Heera Singh Khatana
Heera Singh Khatana Dec 21, 2016

श्री जगदीश भगवान मंदिर जगन्नाथ धाम कैमरी करौली राजस्थान 322216

श्री जगदीश भगवान मंदिर जगन्नाथ धाम कैमरी करौली राजस्थान 322216

श्री जगदीश भगवान मंदिर जगन्नाथ धाम कैमरी करौली राजस्थान 322216

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

कामेंट्स

Heera Singh Khatana Dec 21, 2016
जय जगदीश हरे भक़्त जनों के संकट एक पल मे दूर करे

Archana Singh May 13, 2021

+145 प्रतिक्रिया 31 कॉमेंट्स • 92 शेयर

+44 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Sweta Saxena May 13, 2021

+28 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Radhe Krishna May 13, 2021

+40 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Shanti pathak May 13, 2021

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Ila Sinha May 13, 2021

+147 प्रतिक्रिया 29 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Manoj manu May 13, 2021

🚩🔔🌹ऊँ साँई राम जय साँई राम जी 🌹🌿🙏 🌹शिरडी साँई का नाम जब भी होंठों पर आयेगा 🌹 🌹🌿तन और मन से सारा बोझ उतर जायेंगे , 🌿🌹 🌹एक बार सच्चे मन से साँई को पुकार कर तो देखो,🌿 🌹साँई सब के दुख को हरने को दौड़े दौड़े चले आयेंगे। 🌿🌿शिरडी के साँई जी की महिमा बड़ी अपरंपार है :- साँईं के शरण में आने वाला हर भक्त कभी खाली हाथ नहीं जाता। एक बार शिरडी में महामारी फैल गई थी और लोग बीमारी से मरने लगे। तब साँईं के पास पहुंचे भक्तों को साँईं ने कुछ ऐसे ही बचाया था जैसे कि आज कोरोना वायरस से बचने के लिए कहा जा रहा है। लॉकडाउन की तरह साँईं ने भी शिरडी के लोगों को भी घर में बंद रहने को कहा था और एक लकीर खींच दी थी ताकि बीमारी फैलने न पाएं। उस समय लोगों ने साँईं की बात मानी और शिरडी महामारी से बच गई थी। साँईं ने लोगों को क्वारंटाइन में रहने को कहा था बात उस समय की है जब शिरडी में एक बार हैजा महामारी दूसरे गांव से आने लगी थी। कई गांवों में लोग हैजा जैसी महामारी से मर रहे थे और जब शिरडी में भी हैजा आने का डर लोगों को सताने लगा तो लोग साँईं के पास गए। यह बात करीब सौ साल पुरानी है। साँईं के पास लोग पहुंचे और समस्या को बताया तो साईं ने चक्की में गेहूं पीसना शुरू कर दिया। ये देख कर लोग अचरज में पड़ गए। वहां पहुंची महिलाओं ने साँईं से खुद गेहूं पीसने का काम ले लिया और उन्हें लगा ये आटा साईं प्रसाद स्वरूप बना रहे है। आटा पीसने के बाद साईं ने कहा कि ये आटा शिरडी की सीमा के चारो ओर लकीर के समान डाल दें। लकीर बनाने के बाद सारे लोग यहां आएं। जब लकीर बना कर लोग लौटे तो साईं ने कहा कि अब इस सीमा के पार से न कोई बाहर से आए और न कोई अंदर से जाए। साथ ही घर के अंदर कुछ दिन सभी लोग रहें। साईं की बात मान लोगों ने ऐसा ही किया और महामारी शिरडी में नहीं आने पाई। महामारी से बचने के लिए ये प्राचीन लेकिन बेहद कारगर तरीका आज भी नियम से पालन करने से कोरोना वायरस जैसी बीमारी को आसानी से हराया जा सकेगा। बस हमें अपने घरों में ही रहकर साईं के इस प्रसाद रूपी नियम का पालन करना है और स्वयं के साथ अपनों को भी सुरक्षित रखना है । 🌺🌺साँई नाथ जी सभी का सदा कल्याण करें सदा मंगल प्रदान करें ऊँ साँई राम जी 🌿🌺🌿🌺🙏

+79 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 70 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB