Bhagat ram
Bhagat ram Jan 19, 2021

🌹🌹 शुभ रात्रि वंदन 🙏🙏🌿🌺💐🌹 🌹🌹 जय श्री कृष्णा राधे राधे जी 🙏🙏🌿🌺💐🌹🌹🌿🌿🌺💐🌿🌺💐🌹

+140 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 49 शेयर

कामेंट्स

RAJ RATHOD Jan 19, 2021
🙏शुभ रात्रि वंदन 🙏 🌹जय श्री राधे🌹

🌻🌹 Preeti Jain 🌹🌻 Jan 19, 2021
* जय श्री राम *🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩💐💐🙏🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 " राम नाम बड़ा सुखदायी जो सुमिरै वो भवसागर तर जायी " " जय श्री राम जय बजरंगबली हनुमान " शुभ रात्रि वंदन जी 🙏 आप सदा स्वस्थ रहें खुश रहें सुरक्षित राहे जय श्री राम 🙏जय जिनेंद्र

Renu Singh Jan 19, 2021
Shubh Ratri Vandan Bhai Ji 🙏🌹 Jai Shree Radhe Krishna 🙏 Thakur Ji ki kripa Aap pr Sadaiv Bni rhe Aàpka Har pal Mangalmay ho Bhai Ji 🙏🌹

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Jan 19, 2021
Good Night My Bhai ji 🙏🙏 Jay Shree Radhe Radhe Radhe 🙏🙏🌹 Thakur ji Aapki Har Manokamana Puri Kare ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷.

प्रवीण चौहान "२४७" Jan 19, 2021
🇮🇳 जय हिन्द 🇮🇳 वंदे मातरम 🇮🇳 🇮🇳 हिन्दू राष्ट्र भारत की जय 🇮🇳 🌷🙏🏻🌷 राम राम जी 🌷🙏🏻🌷 🏵🏵🐧🐧🙏🏻🙏🏻🐧🐧🏵🏵 🌺🙏🏻🌺 शुभ रात्रि वंदन 🌺🙏🏻🌺 🥀🥀🥀 आपका हर पल शुभ                एवं मंगलमय रहें 🥀🥀🥀     ⚘⚘ प्रभु श्री राम जी और वीर हनुमान जी की कृपा और आशीर्वाद          सदैव आप पर बना रहे ⚘⚘ 💙💙💙💦💦🙏🏻 💙 मैं कश्ती हूँ समुन्दर की 💙 अभी मंज़िल में दूरी है  💙 तूफान तो आयेंगे राहों में बहुत 💙 उनसे टकराना भी ज़रूरी है। 💙 🙏🏻💦💦💙💙💙     🧡 🏹 🧡 जय श्री राम 🧡 🏹 🧡    🔥🔱🔥 जय श्री हनुमान 🔥🔱🔥      🌼 ‼ 🌼 हर हर महादेव 🌼 ‼ 🌼 💝💝💝 जय श्री राधे कृष्ण 💝💝💝

Manoj manu Jan 19, 2021
🚩🙏जय श्री कृष्णा जी राधे राधे जी शुभ रात्रि मधुर मंगल ,वंदन जी 🌿🙏

Ajit sinh Parmar Jan 19, 2021
शुभ र।त्रि र।धेकृषण आप हरहमेशकुशलरहो र।धेकृषण की कृपा दृष्टि आप पर हरहमेश बनी रहे जी 🎋🌹🎋🌹🎋🌹🎋🌹🎋🌹🎋🌹

Ravi Kumar Taneja Jan 19, 2021
🕉️शुभ संध्या वंदन 🙏🥀🙏 🕉️जय जय श्री राम🕉️ 🕉️जय जय जय बजरंग बली 🕉️ प्रभु कृपा आप सब के ऊपर बनी रहे...🙏🌹🙏 ✡️चरित्र की यत्नपूर्वक रक्षा करनी चाहिए। धन तो आता-जाता रहता है । धन के नष्ट होने पर भी चरित्र सुरक्षित रहता है, लेकिन चरित्र नष्ट होने पर सबकुछ नष्ट हो जाता है.✡️ जय श्री कृष्णा🦚🦢🙏🌷🙏🌷🙏🦢🦚

Neha Sharma, Haryana Jan 19, 2021
🙏श्रीराम🙏 हनुमान🚩शुभ रात्रि नमन🙏 🌸🙏ईश्वर की असीम कृपा आप और आपके परिवार पर सदैव बनी रहे जी। आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो भाईजी🙏🌸 🌸🙏जय जय श्री राधेकृष्णा🙏🌸

Ragni Dhiwar Jan 19, 2021
🥀 शुभ रात्रि जी 🥀आप सदैव प्रसन्न रहें आपका हर पल सुंदर व मंगलमय हो 🥀

sonu pathak ( jai mata di ) Jan 19, 2021
🙏🌺राम राम जी जय श्री राम जय माता रानी दी🌺🙏प्रभु श्री राम की कृपा दृष्टी आप पर सदैव बनी रहै🙏नमस्कार शुभ रात्री वंदन जी 🌷🙏🌷

madan pal 🌷🙏🏼 Jan 20, 2021
जय श्री राधे राधे कृष्णा जी शुभ रात्रि वंदन जी आपका हर पल शुभ मंगल हो जी 🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷

+16 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 45 शेयर
sarla rana Mar 8, 2021

विजया एकादशी 09 मार्च (मंगलवार) 2021 व्रत कथा : युधिष्ठिर ने पूछा: हे वासुदेव! फाल्गुन के कृष्णपक्ष में किस नाम की एकादशी होती है और उसका व्रत करने की विधि क्या है? कृपा करके बताइये । भगवान श्रीकृष्ण बोले: युधिष्ठिर ! एक बार नारदजी ने ब्रह्माजी से फाल्गुन के कृष्णपक्ष की ‘विजया एकादशी’ के व्रत से होनेवाले पुण्य के बारे में पूछा था तथा ब्रह्माजी ने इस व्रत के बारे में उन्हें जो कथा और विधि बतायी थी, उसे सुनो : ब्रह्माजी ने कहा : नारद ! यह व्रत बहुत ही प्राचीन, पवित्र और पाप नाशक है । यह एकादशी राजाओं को विजय प्रदान करती है, इसमें तनिक भी संदेह नहीं है । त्रेतायुग में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीरामचन्द्रजी जब लंका पर चढ़ाई करने के लिए समुद्र के किनारे पहुँचे, तब उन्हें समुद्र को पार करने का कोई उपाय नहीं सूझ रहा था । उन्होंने लक्ष्मणजी से पूछा : ‘सुमित्रानन्दन ! किस उपाय से इस समुद्र को पार किया जा सकता है ? यह अत्यन्त अगाध और भयंकर जल जन्तुओं से भरा हुआ है । मुझे ऐसा कोई उपाय नहीं दिखायी देता, जिससे इसको सुगमता से पार किया जा सके ।‘ लक्ष्मणजी बोले : हे प्रभु ! आप ही आदिदेव और पुराण पुरुष पुरुषोत्तम हैं । आपसे क्या छिपा है? यहाँ से आधे योजन की दूरी पर कुमारी द्वीप में बकदाल्भ्य नामक मुनि रहते हैं । आप उन प्राचीन मुनीश्वर के पास जाकर उन्हींसे इसका उपाय पूछिये । श्रीरामचन्द्रजी महामुनि बकदाल्भ्य के आश्रम पहुँचे और उन्होंने मुनि को प्रणाम किया । महर्षि ने प्रसन्न होकर श्रीरामजी के आगमन का कारण पूछा । श्रीरामचन्द्रजी बोले : ब्रह्मन् ! मैं लंका पर चढ़ाई करने के उद्धेश्य से अपनी सेनासहित यहाँ आया हूँ । मुने ! अब जिस प्रकार समुद्र पार किया जा सके, कृपा करके वह उपाय बताइये । बकदाल्भय मुनि ने कहा : हे श्रीरामजी ! फाल्गुन के कृष्णपक्ष में जो ‘विजया’ नाम की एकादशी होती है, उसका व्रत करने से आपकी विजय होगी । निश्चय ही आप अपनी वानर सेना के साथ समुद्र को पार कर लेंगे । राजन् ! अब इस व्रत की फलदायक विधि सुनिये : दशमी के दिन सोने, चाँदी, ताँबे अथवा मिट्टी का एक कलश स्थापित कर उस कलश को जल से भरकर उसमें पल्लव डाल दें । उसके ऊपर भगवान नारायण के सुवर्णमय विग्रह की स्थापना करें । फिर एकादशी के दिन प्रात: काल स्नान करें । कलश को पुन: स्थापित करें । माला, चन्दन, सुपारी तथा नारियल आदि के द्वारा विशेष रुप से उसका पूजन करें । कलश के ऊपर सप्तधान्य और जौ रखें । गन्ध, धूप, दीप और भाँति भाँति के नैवेघ से पूजन करें । कलश के सामने बैठकर उत्तम कथा वार्ता आदि के द्वारा सारा दिन व्यतीत करें और रात में भी वहाँ जागरण करें । अखण्ड व्रत की सिद्धि के लिए घी का दीपक जलायें । फिर द्वादशी के दिन सूर्योदय होने पर उस कलश को किसी जलाशय के समीप (नदी, झरने या पोखर के तट पर) स्थापित करें और उसकी विधिवत् पूजा करके देव प्रतिमासहित उस कलश को वेदवेत्ता ब्राह्मण के लिए दान कर दें । कलश के साथ ही और भी बड़े बड़े दान देने चाहिए । श्रीराम ! आप अपने सेनापतियों के साथ इसी विधि से प्रयत्नपूर्वक ‘विजया एकादशी’ का व्रत कीजिये । इससे आपकी विजय होगी । ब्रह्माजी कहते हैं : नारद ! यह सुनकर श्रीरामचन्द्रजी ने मुनि के कथनानुसार उस समय ‘विजया एकादशी’ का व्रत किया । उस व्रत के करने से श्रीरामचन्द्रजी विजयी हुए । उन्होंने संग्राम में रावण को मारा, लंका पर विजय पायी और सीता को प्राप्त किया । बेटा ! जो मनुष्य इस विधि से व्रत करते हैं, उन्हें इस लोक में विजय प्राप्त होती है और उनका परलोक भी अक्षय बना रहता है । भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं : युधिष्ठिर ! इस कारण ‘विजया’ का व्रत करना चाहिए । इस प्रसंग को पढ़ने और सुनने से वाजपेय यज्ञ का फल मिलता है ।इति शुभम् सौजन्य: https://m.facebook.com/GauHamariMataHai

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 53 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 8 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Renu Singh Mar 7, 2021

+481 प्रतिक्रिया 88 कॉमेंट्स • 265 शेयर

+145 प्रतिक्रिया 52 कॉमेंट्स • 116 शेयर
Renu Singh Mar 6, 2021

+445 प्रतिक्रिया 86 कॉमेंट्स • 266 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB