की सभी माँओं को दंडवत प्रणाम करता हूँ। 🙏 *हैपी मदर्स डे* 🙏

+133 प्रतिक्रिया 28 कॉमेंट्स • 289 शेयर

त्रिसंध्या संध्या उस समय को कहते हैं जब एक समय जा रहा होता है और दूसरा समय आ रहा होता है । जैसे सूर्योदय से कुछ समय पूर्व रात्रि जा रही होती है और दिन आ रहा होता है । ऐसे ही दोपहर में जब सूर्य चढ़ते-चढ़ते उतरने लगता है लगभग 12:00 बजे का समय वह भी संध्या होती है ।दोपहर म् पूर्वान्ह । मध्यान्ह । अपराह्न । ये तीन काल होते हैं । ठीक ऐसे ही शाम को जब दिन छुप रहा होता है और रात्रि आ रही है होती है उसको भी संध्या कहते हैं । इस प्रकार दिन में तीन संध्या होती है एक प्रातः वाली एक दोपहर वाली और एक शाम वाली संध्या का समय भजन के लिए, उपासना के लिए बहुत ही उपयुक्त माना गया है । वैष्णव लोग त्रिकाल संध्या करते हैं । जैसे काल भी तीन हैं भूत वर्तमान और भविष्य ऐसे ही संध्याएं भी तीन हैं । संध्या का समय शांत होता है, नीरव होता है । जो जा रहा होता है वह भी शांत होता है और जो आ रहा होता है वह भी शांत होता है । अतः हम वैष्णवजन को प्रयास करके त्रिकाल संध्या के समय अवश्य थोड़ा-थोड़ा भजन बन पड़े तो करना चाहिए । अन्यथा नाम के लिए तो कोई देश, कोई काल कोई परिस्थिति की अपेक्षा नहीं है । कभी भी, कैसे भी कर सकते हैं । जिनका मन अधिक चंचल हो, मन न लगता हो वह प्रयास करके इन तीनों संध्याओं में यदि कुछ भजन करें । कुछ उपासना करें , कुछ ध्यान लगाएं , कुछ नाम करें तो उनकी चंचलता अपेक्षाकृत जल्दी ठीक हो सकती है । संध्याओं का अपना एक महत्त्व है । उसका लाभ उठाना चाहिए । समस्त वैष्णव जन को राधादासी का प्रणाम जय श्री राधे जय निताई LBW- Lives Born Works at Vrindabn

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 3 शेयर
kamlash May 10, 2020

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 7 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB