shanvi Oct 25, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Gajrajg Oct 25, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Adhikari Molay Oct 25, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Adhikari Molay Oct 25, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏 हे मधुरेश्वर सर्वेश्वर भगवन् श्रीमद्नित्यनिकुंजबिहारीण्यै नमः🙏🌹श्रीराधे🌹🙏 हे सिद्धिदात्री आदिभवानी श्रीराजराजेश्वरी त्रिपुरसुंदरी भवभयमोचनी आरोग्य सौंदर्य एश्वर्य शक्ति प्रदायनी माँ हम सभी के शुभ संकल्पो को सभी निर्दोष निष्कपट मंगलमयी कामनाओं /इच्छाओं को और हमारी सभी प्रेमभाव प्रार्थनाओं को अपने श्रीचरणों की सिद्धि आशिर्वाद प्रदान करें हे मातेश्वरी हम सभी के नमस्कार स्वीकार करें..🌹🙏 हम सभी का कृतज्ञ आभार स्वीकार करें.. 🌹🙏...आपकी आराधना/ पूजा/सेवा म़े हमारे मन वचन कर्म आचरण और विधि विधानो में अज्ञानतावश /अल्पज्ञानवश/मूढतावश /इंद्रियों के दुश्प्रेरणावश हुई सभी भूल चूक चंचलता के लिए और हमारे सभी अपराधों के लिए हम सभी को क्षमाप्रदान कर हमें अभय वरदान प्रदान करें.. हे माँ हम सभी पर सदा प्रसन्न रहें..🙏🌹अस्तू🌹🙏 🙏🌹जय माता दी🌹🙏 🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏 श्री अनंत दुबे 🌹🌺🌺🌺🌺🌺*पूरे वर्ष मांस खाकर 9 दिन व्रत रचाते हो।* *क्या कहना तुम लोगों का, ये ढोंग कहाँ से लाते हो।* *गर्भ में तो रहने नही देते फिर पूजन क्यो करवाते हो ।* *बेटी बेटा में भेद करके 9 दिन में स्वांग रचाते हो।* *अबोध पशु के मांस की खातिर हत्या तक कर जाते हो।* *फिर ये उपवास,दर्शन करने क्यो मंदिर को जाते हो।* *स्त्री को तुम नीच समझकर हर हद को लांघ जाते हो। फिर कन्यापूजन(कंजक) हेतु घर घर बुलाने जाते हो।* *क्या कहना तुम लोगों का ये ढोंग कहाँ से लाते हो।* *भोग की वस्तु समझ कर जिस अबला को नोच खाते हो।* *उसी की मूर्ति के आगे फिर क्यों तुम शीश झुकाते हो।* *दुर्गा पूजा करना हो तो क्यो न मन मे बदलाव लाते हो।* *जननी को क्यो तुम नही समझते क्यो तुम खुद गिर जाते हो* *9 दिनों तक चरण स्पर्श कर क्यो पाखंड रचाते हो।* *क्या कहना तुम लोगो का ढोंग कहाँ से लाते हो।* *पूजा करो तो दिल से करना ये खुद को क्यो नहीं समझाते हो।* *नारी के अधिकार दमन कर जोर किसको दिखलाते हो।* *स्त्री है तो अस्तित्व है सबका ये क्यो न समझ पाते हो।* *क्या कहना तुम लोगों का ये ढोंग कहाँ से लाते हो।* *जय मां भवानी 🍅✴☀❣जय मां अंबे भवानी ❣☀✴🍅❣ 🍂🐚 गंगा गीता गायत्री 🍂🐚 (¯`•.•´¯) *`•.¸(¯`•.•´¯)¸.•´ `•.¸.•´ ჱܓ*“ 🍅✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴☀✴🍅 ☆*´¨`☽  ¸.★* ´¸.★*´¸.★*´☽ (  ☆** Ψ त्रिवेणी घाट हरिद्वार .Ψ `★.¸¸¸. ★• ° 🙏सेवक भरत व्यास ब्रह्मकुंड हरकी की पेडी हरिद्वार हिसार

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
shanvi Oct 25, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Adhikari Molay Oct 25, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R K Rathour Oct 25, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
हीरा Oct 25, 2020

+17 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Devidas Chitale Oct 25, 2020

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Panjabi sona Oct 25, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
हीरा Oct 25, 2020

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Devidas Chitale Oct 25, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
parveen.kumar Oct 25, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर
Ravi Kumar Taneja Oct 25, 2020

*🕉️🕉️🕉️यह दशहरा है साहब...* *राजा* राम थे तो, रावण भी *राजा* था।🔯🔯🔯 *परमवीर* राम थे तो, रावण भी *महाबली* था।🔯🔯🔯 *ज्ञानी* राम थे तो, *महाज्ञानी* रावण भी था।🥀🥀🥀 *सन्यासी* राम बने तो, *संयमी* रावण भी रहा।🌸🌸🌸 *पति धर्म* राम ने पूरा किया तो, *भ्राता धर्म* रावण ने पूर्ण किया।🌷🌷🌷 पिता को दिया *वचन* राम ने निभाया तो, बहन को दिया *वचन* रावण ने भी निभाया।🌺🌺🌺 *सत्य* राम थे तो *झूठा* रावण भी *नहीं* था।🥀🥀🥀 🏹 *फिर युद्ध क्यों?* 🏹 राम की *जीत* और रावण की *हार* क्यों? 🚩 *यह युद्ध था...* 🏴 *ज्ञान* और *महाज्ञान* के *सही-गलत उपयोग* का।🌹🕉️🌹 *सत्य* से ऊपर *अति आत्मविश्वास* का।🌹🕉️🌹 परिजन की *सलाह नकारने* का। *मर्यादा पुरुषोत्तम* राम और *मतिभ्रम दशानन* रावण का।🌹🕉️🌹 *राम नीति* और *रावण प्रवृत्ति* का।🕉️ *त्यागी* राम और *अहंकारी* रावण का।🕉️ आइये इस दशहरे पर देश, समाज और अपने अंदर के राम-रावण को पहचाने।🔯 ज्ञान और बल के सही-गलत उपयोग को जाने।🔯 सत्य और अहंकार के भेद को पहचाने और जीतेगा केवल सत्य ही ll🔯 *🌹🌹🌹विजयादशमी का शुभ अवसर आपके और आपके परिवार के जीवन मे सुख, समृद्धि और शांति भर दे🌹🌹🌹 *🔯विजयादशमी के पावन और पवित्र अवसर पर आप और आपके परिवार को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें🔯 🌹🔯💐🕉️🌹🔯💐

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर
gk sinha8340433909 Oct 22, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर