4day alankaram

4day alankaram

#नवरात्रि

4day alangaram

+131 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 13 शेयर

कामेंट्स

जग मोहन Sep 21, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Bhavna Joshi Sep 21, 2020

1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌿🌹🌹🌾जय श्री राम जी🌾🌹🌹🌿 🌹जाके बल से गिरिवर कांपे ।🌹 🌹रोग दोष जाके निकट न झांके ।🌹 🌹अंजनि पुत्र महाबलदाई । 🌹 🌹संतन के प्रभु सदा सहाई ।।🌹🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏 हे मेरे मधुरेश्वर मधुराधिपति भगवन् श्रीबाँकेबिहारी जी 🌹श्रीराधे🌹 हे भगवन् निसंदेह इस समस्त जीव जगत संसार में ऐसा कोई रोग/बिमारी/क्लेश/दर्द नहीं... जिसका उपचार आपके पास न हो..आपके पवित्र नाम में न हो...आप स्वयं आर्युवेद के अवतार धन्वन्तरि है....आप ही वनस्पतियों में औषधियों में संजीवनीगुण रस प्रकट करने वाले है..आपने तो मुफ्त (निशुल्क)खजाना प्रदान किया है औषधियों में लेकिन सिर्फ़ कमी हम में ही है और वो है 🌹 "विश्वास की कमी" 🌹 क्योंकि आप निशुल्क अमृत भी प्रदान करते है तो उसकी कोई कीमत नहीं करता... विश्वास नहीं करता... लोगों को दुनिया से चिकित्सको सें..(ऐलोपैथी से) लुटकर ही विश्वास होता है..हे मेरे भगवन् जो ऐलोपैथिक चिकित्सक ही लाखों रुपये खर्च कर व्यवसायिक चिकित्सक बने है..वह जनता जनार्दन को निशुल्क सस्ती सेवा क्यों देंगें" विश्वास" क्यों देगें...वरन वे तो आपकी बीमारी के विश्वास को प्रगाढ़ करेंगे...और फिर.... मरीज उपभोक्ता ग्राहक...🌹श्रीराधे🌹...लौटें आयुर्वेद की ओर ...धन्वंतरि की ओर ..श्रीकृष्ण की ओर...🌹जय जय श्रीराधे🌹..अपने को क्या..?लौटें या न लौटे.. अपने को तो कन्हैया आपसे बेफिजूल बात करने में ही आनंद आता है..कह दिया जो कहना था..🙂🙂🌹श्रीराधे🌹🙂🙂श्री अनन्त दुबे जी 👏👏*कुछ न कुछ छूटना तो लाज़मी है* —————:————— *अचानक से आज यूँ ही ख्याल आया कि,* *अखबार पढ़ा तो प्राणायाम छूटा,* *प्राणायाम किया तो अखबार छूटा,* *दोनों किये तो नाश्ता छूटा,* *सब जल्दी जल्दी निबटाये* *तो आनंद छूटा,* *मतलब.....* *कुछ ना कुछ छूटना तो लाज़मी है...!!* *हेल्दी खाया तो स्वाद छूटा,* *स्वाद का खाया तो हेल्थ छूटी,* *दोनों किये तो.....* *अब इस झंझट में कौन पड़े..!!* *मुहब्बत की तो शादी टूटी,* *,शादी की तो मुहब्बत छूटी* *दोनों किये तो वफा छूटी,* *अब इस पचड़े में कौन पड़े..!!* *मतलब* *कुछ ना कुछ छूटना तो लाज़मी है...!!!* *जो जल्दी की तो सामान छूट गया,* *जो ना की तो ट्रेन छूट गयी,* *जो दोनों ना छूटे तो,* *विदाई के वक़्त गले मिलना छूट गया,* *मतलब...* *कुछ ना कुछ छूटना तो लाज़मी है...!!!* *औरों का सोचा तो मन का छूटा,* *मन का लिखा तो तिस्लिम टूटा,* *खैर हमें क्या..* *खुश हुए तो हँसाई छूटी,* *दुःखी हुए तो रुलायी छूट गयी,* *मतलब...* *कुछ ना कुछ छूटना तो लाज़मी है...!!!* *इस छूटने में ही तो पाने की खुशी है,* *जिसका कुछ नहीं छूटा,* *वो इंसान नहीं मशीन है,* *इसलिये कुछ ना कुछ छूटना तो लाज़मी है...!!!* *जीलो जी भर कर,क्योकि एक दिन ये जिन्दगी छुटना भी लाज़मी हैँ*💓🙌👍🍅✴☀❣जय मां अंबे भवानी ❣☀✴🍅❣ 🍂🐚 गंगा गीता गायत्री 🍂🐚 (¯`•.•´¯) *`•.¸(¯`•.•´¯)¸.•´ `•.¸.•´ ჱܓ*“ 🍅✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴🍅 ☆*´¨`☽  ¸.★* ´¸.★*´¸.★*´☽ (  ☆** Ψ त्रिवेणी घाट हरिद्वार .Ψ `★.¸¸¸. ★• ° 🙏सेवक भरत व्यास बांगा हिसार चंडी घाट हरिद्वार

+8 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Renu Sharma Sep 21, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Satish Kumar Tiwari Sep 21, 2020

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Abhi kumar mahi Sep 21, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Gajrajg Sep 21, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
baldev Sep 21, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 28 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB